--Advertisement--

सदैव प्रसन्न रहना ही ईश्वर की भक्ति: प्रेम नारायण

Bhawani Mandi News - श्री कृष्ण जन्म उत्सव मनाया असनावर.पनवासामें चल रही श्रीमद् भागवत कथा के चतुर्थ दिवस की कथा में पंडित जगमोहन...

Dainik Bhaskar

Jan 05, 2018, 02:25 AM IST
सदैव प्रसन्न रहना ही ईश्वर की भक्ति: प्रेम नारायण
श्री कृष्ण जन्म उत्सव मनाया

असनावर.पनवासामें चल रही श्रीमद् भागवत कथा के चतुर्थ दिवस की कथा में पंडित जगमोहन शास्त्री ने बताया कि जब कंस देवकी ओर वासुदेव को विदा कर रहे थे तब आसमान से आवाज हुई और उस आकाशवाणी ने कहा कि कंस तू जिसको आज विदा कर रहा है उसी देवकी का आठवां पुत्र तेरा काल होगा। साथ ही शास्त्री ने बताया कि कंस के पहरे दारों का मूर्छा जाना और यमुना का जल में उफान आना साथ ही अन्य लीलाओं का वृतांत समझाया। जैसे ही वासुदेव श्रीकृष्ण को टोकरी में लेकर पांडाल में आए तो भक्तगण झूम उठे और नांचने लगे। नंद घर आनंद भयो जय कन्हैया लाल की बोलने लगे। शास्त्री ने बताया कि मनुष्य को कर्म करते रहना चाहिए उसे कभी लोभ लालच नही करना चाहिए।

सुदामाचरित्र पर कथा हुई

झालावाड़.शहरकी हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में चल रही श्रीमद् भागवत कथा के 7वें दिन आचार्य जगमोहन शास्त्री ने सुदामा चरित्र की कथा श्रवण कराई और अन्य कथाओं का रसोपान भी कराया। भक्तगण ने भाव विभोर होकर कथा सुनी।

अकलेरा.उगेणागांव में चल रही श्रीमद् भागवत कथा में गुरुवार को पूर्व विधायक कैलाश मीणा कार्यकर्ताओं के साथ भाग लेकर श्रवण किया। पंडित मनीष कुमार नागर इसमें प्रवचन कर रहे हैं। बड़ी संख्या में श्रद्धालु रहे हैं।

मनोहरथाना. कामखेड़ा में चल रही भागवत कथा में उपस्थित श्रद्धालु।

डग. गायत्री मन्दिर पर प्रवचन देते संत एवं उपस्थित श्रद्धालु।

झालावाड़. भागवत कथा में कथा करती कथावाचक।

झालावाड़. शहर के हाउसिंग बोर्ड में चल रही भागवत कथा में उपस्थित महिलाएं।

भवानीमंडी. भागवत् कथा का वाचन करते वृंदावन के नीरज कृष्ण महाराज।

भवानीमंडी. माहेश्वरी समाज के तत्वावधान में आयोजित भागवत कथा पर निकाली गई कलश यात्रा।

X
सदैव प्रसन्न रहना ही ईश्वर की भक्ति: प्रेम नारायण
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..