Hindi News »Rajasthan »Bhawani Mandi» राजगढ़ डूब विस्थापितों के लिए लाॅटरी पुनर्वास स्थल पर बिजली-पानी की मांग

राजगढ़ डूब विस्थापितों के लिए लाॅटरी पुनर्वास स्थल पर बिजली-पानी की मांग

निर्माणाधीन राजगढ़ सिंचाई बांध के डूब क्षेत्र के ग्रामीणों के लिए सोमवार को पुनर्वास के लिए लाटरी और मांगें पूरी...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 20, 2018, 02:25 AM IST

राजगढ़ डूब विस्थापितों के लिए लाॅटरी पुनर्वास स्थल पर बिजली-पानी की मांग
निर्माणाधीन राजगढ़ सिंचाई बांध के डूब क्षेत्र के ग्रामीणों के लिए सोमवार को पुनर्वास के लिए लाटरी और मांगें पूरी हुए बिना बांध में पानी नहीं रोकने देने के दोनों के प्रदर्शन एक साथ हुए।

जल संसाधन विभाग ने सोमवार को डूब क्षेत्र के धतुरिया कलां के 238 और अरन्याखेड़ी के 10 परिवारों के लिए अरन्याखेड़ी पुनर्वास काॅलोनी में भूखंड के लिए लाॅटरी निकाली। अब ग्राम सभा में इसका प्रस्ताव पारित कर लाभान्वित ग्रामीणों को मौके पर भूखंड का कब्जा संभलाया जाएगा। गौरतलब है कि राजगढ़ डूब क्षेत्र के 850 परिवारों का पुनर्वास किया जाना है। इनमें से करीब 200 परिवारों को पहले ही भूखंड दिए जा चुके थे। 248 परिवारों के लिए सोमवार को लाॅटरी निकाली गई। शेष धतूरिया कलां के 170 और काेचरियाखेड़ी के 165 परिवारों के लिए मंगलवार को जल संसाधन विभाग परिसर में भूखंड के लिए लाॅटरी निकाली जाएगी। लाॅटरी के दौरान पिड़ावा एसडीएम राकेश मीणा, राजगढ़ बांध एक्सईएन अजयकुमार त्यागी, एईएन आरके गुप्ता, कमलेश मीणा, शशि चतुर्वेदी आदि मौजूद थे।

भवानीमंडी. राजगढ़ बांध डूब क्षेत्र के नागरिक पुनर्वास काॅलोनी में भूखंड आवंटन लाॅटरी में हिस्सा लेते हुए।

भवानीमंडी. मांगांे को लेकर एसडीएम को ज्ञापन देते राजगढ़ डूब क्षेत्र के किसान।

मांग पूरी नहीं हुई तो बांध नहीं भरने देंगे

भारतीय किसान संघ के नेतृत्व में सोमवार को राजगढ़ डूब प्रभावित गांवों के लोग एसडीएम को ज्ञापन देने पहुंचे। भवानीमंडी में पिड़ावा एसडीएम राकेश मीणा तैनात थे। कुछ देर तक एसडीएम ज्ञापन देने अपने कक्ष से बाहर नहीं आए तो किसानों ने नारेबाजी कर विरोध जताया। बाद में ज्ञापन दिया। किसान संघ नेताओं ने कहा कि प्रशासन किसानों को नई जगह केवल लाइनिंग करके भूखंड दे रहा है। वहां पर सड़क-नाली आदि कुछ नहीं बनाया गया है। किसानों की बाकी मांगों का भी कोई हल नहीं निकला है। किसान नेताओं ने चेताया कि भले ही बांध का काम जारी रहे, लेकिन वे बांध में पानी भरने के लिए इसके बहाव मार्ग की नदी में मिट्टी डालकर पानी को तब तक नहीं रोकने देंगे, जब तक कि उनकी मांगें पूरी नहीं हो जाएं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bhawani Mandi

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×