--Advertisement--

आज बिरज में होली रे रसिया...

अग्रवाल महिला मंडल की ओर से शनिवार को सत्यनारायण मंदिर पर फागोत्सव मनाया गया। महिला मंडल अध्यक्ष रजनी अग्रवाल...

Danik Bhaskar | Feb 25, 2018, 02:05 AM IST
अग्रवाल महिला मंडल की ओर से शनिवार को सत्यनारायण मंदिर पर फागोत्सव मनाया गया। महिला मंडल अध्यक्ष रजनी अग्रवाल नेतृत्व में आयोजित फागोत्सव कार्यक्रम में महिलाओं ने एक से बढ़कर एक प्रस्तुति दी।

समारोह में भाग लेने वाली महिलाओं का सचिव अर्चना ने रंग और फूलों से स्वागत किया। समाज की जिलाध्यक्ष राजदुलारी गोयल ने बताया कि फागोत्सव के दौरान महिलाओं ने फागुन के सामूहिक भजन गए। भजनों पर नृत्य कर महिलाओं ने भक्ति की। इस दौरान आज बिरज में होली रे..., रसिया, फागुल आयो रे आयो रे रंगीलो..., होली खेले नंदलाल रे..., होली आई रे कन्हाई की रंगारंग प्रस्तुति दी। फागोत्सव के उपलक्ष्य में मेघा, उमा, नीलू, अंतिमा गायत्री ने सुंदर फूलों की रंगोली सजाई। मंडल की सभी महिलाओं फागोत्सव में रंग लगाकर एक दूसरे को फागोत्सव की बधाई और शुभकामनाएं दी गई।

खानपुर. ब्लॉक संदर्भ केंद्र डूंडी गाडरवाड़ा पर शनिवार को अध्यापिका मंच की ओर से फागोत्सव का आयोजन किया गया। संयोजिका आशा श्रृंगी ने बताया कि शनिवार को फागोत्सव बड़ी धूमधाम से मनाया। इसमें एक-दूसरे को गुलाल लगाकर नृत्य कर फागोत्सव मनाया। सहसंयोजिका नफीसा अंजुम ने बधाइयां दी।

बकानी. कस्बे में दंडी स्वामी ज्ञानानंद तीर्थ शंकराचार्य भानपुरा पीठ के मुखारविंद से भागवत कथा का आयोजन हो रहा है। कथा में बताया कि मनुष्य को कभी घमंड नहीं करना चाहिए। जितना मिल रहा है। व्यक्ति को उसमें ही संतुष्ट रहना चाहिए। कथा में बताया कि पहला हिस्सा छोटे भाइयों को देना चाहिए। कथा में समुद्र मंथन की कथा सुनाई। शनिवार को भागवत कथा में कृष्ण जन्मोत्सव मनाया गया। इसमें कृष्ण जन्मोत्सव के दौरान बधाइयां गाई गई।

झालावाड़. शहर के सत्यनारायण मंदिर में फागोत्सव मनाया गया। इस दौरान महिलाओं द्वारा होली खेली गई।

खानपुर. देवधाम झाड़ौता जाने वाली वाहन रैली का खानपुर से गुजरने पर स्वागत किया गया।

संतोष, स्नेह, संस्कार और समाधान से ही सुख मिलता है: प्रसन्नाश्री

भवानीमंडी. चार साल पहले करोड़पति परिवार की साक्षी जैन से जैन श्वेताबंर जैन साध्वी बनी प्रसन्ना श्री शनिवार को पहली बार भवानीमंडी लौटी तो पहले ही प्रवचन में जीवन के सार तत्व पर गंभीर बातें कह गईं। उन्होंने कहा कि संपत्ति, सत्ता, शरीर और स्वजन ये चारों इंसान के दुश्मन है। इनसे कभी किसी को सुख नहीं मिला है। सामाजिक जीवन में रहकर अगर सुख ही पाना है तो संतोष, स्नेह और संस्कार तथा समाधान को अपना लेना प्रसन्ना श्री ने अपनी शिक्षा लालचंद आदर्श विद्या मंदिर में ही प्राप्त की थी। जैन साध्वी बनने के बाद यही पर पहले प्रवचन दिए। उन्होंने स्कूल से ही संस्कार पाने की बात कहते हुए अपनी जन्म भूमि को महान बताते हुए कहा जननी, जन्मभूमि स्वर्ग से भी बढ़कर होती है। उन्होंने श्रोताओं की मनोदशा पढ़ते हुए कहा कि सामाजिक जीवन में रहकर भी सुख प्राप्त किया जा सकता है। लेकिन इसके लिए इंसान को अपने चार दुश्मन है, संपत्ति, सत्ता, शरीर और स्वजन। ये चारों चीजें एक तरफ रख दो। जैन साध्वी का शनिवार को राधेश्याम मंदिर बगीचे के यहां से स्वागत जुलूस निकाला गया। यह जुलूस शहर भ्रमण करता हुए आदर्श विद्या मंदिर पहुंचा। इस दौरान रास्ते में जगह-जगह स्वागत किया गया। जुलूस जब उनके पिता दिलीप गोटावाला के घर के बाहर पहुंचा तो वहां पर लोगों की भीड़ लग गई।

भवानीमंडी. प्रवचन देती प्रसन्नाश्री।

पहली बार घर आईं साध्वी का जोरदार स्वागत

भवानीमंडी. प्रवचन के दौरान मौजूद श्रोता।

भजनों के साथ निकाली वाहन रैली

बकानी. देवनारायण सेवा समिति के तत्वावधान में बकानी से देवधाम झाड़ोता के लिए वाहन रैली रवाना हुई। रैली भगवान देवनारायण मन्दिर पर आरती के बाद शुरू हुई। 200 से ज्यादा दुपहिया वाहन के साथ बकानी के देवनारायण मन्दिर से पीपली चौराहा, पुराने थाने के सामने से अस्पताल रोड़ होते हुए देवधाम झाड़ोता के लिए रवाना हुई। रैली में गले मे केसरिया दुपट्टा एवं वाहन पर केसरिया झंडी बांधकर देव जी भजनों पर झूमते हुए निकले। रैली में संयोजक चन्द्र सिंह गुर्जर, शोभाराम गुर्जर, मुकेश गुर्जर, राजू गुर्जर भूमाड़ा, राजगढ़ देवसेना युवा जिलाध्यक्ष गोपाल गुर्जर शामिल हुए।

खानपुर. बकानी के काकरिया से झाड़ौता जा रही भगवान देवनारायण रैली का देवसेना व गुर्जर समाज की ओर से शनिवार को जगह जगह पुष्प वर्षा कर स्वागत किया गया। देवसेना अध्यक्ष गज्जू गुर्जर ने बताया कि वाहन रैली का खानपुर पहुंचने पर स्वागत किया गया। समाज की ओर से देवधाम पर पहुंचने पर विधिवत पूजा अर्चना कर आरती उतारी। इस मौके पर रमेश गुर्जर, लखन गुर्जर, दयाराम गुर्जर, मनोज गुर्जर, रिंकू गुर्जर सहित दर्जनों कार्यकर्ता उपस्थित थे।