बुद्ध पूर्णिमा आज... घना सहित बंध बारैठा और सभी वन मंडल क्षेत्रों में होगी वन्य जीव गणना

Bharatpur News - केवलादेव घना राष्ट्रीय पक्षी उद्यान में 18 मई को वन्य जीव गणना की जाएगी जो कि 19 मई तक सुबह 8 बजे तक चलेगी। गणना 24 घंटे...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 07:21 AM IST
Bharatpur News - rajasthan news buddha purnima today banyan bandhaa including dense and all forest division areas will be wildlife calculations
केवलादेव घना राष्ट्रीय पक्षी उद्यान में 18 मई को वन्य जीव गणना की जाएगी जो कि 19 मई तक सुबह 8 बजे तक चलेगी। गणना 24 घंटे तक हाेगी। इस कारण केवलादेव पर्यटकों के लिए शनिवार को सुबह 6 बजे से रविवार को सुबह 10 बजे तक बंद रहेगा। गणना शनिवार को सुबह 8 बजे प्रारंभ होगी। इसके लिए 32 वाटर होल्स निर्धारित किए गए हैं। किंतु गुरुवार को हुई बारिश के कारण वाटर होल्स की संख्या बढ़ाई जा सकती है। घना में सबसे खास पैंथर है। पैंथर के सबसे ज्यादा मूवमेंट वाले इलाके टाइगर गड्ढा के पास मचान नहीं बनाई जा रही है, क्योंकि पैंथर पेड़ पर चढ़ जाता है इसलिए गणना कर्मियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए मचान नहीं बनाने का निर्णय लिया है। इसके जगह टाइगर गड्ढा के पास कवर्ड गाड़ी खड़ी जाएगी, जिसमें गणना टीम बैठ कर पैंथर पर नजर रखेगी। इधर, गणना टीमों में सबसे ज्यादा चार्म पैंथर मूवमेंट इलाके में स्थित टाइगर गड्ढा वाटर पोइंट पर नियुक्ति को लेकर है। लेकिन यहां एक्सपर्ट और अनुभवी लोगों की टीम को लगाना तय किया गया है। गणना चार वर्ग में होगी, जिसमें मांसाहारी जीव, शाकाहारी, पक्षी और रेपटाइल्स शामिल हैं। केएनपी निदेशक अजीत उचोई ने बताया कि गणना में शामिल होने वाले स्टाफ, नेचरलिस्ट, रिक्शा चालक, एनजीओ स्वयंसेवकों को सुबह 6 बजे बुलाया गया है। गणना के दौरान सैलानियों के लिए पार्क बंद रखा जाएगा। ज्ञात रहे कि हर जानवर 24 घंटे में एक बार पानी पीने जरूर आता है। बुद्ध पूर्णिमा पर चांद की रोशनी में दूर तक साफ दिखाई देता है। ऐसे में वन्यजीवों को देखना और उनकी गणना आसान होता है।

पर्यटकों के लिए आज घना रहेगा बंद, 31 वाटर पोइंट पर 24 घंटे चलेगी वन्य जीव गणना

भास्कर रिकॉल... पिछली साल दिखी थी सियागोश

पिछले वर्ष 30 अप्रैल को वन्य जीव गणना कराई थी, जिसमें सबसे खास सियागोश दिखाई दी थी, जिसमें केवलादेव नेशनल पार्क में एक और बंध बारैठा अभयारण्य में 8 सियागोश दिखी थी। यह बिल्ली प्रजाति की है और इसे दुर्लभ माना जाता है। घना में सियार 436, जरख 9, जंगल बिल्ली 9, मछुआरा बिल्ली 2, बिज्जु छोटा 10, कवर बिज्जु 2, चीतल 3393, सांभर 40, नील गाय 681, जंगली सूअर 123, सेही 11, सारस 14, मोर 139, बर्डस आफ प्रे 10 दिखाई दिए थे। इसी प्रकार, बंध बारैठा अभयारण्य में गीदड़ 199, जरख 22, जंगली बिल्ली 16, लोमड़ी 10, बिज्जु छाेटा 11, कवर बिज्जु 1, रोजड़ा 205, सेही 21, मोर 140 दिखे थे।

धम्म शील की देशना आज

महात्मा बुद्ध के अनुयायियों की ओर से शुक्रवार को बुद्ध पूर्णिमा मनाई जाएगी। इस मौके पर धम्म शील की देशना होगी। यानी महात्मा बुद्ध के पंचशील सिद्धांतों की प्रासंगिकता पर व्याख्यान होगा तथा परंपरानुसार खीर का वितरण होगा। आयोजन धम्म भूमि द्वारा किया जाएगा। संयोजक अतर सिंह ने बताया कि शुक्रवार को शाम 4.30 बजे हीरादास से पंचशील ध्वज यात्रा निकाली जाएगी, जो सोनपुरा स्थित बुद्ध विहार पहुंचेगी। यहां महात्मा बुद्ध की प्रतिमा के समक्ष भंते धम्म शील द्वारा देशना की जाएगी।

X
Bharatpur News - rajasthan news buddha purnima today banyan bandhaa including dense and all forest division areas will be wildlife calculations
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना