अफगानी और ईरानी प्याज से रुकेगी दामों में वृद्धि

Bharatpur News - अलवर के बाद अब विदेशी प्याज बढ़ती कीमतों पर रोक लगाएगी। इसलिए स्टाक नहीं करें। क्योंकि अफगानिस्तान, ईरान और मिस्र...

Nov 11, 2019, 07:16 AM IST
अलवर के बाद अब विदेशी प्याज बढ़ती कीमतों पर रोक लगाएगी। इसलिए स्टाक नहीं करें। क्योंकि अफगानिस्तान, ईरान और मिस्र से आयातित प्याज दिल्ली पहुंचने लगी है। इसके अलावा नेफेड ने दिल्ली मंडी में प्याज की आपूर्ति प्रारंभ कर दी है। दो चार दिन में ही बढ़ती कीमतों से लोगों को राहत मिलेगी। इस कारण रविवार को प्याज के भाव स्थिर रहे। व्यापारी भी ज्यादा स्टाक नहीं कर रहा है। ज्ञात रहे कि भरतपुर की मंडी में सबसे अधिक महाराष्ट्र के नासिक का प्याज आता है। किंतु महाराष्ट्र में बारिश और बाढ़ के कारण इस बार प्याज का उत्पादन कम हुआ है। इससे जून के बाद से ही प्याज के दाम में गर्मी खा रहे हैं। जून में 10 से 15 रुपए प्रतिकिलो बिकने वाली प्याज अब 50 से 70 रुपए प्रतिकिलो बिक रही है। बढ़ती कीमतों पर रोक लगाने के लिए केंद्र सरकार ने अफगानिस्तान, ईरान और मिस्र से प्याज आयातित की है। यह दिल्ली पहुंचने लगी हैं। भरतपुर में दिल्ली से लहसुन, प्याज एवं बेमौसम की सब्जियां आती हैं। व्यापारी धीरेंद्र पाल सिंह ने बताया कि जैसे ही विदेशी प्याज आएगा तो अलवर पर निर्भरता कम हो जाएगी। इससे भाव 10 से 20 रुपए किलो तक कमजोर होंगे। दिल्ली मंडी के भावों पर निगाह रखे हैं। पड़ता लगता ही माल लाया जाएगा। उनका कहना है कि अब प्याज के कीमतों में गर्मी तक नरमी आ सकती है। ज्ञात रहे कि भरतपुर में इन दिनों करीब 200 से 250 कट्टे प्याज की मांग रहती है।

दिल्ली में नेफेड प्याज का भी आएगा असर

एनसीआर के उत्पादन का सबसे बड़ा मार्केट दिल्ली है। इसलिए माना जा रहा है कि अगर नेफेड ने अगर लगातार प्याज की आपूर्ति दिल्ली में की तो अलवर की प्याज की डिमांड कम हो जाएगी। इससे भाव गिरेंगे। उल्लेखनीय है कि दिल्ली में राशन पर जनता को सस्ता प्याज उपलब्ध कराया जा रहा है। इस सिलसिले में शनिवार को नेफेड ने 25 टन प्याज सरकार को मुहैया कराया, जो 19 मोबाइल वैन से अलग-अलग क्षेत्रों में बांटा गया। नेफेड से 250 टन प्याज प्रतिदिन की मांग की गई है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना