--Advertisement--

भवानीमंडी में रीको को विस्तार के लिए नहीं मिल रही है जमीन

भवानीमंडी शहर का लघु उद्योग विस्तार ठहर सा गया है। नई फैक्ट्रियां रीको एरिये में लगाई जा सकती हैं, लेकिन वहां पर नई...

Danik Bhaskar | Feb 05, 2018, 02:30 AM IST
भवानीमंडी शहर का लघु उद्योग विस्तार ठहर सा गया है। नई फैक्ट्रियां रीको एरिये में लगाई जा सकती हैं, लेकिन वहां पर नई फैक्ट्रियों के लिए जगह ही नहीं बची है। रीको के क्षेत्रीय कार्यवाहक प्रबंधक विक्रमादित्य मोढ़ ने बताया कि रीको के लिए नई जमीन मिल नहीं रही है। चारागाह भूमि मिलती है तो उसके बदले में उतनी ही जमीन उपलब्ध करवानी पड़ती है। यह भी नहीं हो रहा है। निजी जमीन की अवाप्ति करो तो नए नियमों में अधिग्रहण करना भी मुश्किल हो रहा है।

सफेदा ने खड़ी की परेशानी, हादसे का खतरा भी: स्थानीय रीको इंडस्ट्रीज एरिये को विस्तार की दरकार है। लेकिन कोटा स्टोन फैक्ट्री मालिकों ने सड़क किनारे खाली पड़ी जमीन पर घिसाई से निकला सफेदा (सिल्ट) डालना शुरू कर दिया है। जो सड़क किनारे तक फैल गया और उड़कर आस-पास की फैक्ट्री मालिकों के लिए परेशानी का सबब बना हुआ है। पिछले दिनों रीको प्रशासन ने इस सिल्ट को डालने के लिए गोशाला में बने गड्ढे को भरने के लिए वहां पर डंपिंग यार्ड बना दिया था। सभी फैक्ट्री मालिकों से अपने यहां से निकले सफेदा को गोशाला में डलवाने को कहा था, लेकिन फैक्ट्री मालिकों ने गोशाला तक की दूरी अधिक पड़ने की बात कहते हुए सफेदा रीको क्षेत्र में एकदम मेगा हाइवे किनारे ही फेंकना जारी रखा। उधर, यह सफेदा फैलकर सड़क किनारे तक आ गया है। इसके साथ ही आस-पास के लोगों ने गुमटियां रखकर अतिक्रमण करना भी शुरू कर दिया है, जिससे इस जगह सड़क दुर्घटना का खतरा बढ़ गया है।

भवानीमंडी की समस्या

सड़क किनारे तक डाला सफेदा, गोशाला स्थित डंपिंग यार्ड का नहीं किया उपयोग

भवानीमंडी. सड़क किनारे तक डाला जा रहा कोटा स्टोन घिसाई का सफेदा।