पुष्पहार की तरह मौत के फंदे को चूमा था इंकलाब के नारों पर ही दिल जिनका झूमा था...

Bharatpur News - भरतपुर | जसवंत प्रदर्शनी के रंगमंच पर क्षेत्रीय कवि सम्मेलन में जिले भर से आए प्रसिद्ध कवियों ने अपनी रचनाओं से...

Bhaskar News Network

Oct 12, 2019, 08:21 AM IST
Deeg News - rajasthan news like a wreath the trap of death was kissed on the slogan of inquilab
भरतपुर | जसवंत प्रदर्शनी के रंगमंच पर क्षेत्रीय कवि सम्मेलन में जिले भर से आए प्रसिद्ध कवियों ने अपनी रचनाओं से दर्शकों को अंत तक बैठने पर मजबूर कर दिया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक डा. मूलसिंह राणा थे, अध्यक्षता मेला अधिकारी डा. नगेश चौधरी ने की। क्षेत्रीय कवि सम्मेलन में कवि हरिओम हरि ने पुष्पहार की तरह मौत के फंदे को चूमा था, इंकलाब के नारों पर ही दिल जिनका झूमा था... लक्ष्मण चौधरी ने बड़ा पेट इतना न कर तू जिसकी न भरपाई हो, संतोषी हो जा थोड़ा सा द्वेष की न परछाई हों..., कवि पूरन शर्मा ने वन के सुमन भारती के बहाल जो चढ़े थे ऐसे शूरवीरों को नमन करता हूं सुनाकर देशप्रेम का संदेश दिया..., द्वारिका पाराशर ने आतंकवाद न फैले न हर सूए दोस्तो नामों निशान उसका मिटाने की बात हो..., नरेन्द्र निर्मल ने युगों युगों से मिटते आए सम्मा पर परवाने चंदा और चक भरे अफसाने..., रामबाबू विद्रोही ने देश हमें देता सबकुछ हम भी तो कुछ देना सीखें क्या रखा हैं बैर-भाव में प्यार प्रीति से रहना सीखे...,डीग से आए प्रख्यात कवि मनोज मनु ने मेरे देश के एक शेर ने कर दिया काम करारा डंका की एक चोट पर ले लिया ये कश्मीर हमारा..., सोमदत्त व्यास ने कश्मीर पर जो ठोके ताल पाक की मजाल पांव में पटेल वाला जूता होना चाहिए..., श्याम सिंह जघीना ने कवि बलिदानियों की कहानी लिखो लुट गयी देश पर जबानी लिखो..., भगवान सिंह भंवर ने चंद टुकडों में यूं न बिके आदमी धर्म पर ईमान पर तो टिके आदमी..., नगर से आए कवि हरि हरिशचंद हरि ने जिस जंगल में घर हैं तेरा जंगल राज हुआ जहां बाहेतियां लगा निशाना तन के खड़ा हुआ है कविता पढ़ी। साथ ही कवि सुरेश फौजदार, धीरज इन्दोलिया, दलवीर सोलंकी परवाना, जयकुमार जय, अशोक धाकरे, भूपाल चौधरी, शीशराम गोला, नानक चंद नवीन, सतवीर आर्य, जगदीश खटाना एवं बलवीर सिंह आर्य ने अपनी-अपनी रचनाएं सुनाईं।

भरतपुर। नुमाइश मैदान में क्षेत्रीय कवि सम्मेलन मेे कविता पढ़ते हुए कवि।

मेले में आज क्या

1. मेले का विधिवत समापन समारोह दोपहर 3.30 बजे नुमाईश प्रदर्शनी स्थल पर होगा, जिसमें विजयी प्रतिभागियों को पुरस्कार प्रदान किए जाएंगे।

2. अखिल भारतीय कवि सम्मेलन रात 8 बजे प्रारंभ होगा, जिसमें कवि विनीत चौहान अलवर, विजय विद्रोही प्रतापगढ, योगिता चौहान इटावा, लटूरीलटठ फिरोजाबाद, सपना सोनी दौसा, एवं शंकर सुखववाल चित्तौडगढ़ अपनी रचाओं की प्रस्तुति देगें।

X
Deeg News - rajasthan news like a wreath the trap of death was kissed on the slogan of inquilab
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना