ब्रह्म बाबा घर को मंदिर और नारी को लक्ष्मी बनाने पर बल देते थे : कविता

Bharatpur News - त्याग तपस्या की प्रतिमूर्ति थे ब्रह्मा बाबा। वे घर को मंदिर तथा नारी को लक्ष्मी मानते थे। बच्चों को निराकारी,...

Jan 16, 2020, 07:35 AM IST
Bhusawar News - rajasthan news brahma baba used to emphasize making the house a temple and a woman as lakshmi kavita
त्याग तपस्या की प्रतिमूर्ति थे ब्रह्मा बाबा। वे घर को मंदिर तथा नारी को लक्ष्मी मानते थे। बच्चों को निराकारी, निर्विकारी और निरंकारी बनाना चाहिए। ये विचार प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय उपसेवा केन्द्र वैर पर ब्रह्मा बाबा का 52वां पुण्य स्मृति दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में कविता बहिन ने व्यक्त किए। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में एसडीएम अमित कुमार वर्मा ने भाग लिया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि ने उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि ऐसी महान आत्मा के कुछ पदचिन्हों पर हमें भी चलना चाहिए। बुरे कर्म का फल हमेशा बुरा ही होता है। बुरे कर्मों से बचना चाहिए। ईश्वरीय स्मृति गीत ओ प्यारे ब्रह्मा बाबा.......की ब्रह्माकुमारी बहिन कनक ने की। अध्यक्षता आगरा जौन प्रभारी राजयोगिनी कविता दीदी ने की। 18 जनवरी हमें त्याग तपस्या की याद दिलाता है मानव से महामानव बनने की प्ररेणा देता है। ब्रह्मा बाबा के अन्तिम शब्द थे-बच्चे निराकारी, निर्विकारी और निरंकारी बनने, घर को मंदिर और नारी को लक्ष्मी बनाने की बात कही। बबीता बहिन ने ब्रह्मा बाबा के कहे अनुसार अपने कर्मों पर दृढ़ रहने तथा हर परिस्थिति में परमात्मा को अपनाया। संचालन सुनीता बहिन ने किया। ब्रह्मा बाबा के चित्र पर श्रद्धा सुमन अर्पित किए।

वैर. पुण्य स्मृति दिवस मनाते।

ब्रह्मा बाबा का पुण्य स्मृति दिवस मनाया

सीकरी। प्रजापिता ब्रह्मकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के साकार संस्थापक प्रजापिता ब्रह्मा बाबा का 52 वां पुण्य स्मृति दिवस कस्बे के उपशाखा केंद्र पर मनाया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि एसएचओ हरिमंन मीणा थे। अध्यक्षता ब्रह्मकुमारी संतोष बहन ने की। अशोक गुप्ता एडवोकेट विशिष्ट अतिथि थे। इस अवसर पर वक्ताओं ने कहा कि ब्रह्मा बाबा निराकार शिव बाबा के डायरेक्शन के प्रति अटल निश्चय वाले महापुरुष थे। और वे परमात्मा के बताए सदमार्ग पर चलते रहे। इससे पहले सभी अतिथियों ने बाबा की तस्वीर पर माल्यापर्ण किया। और श्रद्धाजंलि दी।

X
Bhusawar News - rajasthan news brahma baba used to emphasize making the house a temple and a woman as lakshmi kavita
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना