पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Nagar News Rajasthan News The Former Foreign Minister Had A Special Attachment With Keoladeo Ghana So She Visited 3 Times

पूर्व विदेश मंत्री को केवलादेव घना से था खास लगाव, इसलिए 3 बार आई थीं घूमने

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पूर्व विदेश मंत्री को शहर के अनेक संगठनों ने नम आंखों से दी श्रद्धांजलि, प्रेम गार्डन में शोकसभा आज

भरतपुर| दिवंगत पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का केवलादेव राष्ट्रीय पक्षी उद्यान से खासा लगाव था। जिला भाजपा महामंत्री शिवराजसिंह तमरोली ने बताया कि तीनों बार वे परिवार सहित घना घूमने आई थीं। भरतपुर के कार्यकर्ता जब भी उनसे मिलते थे तो वे घना की चर्चा जरूर करती थीं। कहती थीं कि वे जल्द घूमने आएंगी। लेकिन वकालात और राजनीति की व्यस्तता के कारण उनका घना आने का कार्यक्रम नहीं बन पाया। तमरोली ने बताया कि वर्ष 2012 में उत्तर प्रदेश के चुनाव में मेरी ड्यूटी पार्टी ने इगलास विधानसभा क्षेत्र में लगाई थी। वहां उनकी सभा प्रस्तावित थी, लेकिन उस दिन जबरदस्त बारिश आई। इस कारण भीड़ नहीं जुट सकी। संयोग से सभा के वक्त बारिश नहीं थी। थोड़ी सी भीड़ को देखकर वे नाराज नहीं हुई और लोगों के बीच बैठकर पार्टी की बात कही। सभी कार्यकर्ताओं से कहा कि इसमें निराश होने की कोई जरूरत नहीं है। कई बार ऐसा होता है कि काफी मेहनत करने के बाद भी उम्मीद के मुताबिक परिणाम नहीं मिलते। सुषमा स्वराज वर्ष 1996 और 1999 के लोकसभा चुनाव के दौरान भी सभा को संबोधित करने आई थीं। शहर भाजपा की ओर से गुरुवार शाम 6 बजे सेक्टर 3 स्थित प्रेम गार्डन में श्रद्धांजलि सभा रखी गई है।

इधर, भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष सत्येंद्र गोयल, पूर्व महामंत्री अनिल लोहिया ने कहा कि स्वराज के निधन से पार्टी को भारी नुकसान हुआ है। बुधवार को नौगाया गांव में श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। इसमें जिला महामंत्री कीर्ति सिंह, किसान मोर्चा के जिला महामंत्री अमर सिंह ने सुषमा स्वराज के व्यक्तित्व पर प्रकाश डाला। कांग्रेस खेलकूद प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष सुनील कांत शर्मा, सुरेश पदयात्री, हरिमोहन शर्मा ने भी दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी। राष्ट्रीय परशुराम सेना के जिलाध्यक्ष वैभव उपमन, प्रदेश उपाध्यक्ष मनीष तिवारी ने सुषमा स्वराज को करिश्माई नेता बताया। व्यापार महासंघ के जिलाध्यक्ष संजीव गुप्ता की अध्यक्षता में हुई बैठक में महामंत्री नरेन्द्र गोयल, शहर अध्यक्ष भगवानदास बंसल ने कहा कि सुषमा एक जुझारू नेता थीं। वरिष्ठ नागरिक सेवा संस्थान के अध्यक्ष सरदार सिंह ने विदेश मंत्री काल में हुए कामों की सराहना की। भारत स्वाभिमान ट्रस्ट एवं पतंजलि योग समिति के वीरी सिंह कुंतल, ओमप्रकाश सोगरवाल आदि ने स्वराज के निधन को देश को हुई अपूर्णीय क्षति बताया।

हिंदू युवा वाहिनी की ओर से किला स्थित शहीद स्मारक पर पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के आकस्मिक निधन पर जिला संयोजक रूपेश मिश्रा एवं जिलाप्रमुख कपिल खोंखर की अध्यक्षता एवं जिला गौरक्षा प्रमुख कृष्णा पंडित के नेतृत्व में शोक सभा आयोजित की गई। इस अवसर पर शहीद स्मारक पर पुष्प अर्पित करके एवं 2 मिनट का मौन रखकर दिवंगत को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। वक्ताओं ने कहा कि सुषमा ने नारी शक्ति को सर्वोच्च पद पर आसीन करने में एक अहम भूमिका निभाई। उनके द्वारा लिए कई कड़े और कठिन फैसले वैश्विक स्तर पर सराहे गए हैं।

भरतपुर. हिंदू युवा वाहिनी के पदाधिकारी सुषमा स्वराज को श्रद्धांजलि देते हुए।



खबरें और भी हैं...