• Hindi News
  • Rajasthan
  • Bhawani Mandi
  • संस्कारी व्यक्ति काे हर जगह सम्मान ही मिलता है: मंझले मुरारी बापू
--Advertisement--

संस्कारी व्यक्ति काे हर जगह सम्मान ही मिलता है: मंझले मुरारी बापू

Bhawani Mandi News - नवलख किला स्थित आनन्द धाम पर शनिवार रात्रि को आयोजित भजन संध्या में अखिल भारतीय भजन गायक अनिल सेन ने एक से बढ़कर एक...

Dainik Bhaskar

Feb 05, 2018, 02:30 AM IST
संस्कारी व्यक्ति काे हर जगह सम्मान ही मिलता है: मंझले मुरारी बापू
नवलख किला स्थित आनन्द धाम पर शनिवार रात्रि को आयोजित भजन संध्या में अखिल भारतीय भजन गायक अनिल सेन ने एक से बढ़कर एक भजन सुनाकर श्रोताओं को देर रात्रि तक बांधे रखा। भजन संध्या का शुभारंभ मुख्य अतिथि भाजपा जिलाध्यक्ष संजय जैन ताऊ, विशिष्ट अतिथि भाजपा मण्डल अध्यक्ष महेश बटवानी ने किया। जबकि अध्यक्षता जिला महामंत्री डाॅ. राजेश शर्मा ने की। भजन गायक अनिल सेन ने गणेश वंदना के साथ भजन गुरुदेव दया करके, मुझको अपना लेना... से गुरुवंदना की। इसके बाद कलयुग में आज उल्टी गंगा बह रही... भजन से वर्तमान परिस्थितियों पर कटाक्ष किया। वहीं अपना पसंदीदा गीत बरस-बरस म्हारा इन्दर राजा, वाहे रे म्हारा मोदी जी काॅई रोक लगा दी, म्हारो हेलो सुनो जी रामा पीर, सात समुंदर लांघ गयो, मंगल भवन अमंगल हारी आदि भजनों के साथ उन्होंने राजा भर्तृहरि, रजवाड़ी, माड़ एवं फागोत्सव पर आधारित होली के कई भजन सुनाए। इस दौरान मयूर नृत्य, हनुमान एवं रामदेवजी के घोड़े के साथ नृत्य सजीव झांकी से श्रोताओं का मनोरंजन भी किया।

संस्कारवान व्यक्ति की समाज में पूजा होती है: मंझले मुरारी बापू :झालरापाटन. नवलखा किला स्थित आनन्द धाम मंदिर पर रविवार को अंतिम दिन कथावाचक मंझले मुरारी बापू ने कहा कि समाज में संस्कारी व्यक्ति का हर जगह सम्मान होता है, पूजा होती है। गरीबी-अमीरी कुछ मायने नहीं रखती है। यदि संस्कार अच्छे हों तो उस व्यक्ति को समाज में हर जगह सम्मान मिलता है, लोग उसकी पूजा करते हैं। उन्होंने कहा कि माता-पिता का रूप ही बच्चा होता है। माता-पिता के संस्कार ही बच्चे में आते हैं। भाई और बहन का रिश्ता अति प्रगाढ़ होता है। जब भाई अपनी बहन के यहां टीका करवाने जाता है तो श्रद्धा से अपनी बहन को जो कुछ उसके पास होता है, दे जाता है। अंत में उन्होंने बताया कि ब्राह्मण को दिया हुआ दान नहीं लेना चाहिए।

नित्यानंद महाराज की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा: आनन्द धाम मंदिर में रविवार को दोपहर पूर्ण विधि विधान के साथ ब्रह्मलीन महाराज 1008 नित्यानन्द महाराज की मूर्ति की मंदिर परिसर में प्राण प्रतिष्ठा की गई। इस अवसर पर कमल सेन, लक्ष्मीकांत गोयल, कविम जैन, मनोज खण्डेलवाल, कमल खमौरा, अनिल कसेरा, मुकेश सक्सेना, विश्वास शर्मा, राधेश्याम आचोलिया, आनन्द धाम के शास्त्री रामकुमार आदि मौजूद रहे।

धूमधाम से मनाया कृष्ण जन्मोत्सव : रायपुर. सोयला में भागवत कथा के चाैथे दिन कृष्ण जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया। पांडाल में भगवान के जन्मोत्सव पर पुष्प वर्षा कर मंगल गीत गाए। जय कन्हैया लाल की... जय घोष के साथ कृष्ण जन्मोत्सव मनाया। कथावाचक पंडित दीपक शास्त्री ने कहा कि भगवान पाप का नाश करने के लिए जन्म लेते हैं। भक्ति ही शक्ति है। भक्ति कहीं भी की जा सकती है, यह कोई मंदिर में ही नहीं मिलती। मनुष्य जहां भी समय मिले भक्ति करे। नर में ही नारायण है। घट-घट में भगवान है इसलिए इंसान से लेकर जानवर तक किसी को भी न सताएं क्योंकि सताने वालों को परिणाम भुगतना पड़ता है।

आवर. जाजनी में चल रही भागवत कथा के दौरान रविवार को चौथे दिन कृष्ण जन्मोत्सव मनाया गया। इस दौरान बड़ी संख्या में श्रद्धालु मौजूद रहे। कथा वाचक पं. गोपाल पुरोहित ने बड़े ही रोचक ढंग से जेल में कृष्ण जन्मोत्सव का प्रसंग एवं जेल प्रहरियों के अचेत होने के बाद उफनती यमुना नदी को पार कर कृष्ण को गोकुल में छोड़ने का प्रसंग सुनाया। इसकी जीवंत झांकी भी सजाई गई। पांडाल में कृष्ण बने बालक को टोकरे में बिठाकर वासुदेव ने पूरे पांडाल में घुमाया। भजनों पर श्रद्धालुओं ने नृत्य किया। कथावाचक ने कृष्ण बने बालक की पूजा कर अभिनंदन किया। कथा के दौरान भाजयुमो के मिश्रौली मंडल अध्यक्ष मांगूसिंह चौहान, युवा कांग्रेस डग विधानसभा महासचिव विष्णु व्यास, मदनसिंह, तूफानसिंह मौजूद रहे।

उन्हैल. बेडला में चल रही संगीतमय भागवत कथा में बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचे। रविवार को चौथे दिन कथावाचक पंडित शांतिलाल व्यास ने हिरण्यकश्यप वध एवं कृष्ण जन्मोत्सव का वर्णन किया। उन्होंने बताया कि गोविंद के भजन से ही मोक्ष संभव है। इंसान की दिनचर्या के बारे में विस्तार से बताया। कहा कि इंसान को 24 घंटों में से कुछ समय ईश्वर भक्ति में लगाना चाहिए। उन्होंने दान के महत्व को समझाते हुए दान-पुण्य करने की प्रेरणा दी। उन्होंने कहा कि जब-जब पाप बढ़ता है। परमात्मा जरूर अवतरित होते हैं। बुराई पर अच्छाई की विजय होती है। इस अवसर पर कृष्ण जन्म की झांकी सजाई गई। कथा में बेडला, कागड़िया, बर्डियाबीरजी, चिश्तिपुरा, मल्हारगंज से बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचे।

रामलीला में राम बारात का मंचन:अकलेरा. घाटोली पंचायत मुख्यालय पर ग्राम चबूतरा रामलीला मंडल के तत्वावधान में रामलीला का मंचन किया जा रहा है। इसमें आसपास के ग्रामीण श्रृद्धालुओं की भीड़ उमड़ रही है। रामलीला के अध्यक्ष रघुनंदन गुप्ता ने बताया कि रामलीला का समापन 10 फरवरी को होगा। शनिवार को राम विवाह का मंचन किया गया। राम बारात ग्राम चबूतरा मंदिर से हाट चाैक पहुंची। रामलीला में रविवार को केकई और मंथरा संवाद हुआ। सोमवार को सीता हरण का मंचन किया जाएगा।

झालरापाटन. भजनों की प्रस्तुति देते हुए कलाकार।

भवानीमंडी. रामकथा का वाचन करते मनु महाराज।

उन्हैल. कथा का श्रवण करने पहुंची श्रद्धालुओं की भीड़।

भास्कर न्यूज | झालरापाटन

नवलख किला स्थित आनन्द धाम पर शनिवार रात्रि को आयोजित भजन संध्या में अखिल भारतीय भजन गायक अनिल सेन ने एक से बढ़कर एक भजन सुनाकर श्रोताओं को देर रात्रि तक बांधे रखा। भजन संध्या का शुभारंभ मुख्य अतिथि भाजपा जिलाध्यक्ष संजय जैन ताऊ, विशिष्ट अतिथि भाजपा मण्डल अध्यक्ष महेश बटवानी ने किया। जबकि अध्यक्षता जिला महामंत्री डाॅ. राजेश शर्मा ने की। भजन गायक अनिल सेन ने गणेश वंदना के साथ भजन गुरुदेव दया करके, मुझको अपना लेना... से गुरुवंदना की। इसके बाद कलयुग में आज उल्टी गंगा बह रही... भजन से वर्तमान परिस्थितियों पर कटाक्ष किया। वहीं अपना पसंदीदा गीत बरस-बरस म्हारा इन्दर राजा, वाहे रे म्हारा मोदी जी काॅई रोक लगा दी, म्हारो हेलो सुनो जी रामा पीर, सात समुंदर लांघ गयो, मंगल भवन अमंगल हारी आदि भजनों के साथ उन्होंने राजा भर्तृहरि, रजवाड़ी, माड़ एवं फागोत्सव पर आधारित होली के कई भजन सुनाए। इस दौरान मयूर नृत्य, हनुमान एवं रामदेवजी के घोड़े के साथ नृत्य सजीव झांकी से श्रोताओं का मनोरंजन भी किया।

संस्कारवान व्यक्ति की समाज में पूजा होती है: मंझले मुरारी बापू :झालरापाटन. नवलखा किला स्थित आनन्द धाम मंदिर पर रविवार को अंतिम दिन कथावाचक मंझले मुरारी बापू ने कहा कि समाज में संस्कारी व्यक्ति का हर जगह सम्मान होता है, पूजा होती है। गरीबी-अमीरी कुछ मायने नहीं रखती है। यदि संस्कार अच्छे हों तो उस व्यक्ति को समाज में हर जगह सम्मान मिलता है, लोग उसकी पूजा करते हैं। उन्होंने कहा कि माता-पिता का रूप ही बच्चा होता है। माता-पिता के संस्कार ही बच्चे में आते हैं। भाई और बहन का रिश्ता अति प्रगाढ़ होता है। जब भाई अपनी बहन के यहां टीका करवाने जाता है तो श्रद्धा से अपनी बहन को जो कुछ उसके पास होता है, दे जाता है। अंत में उन्होंने बताया कि ब्राह्मण को दिया हुआ दान नहीं लेना चाहिए।

नित्यानंद महाराज की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा: आनन्द धाम मंदिर में रविवार को दोपहर पूर्ण विधि विधान के साथ ब्रह्मलीन महाराज 1008 नित्यानन्द महाराज की मूर्ति की मंदिर परिसर में प्राण प्रतिष्ठा की गई। इस अवसर पर कमल सेन, लक्ष्मीकांत गोयल, कविम जैन, मनोज खण्डेलवाल, कमल खमौरा, अनिल कसेरा, मुकेश सक्सेना, विश्वास शर्मा, राधेश्याम आचोलिया, आनन्द धाम के शास्त्री रामकुमार आदि मौजूद रहे।

धूमधाम से मनाया कृष्ण जन्मोत्सव : रायपुर. सोयला में भागवत कथा के चाैथे दिन कृष्ण जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया। पांडाल में भगवान के जन्मोत्सव पर पुष्प वर्षा कर मंगल गीत गाए। जय कन्हैया लाल की... जय घोष के साथ कृष्ण जन्मोत्सव मनाया। कथावाचक पंडित दीपक शास्त्री ने कहा कि भगवान पाप का नाश करने के लिए जन्म लेते हैं। भक्ति ही शक्ति है। भक्ति कहीं भी की जा सकती है, यह कोई मंदिर में ही नहीं मिलती। मनुष्य जहां भी समय मिले भक्ति करे। नर में ही नारायण है। घट-घट में भगवान है इसलिए इंसान से लेकर जानवर तक किसी को भी न सताएं क्योंकि सताने वालों को परिणाम भुगतना पड़ता है।

आवर. जाजनी में चल रही भागवत कथा के दौरान रविवार को चौथे दिन कृष्ण जन्मोत्सव मनाया गया। इस दौरान बड़ी संख्या में श्रद्धालु मौजूद रहे। कथा वाचक पं. गोपाल पुरोहित ने बड़े ही रोचक ढंग से जेल में कृष्ण जन्मोत्सव का प्रसंग एवं जेल प्रहरियों के अचेत होने के बाद उफनती यमुना नदी को पार कर कृष्ण को गोकुल में छोड़ने का प्रसंग सुनाया। इसकी जीवंत झांकी भी सजाई गई। पांडाल में कृष्ण बने बालक को टोकरे में बिठाकर वासुदेव ने पूरे पांडाल में घुमाया। भजनों पर श्रद्धालुओं ने नृत्य किया। कथावाचक ने कृष्ण बने बालक की पूजा कर अभिनंदन किया। कथा के दौरान भाजयुमो के मिश्रौली मंडल अध्यक्ष मांगूसिंह चौहान, युवा कांग्रेस डग विधानसभा महासचिव विष्णु व्यास, मदनसिंह, तूफानसिंह मौजूद रहे।

उन्हैल. बेडला में चल रही संगीतमय भागवत कथा में बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचे। रविवार को चौथे दिन कथावाचक पंडित शांतिलाल व्यास ने हिरण्यकश्यप वध एवं कृष्ण जन्मोत्सव का वर्णन किया। उन्होंने बताया कि गोविंद के भजन से ही मोक्ष संभव है। इंसान की दिनचर्या के बारे में विस्तार से बताया। कहा कि इंसान को 24 घंटों में से कुछ समय ईश्वर भक्ति में लगाना चाहिए। उन्होंने दान के महत्व को समझाते हुए दान-पुण्य करने की प्रेरणा दी। उन्होंने कहा कि जब-जब पाप बढ़ता है। परमात्मा जरूर अवतरित होते हैं। बुराई पर अच्छाई की विजय होती है। इस अवसर पर कृष्ण जन्म की झांकी सजाई गई। कथा में बेडला, कागड़िया, बर्डियाबीरजी, चिश्तिपुरा, मल्हारगंज से बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचे।

रामलीला में राम बारात का मंचन:अकलेरा. घाटोली पंचायत मुख्यालय पर ग्राम चबूतरा रामलीला मंडल के तत्वावधान में रामलीला का मंचन किया जा रहा है। इसमें आसपास के ग्रामीण श्रृद्धालुओं की भीड़ उमड़ रही है। रामलीला के अध्यक्ष रघुनंदन गुप्ता ने बताया कि रामलीला का समापन 10 फरवरी को होगा। शनिवार को राम विवाह का मंचन किया गया। राम बारात ग्राम चबूतरा मंदिर से हाट चाैक पहुंची। रामलीला में रविवार को केकई और मंथरा संवाद हुआ। सोमवार को सीता हरण का मंचन किया जाएगा।

रायपुर. कथा के श्रवण के लिए पहुंची श्रद्धालुओं की भीड़।

भवानीमंडी. रामकथा में उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़।

रामकथा का समापन आज, मंदिर पर स्वर्ण कलश चढ़ेगा

भवानीमंडी| मगनभाई काॅलोनी में जारी श्रीराम कथा के अंतिम दिन सोमवार सुबह हवन पूजन होकर वहां स्थित हनुमान मंदिर पर स्वर्ण कलश चढ़ाया जाएगा। इसके बाद महाप्रसादी का वितरण होगा। रविवार को कथा में काफी तादाद में श्रद्धालु आए। कथावाचक मनु महाराज ने रामकथा के विभिन्न प्रसंग सुनाए। इस दौरान भजन गायन पर वहां मौजूद श्रद्धालु नाच उठे।

X
संस्कारी व्यक्ति काे हर जगह सम्मान ही मिलता है: मंझले मुरारी बापू
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..