--Advertisement--

चौमहला से आए मिक्स चने के दो ट्रकाें की जांच

चने की ज्यादा आवक, बारदान नहीं होने से सरसों की तुलाई नहीं भवानीमंडी. सरकारी तोल कांटे पर तुलने आए गेहूं की...

Danik Bhaskar | Mar 27, 2018, 02:20 AM IST
चने की ज्यादा आवक, बारदान नहीं होने से सरसों की तुलाई नहीं

भवानीमंडी. सरकारी तोल कांटे पर तुलने आए गेहूं की ढेरियां।

भवानीमंडी| वेयर हाउस में सोमवार को चौमहला गांव क्षेत्र से सरकारी समर्थन मूल्य पर खरीदे गए चने के दो ट्रकों में मिलावटी चना होने से प्रत्येक बेग की जांच की गई। नेफेड के निर्देश हैं कि चने के बेग में 5 प्रतिशत से ज्यादा दूसरी किस्म के चने नहीं होने चाहिए। चौमहला से आए ट्रकों के बेगों की प्रारंभिक जांच में निर्धारित मात्रा से ज्यादा चने मिक्स पाए जाने के बाद, सबकी जांच शुरू कर दी। सर्वेयर जयसिंह ने बताया कि एक-एक बेग की जांच की जा रही है। जिस बेग में 5 प्रतिशत से ज्यादा दूसरे चने मिले रहे हैं, उन्हें वापस किया जा रहा है। इससे कम वालों का जमा किया जा रहा है। समाचार लिखे जाने तक भी जांच का कार्य जारी था। उधर, चने का समर्थन मूल्य 4400 रुपए, बाजार भाव से भी करीब एक हजार रुपए ज्यादा होने से सरकारी तौल कांटें पर चना तुलाई के लिए किसानों की भीड़ लगी हुई है। आज करीब 700 बेग चने आए। जबकि सरसों का बारदान नहीं आने से उसकी तुलाई अभी तक भी शुरू नहीं हो सकी। करीब 250 बेग सरसों तुलने आई थी। बारदान के अभाव में उनकी तुलाई नहीं हो सकी। गेहूं के बाजार भाव में ज्यादा अंतर नहीं होने से उसकी आवक एकदम कम बनी हुई है। आज करीब 220 बेग गेहूं ही तुलने आए।