देश के 47% हिस्से में सूखा, इनमें से 16 प्रतिशत में स्थिति गंभीर

Bharatpur News - देश के करीब 47% हिस्से में सूखा है। इसमें से कम से कम 16% इलाका ऐसा है जहां स्थिति गंभीर है। यह अनुमान इंडियन...

Mar 01, 2019, 05:41 AM IST
देश के करीब 47% हिस्से में सूखा है। इसमें से कम से कम 16% इलाका ऐसा है जहां स्थिति गंभीर है। यह अनुमान इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (आईआईटी) गांधीनगर के वैज्ञानिकों ने जताया है। इन वैज्ञानिकों पर देश में सूखे की रियल टाइम जानकारी देने वाले वाले सिस्टम को मैनेज करने की जिम्मेदारी है। इस सिस्टम के प्रमुख एसोसिएट प्रोफेसर विमल मिश्रा ने कहा, हमारे आंकड़े बताते हैं कि गर्मियों में सूखे वाले क्षेत्रों में पानी की उपलब्धता को लेकर चुनौतियां पैदा होंगी। अरुणाचल प्रदेश में इस साल अच्छी बारिश नहीं हुई है। झारखंड, दक्षिण आंध्र प्रदेश, गुजरात और तमिलनाडु का उत्तरी हिस्सा सूखे की चपेट में हैं। यदि इन इलाकों में गर्मी अधिक पड़ी तो संकट पैदा हो सकता है। सूखे की वजह से भू-जल स्तर और नीचे चला जाएगा। हम जमीन में पानी के स्तर को रिचार्ज नहीं कर पा रहे हैं। इससे किसानों को मुश्किल स्थिति का सामना करना पड़ेगा। लंबी अवधि में सूखा देश की अर्थव्यवस्था प्रभावित कर सकता है। वैज्ञानिकों का सूखे को लेकर अनुमान मौसम का पूर्वानुमान देने वाली निजी एजेंसी स्काईमेट के अनुमान से ठीक उलट है। स्काईमेट ने सोमवार को कहा था कि इस साल सूखा पड़ने की संभावना बेहद कम है। जून से सितंबर के दौरान अच्छी बारिश की संभावनाएं 50% तक हैं। इस साल अल नीनो का प्रभाव दिखने की संभावना भी कम है। यह लगातार तीसरा साल है जब मानसून सामान्य रहने का अनुमान व्यक्त किया गया है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना