पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Rupbas News Rajasthan News Sdm Agitated At Naib Tehsildar Speaking Loudly In Illegal Mining Meeting

अवैध खनन की बैठक में नायब तहसीलदार के तेज आवाज में बोलने पर भड़के एसडीएम

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अवैध खनन की बैठक में नायब तहसीलदार के तेज आवाज में बोलने पर एसडीएम भड़क गए और उन्होंने नायब तहसीलदार छोटेलाल से कौनसी मौत मरना चाहता हैं तुझे कागज से मारू या...तक कह दिया। इसके विरोध में तहसील परिसर में राजस्थान पटवार संघ के बैनर तले गिरदावल व पटवारियों ने बैठक कर एसडीएम व तहसीलदार की दादागिरी, मनमानी व दुर्व्यवहार को लेकर अनिश्चितकाल के लिए कलमबंद कार्य का बहिष्कार करते हुए प्रदर्शन करने के बाद धरना दिया। पटवारी रूपकिशोर व मनोज खंडूजा ने बताया कि 6 अगस्त को बैठक के दौरान एसडीएम दिनेश धाकड ने राजस्व निरीक्षक व कार्यकारी नायब तहसीलदार छोटेलाल शर्मा से दुर्व्यवहार किया तथा कहा कि कौनसी मौत मरना चाहता हैं तुझे कागज से मारू या...जैसे अपशब्द कहे व अपमानित करके बैठक से बाहर निकाल दिया। वही राजस्वकर्मियों ने एसडीएम व तहसीलदार पर पटवारी व गिरदावरों को बिना पुलिस सहायता के दबंगो के अवैध अतिक्रमणों को हटाने भेजने, बैठकों में पटवारियों को घर से पुलिस भेज कर पकड़वाने व उठवाने की धमकी देने, सीएल स्वीकृत नही करने, अवैध खननकर्ताओं के खिलाफ कार्रवाई करने व बजरी माफिया को पकड़ने की बात कहकर मानसिक रूप से परेशान करने का आरोप लगाया। इस पर तहसील के समस्त पटवारी व गिरदावरों ने सामूहिक रूप से निर्णय लिया कि जब तक एसडीएम राजस्वकर्मियों से किए गए दुर्व्यवहार के लिये माफी नही मांगेगे तब तक कलमबंद कार्य का बहिष्कार करके धरना जारी रहेगा। इस मौके पर कृष्णकांत, थलवीरसिंह, देवेंद्रसिंह, जोगेंद्रसिंह, दीनदयाल, दीपेंद्र मोहन, अनीता, भवानीशंकर, राकेश जैन आदि उपस्थित थे।

पूर्व में एक पटवारी अरविंद को दो दिन की सीएल देने के बाद तीन माह तक गैर हाजिर होने पर उसने पूछताछ में मेडिकल बिल पेश कर दिया। जिसे जांच के लिये जिला कलेक्टर को भेजा हैं। जबकि हकीकत में पटवारी अरविंद बीमारी का बहाना बनाकर आरएएस परीक्षा की तैयारी कर रहा था। वही सभी कर्मचारियों से मित्रवत व्यवहार करते हुये किसी भी कर्मचारी को आज तक सीएल के लिये मना नही किया हैं तथा अवैध खनन की रोकथाम को लेकर जिला कलेक्टर के निर्देश पर एसडीएम ने पटवारी व गिरदावलों की बैठक ली थी। जिसमें अवैध खनन से निकले पत्थर को ले जाने वाले वाहनो की निगरानी करने की बात को लेकर नायब तहसीलदार छोटेलाल तेज आवाज में बोलने लगे तो एसडीएम ने भी धीमी आवाज में तमीज से बोलने की हिदायत दे दी। जिस पर पटवारी व गिरदावल भड़क गये।

भगवत शरण, तहसीलदार

इस बारे में जब एसडीएम से संपर्क किया तो उन्होंने कुछ कहने से ही इंकार कर दिया।

दिनेश धाकड़, एसडीएम

रूपवास. तहसील परिसर में एसडीएम व तहसीलदार के खिलाफ प्रदर्शन करते गिरदावल व पटवारी।

सरपंच से दुर्व्यवहार को लेकर भी सुर्खियों में रहे थे एसडीएम

पूर्व में गांव अंधियारी में दिन की जनसुनवाई में एसडीएम दिनेश धाकड रात को गांव पहुंचे। जिस पर सरपंच महेश बाल्मीकी द्वारा दिन की जगह रात में आने व लोगो के परेशान होकर चले जाने की बात कहने पर एसडीएम दिनेश धाकड भड़क गए थे। सरपंच व सचिव को हडकाकर सचिव से दस्तावेज मांगने व सरपंच की कुर्सी पर बैठने को लेकर भी सुर्खियों में रहे थे।

खबरें और भी हैं...