• Home
  • Rajasthan News
  • Bharatpur News
  • बैंकों में सुरक्षा बंदोबस्त विफल सीसीटीवी कैमरे भी रहते हैं बंद
--Advertisement--

बैंकों में सुरक्षा बंदोबस्त विफल सीसीटीवी कैमरे भी रहते हैं बंद

सरमथुरा. पंजाब नेशनल बैंक में मौजूद भीड़। भीड़ होने से ग्राहक कर रहे हैं असुरक्षित महसूस भास्कर...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 06:55 AM IST
सरमथुरा. पंजाब नेशनल बैंक में मौजूद भीड़।

भीड़ होने से ग्राहक कर रहे हैं असुरक्षित महसूस

भास्कर संवाददाता|सरमथुरा

कस्बा के बैंकों में सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध नहीं होने के कारण व्यवस्थाएं बदहाल है। बैंकों में दिनभर ग्राहकों का जमावड़ा लगा रहता है लेकिन बैंकों में आवारा घूम रहे लोगों से कोई पूछने वाला तक नहीं है, जिसके कारण ग्राहक बैंकों में असुरक्षित महसूस कर रहा है। आलम यह है कि कस्बा की मुख्य बैंक पंजाब नेशनल में सुरक्षा गार्ड तक तैनात नहीं है। जिसके कारण कभी भी कोई बड़ा हादसा घटित होने की संभावना है। बुधवार को कस्बा निवासी नीरज पुत्र गोपालदास पंजाब नेशनल बैंक में पैसे जमा करने गया। नीरज ने काउंटर से डिपोजिट स्लिप लेकर भरने लगा इसी दौरान दो व्यक्ति नीरज के पास आकर खड़े हो गए तथा डिपोजिट स्लिप भरने की जानकारी लेने लगे नीरज ने उक्त व्यक्तियों को कहा कि जैसे में भर रहा हूं वैसे ही स्लिप भर लो लेकिन एक युवक शांत खड़ा रहा। वहीं दूसरा युवक नीरज को बातों में लगाता रहा, लेकिन नीरज उक्त युवकों की मंशा नहीं जान सका। नीरज के स्लिप भरने के बाद दोनों युवक चले गए। नीरज ने पैसे जमा करने के लिए साइड में जेब में हाथ डाला तो पैसे नहीं मिलने पर भौचक्का रह गया। नीरज ने पूरी कहानी को बैंक प्रबंधक को बताया तो बैंक प्रबंधक ने प्रार्थना पत्र देकर सीसीटीवी फुटेज दिखाने का हवाला दिया। लेकिन सीसीटीवी फुटेज में क्लियरिटी नहीं होने के कारण उक्त लोगों का कोई पता नहीं लग सका। घटना की सूचना मिलने पर थाना पुलिस ने मौके पर पहुंचकर घटना की जानकारी ली, लेकिन पूरी प्रोसेस में देरी होने के कारण कोई नतीजा नहीं निकल सका। वहीं बैंक परिसर में आवारा घूम रहे लोगों के बारे में अभी तक कोई जानकारी नहीं मिल सकी है। इसकी जांच की जा रही है कि ये लोग कौन थे और किस मकसद से बैंक परिसर में आए थे। इसकी जांच की जा रही है।

एक वर्ष में पहली घटना

पंजाब नेशनल बैंक के सहायक मैनेजर रामअवतार सिंह ने बताया कि एक वर्ष में ग्राहक ने पहली घटना बताई है बैंक में चार सीसीटीवी कैमरे लगे हुए है जो पूरी तरह संचालित है। बैंक में ग्राहकों का आना-जाना लगा रहता है। उक्त व्यक्ति द्वारा दो व्यक्तियों से वार्तालाप करने का हवाला दिया जा रहा है जिनकी शक्ल व हुलिया उक्त व्यक्ति को ही पता होगा। जबकि पैसे जमा कराने वाले व्यक्ति भी दो लोग थे।