--Advertisement--

अधिकारी समय पर लक्ष्य पूरा कराएंं: कलेक्टर

जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक कलेक्टर डाॅ. जितेन्द्र कुमार सोनी की अध्यक्षता में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक...

Danik Bhaskar | Feb 06, 2018, 02:10 AM IST
जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक कलेक्टर डाॅ. जितेन्द्र कुमार सोनी की अध्यक्षता में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक मिनी सचिवालय कॉन्फ्रेंस हाॅल में हुई। बैठक में कलेक्टर ने ओजस सॉफ्टवेयर के माध्यम से किए जाने वाले भुगतान जेएसवाई, राजश्री प्रथम किस्त व द्वितीय किस्त तथा शुभलक्ष्मी योजना के अन्तर्गत द्वितीय किस्त के बकाया भुगतान की संस्थावार समीक्षा की। कम प्रगति वाले चिकित्सा संस्थान भवानीमंडी, डग, चौमहला, बकानी, खानपुर, अकलेरा, मनोहरथाना व रायपुर के चिकित्सा अधिकारी प्रभारी एवं अन्य सभी को निर्देश प्रदान किए कि बकाया भुगतान 7 दिवस में करवाना सुनिश्चित करे एवं भविष्य में प्रसूता के डिस्चार्ज के समय ही जेएसवाई एवं राजश्री का भुगतान किया जाना सुनिश्चित करें।

परिवार कल्याण कार्यक्रम के अन्तर्गत सभी ब्लाॅक मुख्य चिकित्सा अधिकारी को जनवरी तक का बैकलॉग पूरा करने,फरवरी तक ब्लाॅक बकानी को 1100, डग को 1250, झालरापाटन को 1400, खानपुर को 800, मनोहरथाना को 1550, पिड़ावा को 1150 एवं मेडिकल कॉलेज को 625 महिला नसबंदी केस करवाने के निर्देश दिए। प्रत्येक चिकित्सा संस्थान पर जहां प्रसव होते हैं वहां प्रसव का 30 प्रतिशत पीपीआईयूसीडी लगवाने के निर्देश प्रदान किए, साथ ही पुरुष नसबंदी का लक्ष्य भी समय रहते पूर्ण करने के निर्देश दिए। जिन स्वास्थ्य मार्ग दर्शकों के द्वारा एक माह में कार्य में सुधार नहीं किया गया तो उन्हें तत्काल प्रभाव से हटाने के निर्देश प्रदान किए। बैठक में चिकित्सा अधिकारी प्रभारी असनावर के उपस्थित नहीं होने पर व्यक्तिगत तौर पर मंगलवार को मिनी सचिवालय में कलेक्टर के समक्ष उपस्थित होने के निर्देश सीएमएचओ ने दिए। साथ ही जिन चिकित्सा संस्थान के प्रभारी बैठक में उपस्थित नहीं हुए उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किए गए।

प्रसूता के डिस्चार्ज के समय ही राजश्री व जेएसवाई का करंे भुगतान

कम आ रही है कोटपा एक्ट की प्रगति,

कलेक्टर ने कहा कि कोटपा एक्ट की प्रगति कम आ रही है, इसे बढ़ाया जाए। जिला अंधता समिति सद गुरुसेवा संस्थान के साथ मिलकर फरवरी में सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर मोतियाबिन्द ऑपरेशन शिविरों का आयोजन किया जाएगा। बैठक में पूर्व मीटिंग की कार्य पालना, अक्षदा कार्यक्रम, कुपोषण उपचार केन्द्र, कुशल मंगल, आरबीएसके, मातृ मृत्यु, क्वालिटी एश्योरेंस, पीसीटीएस, निशुल्क दवा व जांच योजना, पीसीपीएनडीटी, मौसमी बीमारियों एवं अन्य राष्ट्रीय कार्यक्रमों पर चर्चा की गई।