--Advertisement--

पद्‌मावत का विरोध, धुआंखेड़ी में 15 मिनट लोकल ट्रेन रोकी

फिल्म पद्मावत के विरोध के एहतियात के तौर पर गुरुवार को सुबह के समय चलने वाली रोडवेज बसों का संचालन नहीं किया गया।...

Danik Bhaskar | Jan 26, 2018, 02:05 AM IST
फिल्म पद्मावत के विरोध के एहतियात के तौर पर गुरुवार को सुबह के समय चलने वाली रोडवेज बसों का संचालन नहीं किया गया। इससे यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ा। विभिन्न मार्गों की करीब 6 बसें प्रभावित हुईं।

सुबह बसों का संचालन नहीं होने से सबसे अधिक परेशानी स्कूल टीचर और कर्मचारियों को हुई। 10 बजे बाद बसों का संचालन किया गया। झालावाड़ डिपो के मुख्य प्रबंधक अनिल पारीक ने बताया कि सुबह के 6 बजे जाने वाली झालावाड़-बांसवाड़ा, झालावाड़-डूंगरपुर, झालावाड़-कोटा बसें मार्ग पर नहीं भेजी गई हैं। इसके अलावा अन्य डिपो से भी सुबह के समय संचालित होने वाली बसें नहीं आईं। इससे मध्यप्रदेश, इंदौर, उज्जैन की यात्रा करने वाले यात्री भी परेशान हुए। 10 बजे बाद बसों का नियमित संचालन किया गया है। इधर, शहर के टाकिज पर भी दिनभर पुलिस जाप्ता तैनात रहा।

भवानीमंडी|पद्‌मावत फिल्म का भवानीमंडी के पास मध्यप्रदेश के धुआंखेड़ी रेलवे स्टेशन पर विरोध प्रदर्शन हुआ। करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने गुरुवार सुबह पास के मप्र के धुआंखेड़ी रेलवे स्टेशन पर करीब 15 मिनट तक लोकल सवारी ट्रेन को रोक दिया। भवानीमंडी में भी विरोध की आंशका से रेलवे स्टेशन पर एसडीएम राकेश मीणा, डीएसपी वैभव शर्मा एवं सीआई सुनील कुमार मय फोर्स के पहुंच गए। एक अन्य रेलवे स्टेशन झालावाड़ रोड पर तहसीलदार मनमोहन गुप्ता को भेजा गया। भवानीमंडी रेलवे स्टेशन पर दोपहर तक जाब्ता तैनात रहा। इस दौरान रेल में आ-जा रहे लोगों पर निगरानी रखी गई। यहां पर शांति बनी रही। मध्यप्रदेश की ओर से बाइक पर प्रदर्शन करते आ रहे लोग, भवानीमंडी से आगे की ओर वापस एमपी की ओर रवाना हो गए।

झालावाड़. फिल्म के विरोध में ट्रेक जाम कर झालावाड़ रोड पर ट्रेनंे रोकी।

फिल्म निर्माता का जलाया पुतला

चौमहला|
फिल्म के विरोध में करणी सेना, विश्व हिंदू परिषद, बजरंगदल, शिव सेना के आह्वान पर गुरुवार को कस्बा शांति पूर्ण बंद रहा। कस्बे के बाजार सुबह से ही बंद रहे। चाय की होटल, स्टाल तक बंद रही। दोपहर 1 बजे कुंडला रोड से फिल्म के निर्माता संजय भंसाली का पुतला लेकर शवयात्रा निकाली गई, जो मुख्य मार्गों से होती नगर के मुख्य झंडा चौक पर पहुंची, जहां भंसाली का पुतला जलाया गया। इस अवसर पर महेंद्र सिंह, लक्ष्मण सिंह, सुरेश सिंह, ब्रजराज सिंह सहित कार्यकर्ता मौजूद रहे। इस दौरान प्रशासन व पुलिस प्रशासन सतर्क रहा। कस्बे में जगह जगह पुलिस जाब्ता लगा रहा। दोपहर 3 बजे से बाजार खुल गए।

डग. पद्‌मावत फिल्म के विरोध में बंद रहे बाजार।

डग बंद रहा, असनावर में निकाली रैली

डग| फिल्म के विरोध में भारत बंद के समर्थन में रानी पद्‌मावती स्वाभिमान संघर्ष समिति डग के आह्वान पर कस्बा सुबह से ही पूरी तरह बंद रहा। बंद को विहिप, बजरंगदल और व्यापारियों सहित सभी सामाजिक संगठनों ने पूरा समर्थन दिया। समिति के सदस्य व बजरंगदल विभाग संयोजक अरविंद लाडौती, पूर्व जिला संयोजक बजरंग दल सुरेश कुमावत, राजुनाथ, लालचंद प्रेमी, महेश सोनी गुमान सिंह, दशरथ सिंह, दिनेश शर्मा सहित कार्यकर्ता सुबह से ही बंद को सफल बनाने में जुटे रहे। वहीं गंगधार पुलिस उपाधीक्षक भंवर सिंह शेखावत डग थानाधिकारी लवकुमार तिवाड़ी मय फोर्स स्थिति पर नजर रखे हुए थे। इसके बाद डग थाने में प्रधानमंत्री के नाम एसडीएम चंदन दुबे को ज्ञापन दिया। इस अवसर पर व्यापार संघ के अध्यक्ष देवेंद्र जाजू, प्रेम प्रेमी, पूर्व सरपंच रतन लाल राठौर, आशीष खंडेलवाल मौजूद रहे।

असनावर| फिल्म के विरोध में हिंदू संगठनों ने रैली निकालकर प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन दिया। रैली में कई जगह पर नेशनल हाइवे जाम की स्थिति बनाई। एसडीएम ऑफिस में तहसीलदार गंगाराम गुर्जर को फिल्म पर बैन लगाने के लिए हिंदू संगठनों के पदाधिकारियों ने मिलकर ज्ञापन दिया। इसमें कर्मवीर सिंह, बलराज सोनगरा, दिलीप सिंह, राजू सांखला महेंद्रकुमार भील, रघुनंदन पाटीदार सहित मौजूद रहे।