770 स्कूलों की 5 माह से नहीं पहुंचे अधिकारी

Bharatpur News - राज्य सरकार ने प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक स्कूलों में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा सुनिश्चित करने के लिए ग्राम पंचायत...

Dec 04, 2019, 09:10 AM IST
Deeg News - rajasthan news officers of 770 schools have not arrived since 5 months
राज्य सरकार ने प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक स्कूलों में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा सुनिश्चित करने के लिए ग्राम पंचायत मुख्यालय स्थित राजकीय उच्च माध्यमिक स्कूलों के प्रधानाचार्यों को जिस उद्देश्य से पंचायत प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी (पीईईओ) नामित किया था, उन उद्देश्यों की पूर्ति नहीं हो पा रही है। नामित करते समय पीईईओ से यह अपेक्षा की गई थी कि वो अपने अधीन प्राथमिक स्कूलों का दो माह में एक बार एवं उच्च प्राथमिक स्कूलों का प्रतिमाह में एक बार सघन निरीक्षण कर उन्हें शैक्षिक संबलन प्रदान करेंगे। साथ ही वो अपने निरीक्षणों को शाला दर्पण पर ऑनलाइन करेंगे। ताकि स्कूलों की राज्य स्तर पर मानिटरिंग हो सके। लेकिन जिला स्तर से हाल ही में जारी की गई रिपोर्ट कुछ अलग ही कहानी बयां करती नजर आ रही है। 25 नवम्बर तक के आंकड़ों पर नजर डालें तो जिले के कुल 1718 स्कूलों में से 770 स्कूलों को सत्र के आरंभ से लेकर अब तक एक भी बार किसी भी जिम्मेदार अधिकारी द्वारा निरीक्षण नहीं किया गया है। यह


जिले के ब्लाॅक पर एक नजर

जारी रिपोर्ट के अनुसार पहाड़ी में सबसे अधिक 138 स्कूल हैं। जिनका अभी किसी ने भी निरीक्षण करना मुनासिब नहीं समझा। अन्य ब्लाॅक में बयाना में 128, नगर में 96, वैर में 95, रूपवास में 72, सेवर में 63, डीग में 58, नदबई में 46, कुम्हेर में 38 एंव कामां में 36 ऐसे स्कूल हैं जिनका सत्र आरंभ से अब तक निरीक्षण नहीं किया गया।

संबलन पंचायत प्रारंभिक अधिकारियों के साथ-साथ मुख्य ब्लाॅक शिक्षा अधिकारी एंव उनके अधीनस्थ अतिरिक्त मुख्य ब्लाॅक शिक्षा अधिकारियों को शहरी क्षेत्र के स्कूलों के साथ संस्कृत स्कूलों में करना था।

भास्कर संवाददाता| डीग

राज्य सरकार ने प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक स्कूलों में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा सुनिश्चित करने के लिए ग्राम पंचायत मुख्यालय स्थित राजकीय उच्च माध्यमिक स्कूलों के प्रधानाचार्यों को जिस उद्देश्य से पंचायत प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी (पीईईओ) नामित किया था, उन उद्देश्यों की पूर्ति नहीं हो पा रही है। नामित करते समय पीईईओ से यह अपेक्षा की गई थी कि वो अपने अधीन प्राथमिक स्कूलों का दो माह में एक बार एवं उच्च प्राथमिक स्कूलों का प्रतिमाह में एक बार सघन निरीक्षण कर उन्हें शैक्षिक संबलन प्रदान करेंगे। साथ ही वो अपने निरीक्षणों को शाला दर्पण पर ऑनलाइन करेंगे। ताकि स्कूलों की राज्य स्तर पर मानिटरिंग हो सके। लेकिन जिला स्तर से हाल ही में जारी की गई रिपोर्ट कुछ अलग ही कहानी बयां करती नजर आ रही है। 25 नवम्बर तक के आंकड़ों पर नजर डालें तो जिले के कुल 1718 स्कूलों में से 770 स्कूलों को सत्र के आरंभ से लेकर अब तक एक भी बार किसी भी जिम्मेदार अधिकारी द्वारा निरीक्षण नहीं किया गया है। यह


X
Deeg News - rajasthan news officers of 770 schools have not arrived since 5 months
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना