आरबीएम अस्पताल में बुखार और दर्द निवारक गोलियों के लिए भी मरीजों को लौटा रहे फार्मासिस्ट

Bharatpur News - मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना का दायरा बढ़ाकर सरकार जहां कैंसर और हार्ट जैसी गंभीर बीमारियों की दवा भी रोगियों...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 07:25 AM IST
Bharatpur News - rajasthan news pharmacists returning patients for fever and painkillers in rbm hospital
मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना का दायरा बढ़ाकर सरकार जहां कैंसर और हार्ट जैसी गंभीर बीमारियों की दवा भी रोगियों को मुफ्त उपलब्ध कराने की तैयारी में है। वहीं, संभाग के सबसे बड़े अस्पताल आरबीएम के फार्मासिस्ट जानबूझकर इस योजना को फेल करने में लगे हैं। हालात यह हैं कि बुखार, दर्द, मूत्र रोग जैसी सामान्य बीमारियों की दवाएं भी 3 - 3, 4 - 4 घंटे लाइन में लगने के बावजूद रोगियों को नहीं मिल रही हैं। ऐसा भी नहीं है कि ये दवाएं भंडार में उपलब्ध ना हों। लेकिन, दवा वितरण केंद्रों पर बैठे फार्मासिस्ट भंडार को डिमांड भेजकर मंगवाने या वहां से खुद लाने के बजाय अनुपलब्ध बताकर मरीजों को लौटा रहे हैं। मजबूरन रोगियों को ये सामान्य दवाएं भी बाजार से खरीदनी पड़ रही हैं।

जब इस बारे में स्टोर प्रभारी डा. सुनील शर्मा से बात की गई तो उनका कहना है कि जिला औषधि भंडार में ज्यादातर दवाएं पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं। केवल 9 दवाइयां ही ऐसी हैं जिनकी उपलब्धता कम है और डिमांड भेजी हुई है। जिला औषधि भंडार को आरबीएम अस्पताल के सब औषधि भंडार से हर सप्ताह सोमवार और गुरुवार को ऑनलाइन डिमांड आती है। डिमांड आने के अगले दिन ही दवाएं सप्लाई कर दी जाती हैं। अगर, दवाओं को लेकर ज्यादा परेशानी है तो फार्मासिस्ट को काउंटर पर दवाएं खत्म होने से 15 दिन पहले ही डिमांड करके मंगवा लेनी चाहिए।

भरतपुर. आरबीएम अस्पताल में दवा काउंटर पर लगी कतार।


ये दवाएं स्टोर में तो हैं, पर डीडीसी काउंटर दे नहीं रहे


पर्चे पर काउंटर की मोहर तक नहीं लगाते : काउंटर पर फार्मासिस्ट मरीज को पर्चे पर अनुपलब्ध (एनए) लिखकर लौटा देते हैं। वे पर्चे पर अपने काउंटर की मोहर तक नहीं लगाते ताकि पता चले कि किस काउंटर पर दवा नहीं है।

X
Bharatpur News - rajasthan news pharmacists returning patients for fever and painkillers in rbm hospital
COMMENT