--Advertisement--

28 हजार एमटी गेहूं खरीदने का लक्ष्य, तुलाई की सूचना नहीं

भारतीय खाद्य निगम को इस साल 28 हजार एमटी गेहूं खरीदने का लक्ष्य मिला है। गत वर्ष उसने करीब 24 हजार एमटी गेहूं खरीदा...

Danik Bhaskar | Feb 17, 2018, 02:30 AM IST
भारतीय खाद्य निगम को इस साल 28 हजार एमटी गेहूं खरीदने का लक्ष्य मिला है। गत वर्ष उसने करीब 24 हजार एमटी गेहूं खरीदा था। गेहूं का समर्थन मूल्य 1735 रुपए प्रति क्विंटल घोषित हुआ है, जबकि गत वर्ष यह 1625 रुपए प्रति किलो है। गेहूं तुलाई 15 मार्च से शुरू हो गई थी। एफसीआई प्रबंधक राकेश मीणा ने बताया कि झालावाड़ जिले में एफसीआई और राजफेड मिलकर गेहूं की खरीदी करेंगे, लेकिन इसके तौल केंद्र कहां-कहां और कब से शुरू होंगे, इस बारे में अभी कोई आदेश नहीं आए हैं। कृषिमंडी में शुक्रवार को नए गेहूं ने दस्तक दे दी। करीब 50 बोरी नया गेहूं बिकने आया। (शेष|14 पर)

सरकारी खरीद

भवानीमंडी में नए गेहूं की आवक शुरू, 1735 रुपए घोषित है समर्थन मूल्य

भवानीमंडी. कृषिमंडी में जिंसों की आवक कम बनी हुई है। नए गेहूं की भी आवक शुरू हो गई है।

पड़ोस के एमपी में भावांतर में शुरू हुआ पंजीयन

पड़ोस के एमपी में खरीफ फसल उड़द, सोयाबीन की तरह ही रबी की चना और गेहूं की खरीदी भी भावांतर योजना के तहत होगी। इसके लिए गत 12 फरवरी से ही संबंधित समितियों में पंजीयन शुरू हो गया है। भवानीमंडी की कृषिमंडी में पड़ोस के एमपी से भी काफी मात्रा में कृषि जिंस बिकने आती रही है, लेकिन वहां पर इस साल से भावांतर योजना चालू हो जाने से वहां की आवक बंद हो जाने से उसका असर कृषिमंडी पर आ गया है। यहां पर एमपी की जिंस आवक कम हो गई है।