दिल्ली विजय के प्रतीक जवाहर बुर्ज का 20 लाख रुपए से होगा जीर्णाेद्धार

Bharatpur News - दिल्ली विजय का प्रतीक स्मारक जवाहर बुर्ज का भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग की ओर से 20 लाख रुपए की लागत से...

Oct 13, 2019, 07:25 AM IST
दिल्ली विजय का प्रतीक स्मारक जवाहर बुर्ज का भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग की ओर से 20 लाख रुपए की लागत से जीर्णोद्धार कराया जा जा रहा है। विभाग का मानना है कि इससे पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। कार्य के तहत आठ बुर्जों की मरम्मत, गिरासू हालत में छतरियों की मरम्मत, पर्यटकों के लिए 6 सैंड स्टोन की बैंच लगाई जाएंगी। बाउंड्रीवाल की भी मरम्मत कराई जाएगी। केन्द्रीय पुरातत्व विभाग के वरिष्ठ संरक्षक सहायक आर के मीणा ने बताया कि जवाहर बुर्ज की पूर्ण तरीके से मरम्मत कराने का कार्य प्रारंभ करा दिया गया है। इसके लिए दिल्ली के कारीगर काम में लगे हुए हैं। दिल्ली के ठेकेदार केके शर्मा ने बताया कि कार्य पांच दिन पूर्व प्रारंभ करा दिया गया है। दिल्ली के कारीगर इस कार्य में लगे हुए हैं। यह कार्य मार्च 2020 से पूर्व समाप्त करा दिया जाएगा। लोहागढ़ दुर्ग तरा से हुए पत्थरों से बना स्थापत्य कला की बेजोड़ निशानी है। आयताकार में बने हुए इस किले का क्षेत्रफल 2.5 वर्ग मील है। इसमें जवाहर बुर्ज सहित आठ बुर्जों बनी हुई हैं। जवाहर बुर्ज किले के उत्तरी पश्चिमी कोने पर बनी हुई है। यह बुर्ज भरतपुर के इतिहास में प्रत्येक दृष्टि से महत्वपूर्ण स्थान रखता है। मिट्ठी की बनी इस बुर्ज की जमीन से ऊंचाई 200 फीट से अधिक है तथा यह शहर का सर्वाधिक ऊचाई वाला स्थान है। यहां से देखने र शहर के आसपास के क्षेत्र का दृश्य बड़ा ही मनोहारी दिखाई देता है। यह बुर्ज चारों तरफ से झाडिय़ों एवं पेड़ों से घिरा हुआ है। इस बुर्ज पर रजवाड़ों के समय से भरतपुर राज्य का पचरंगा ध्वज लहराता रहा है। महाराजा जवाहर सिंह के नाम पर बने इस बुर्ज पर पहुंचने का रास्ता किले के अंदर से है। इसके लिए ईंटों से निर्मित खरंजानुमा सड़क की चढ़ाई है। बुर्ज के उत्तरी कोने पर बनी बारहदरी में एक संगमरमर का बना कलात्मक तख्त रखा हुआ है, जिसे शिवाजी की चौकी कहा जाता है। इस तख्त को महाराजा जवाहर सिंह दिल्ली से फतह करके लाए थे। रात के समय महाराजा एकांत में इस स्थान पर बैठक शहर सहित अपने किले का आनंदमयी दृश्य देखा करते थे।

भरतपुर. जवाहर बुर्ज पर काम करते मजदूर।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना