Hindi News »Rajasthan »Bhawani Mandi» राजगढ़ बांध का काम बंद कराकर किसानों ने शुरू किया महापड़ाव, सिंचित दर से मांगा मुआवजा

राजगढ़ बांध का काम बंद कराकर किसानों ने शुरू किया महापड़ाव, सिंचित दर से मांगा मुआवजा

भास्कर न्यूज| भवानीमंडी/ मिश्रोली. भारतीय किसान संघ के नेतृत्व में प्रभावित किसानों ने बुधवार से निर्माणाधीन...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jan 18, 2018, 02:35 AM IST

भास्कर न्यूज| भवानीमंडी/ मिश्रोली.

भारतीय किसान संघ के नेतृत्व में प्रभावित किसानों ने बुधवार से निर्माणाधीन राजगढ़ बांध स्थल पर बेमियादी महापड़ाव शुरू कर दिया। प्रदर्शनकारियों ने बांध का काम भी बंद करवा दिया। देर शाम 7 बजे तक भी प्रशासन समझाइश कर पड़ाव हटाने में जुटा था, लेकिन प्रदर्शनकारियों ने साफ कह दिया कि जब तक सरकार का कोई प्रतिनिधि आकर आश्वस्त नहीं कर देता तब तक पड़ाव जारी रहेगा और बांध का काम भी बंद रहेगा।

भारतीय किसान संघ कि प्रभावित किसानों को वर्तमान सिंचित दर से मुआवजा दिलाने आदि की मांग है। प्रशासन इसे लेकर पूर्व में भी किसानों के साथ बैठक कर चुका है, जिसमें एसडीएम राकेश मीणा, भूमि अवाप्ति अधिकारी पुष्पा हिरवानी और राजगढ़ बांध एक्सईएन अजय कुमार त्यागी ने प्रचलित नियम अनुसार ही मुआवजा देने की बात कही थी। किसानों की नियमों के विपरीत मांगों को राज्य सरकार के पास भेजने को कहा था, लेकिन इन मांगों की किसी भी स्तर पर कोई पूर्ति नहीं होने पर किसान संघ के प्रांतीय उपाध्यक्ष रघुनाथसिंह, तहसील अध्यक्ष रोडूलाल पटेल और उपाध्यक्ष पीरूसिंह पंवार ने एसडीएम को ज्ञापन देकर महापड़ाव की चेतावनी दी थी।

किसान नेताओं के नेतृत्व में प्रभावित किसान परिवार बुधवार सुबह से बांध स्थल पर आ डटे। एसडीएम मीणा व अन्य अधिकारी तथा भवानीमंडी पुलिसथाना सीआई सुनीलकुमार भी मौके पर पहुंच गए।

भवानीमंडी. राजगढ़ बांध पर मुआवजे की मांग को लेकर पड़ाव डाले बैठे किसान।

भास्कर न्यूज| भवानीमंडी/ मिश्रोली.

भारतीय किसान संघ के नेतृत्व में प्रभावित किसानों ने बुधवार से निर्माणाधीन राजगढ़ बांध स्थल पर बेमियादी महापड़ाव शुरू कर दिया। प्रदर्शनकारियों ने बांध का काम भी बंद करवा दिया। देर शाम 7 बजे तक भी प्रशासन समझाइश कर पड़ाव हटाने में जुटा था, लेकिन प्रदर्शनकारियों ने साफ कह दिया कि जब तक सरकार का कोई प्रतिनिधि आकर आश्वस्त नहीं कर देता तब तक पड़ाव जारी रहेगा और बांध का काम भी बंद रहेगा।

भारतीय किसान संघ कि प्रभावित किसानों को वर्तमान सिंचित दर से मुआवजा दिलाने आदि की मांग है। प्रशासन इसे लेकर पूर्व में भी किसानों के साथ बैठक कर चुका है, जिसमें एसडीएम राकेश मीणा, भूमि अवाप्ति अधिकारी पुष्पा हिरवानी और राजगढ़ बांध एक्सईएन अजय कुमार त्यागी ने प्रचलित नियम अनुसार ही मुआवजा देने की बात कही थी। किसानों की नियमों के विपरीत मांगों को राज्य सरकार के पास भेजने को कहा था, लेकिन इन मांगों की किसी भी स्तर पर कोई पूर्ति नहीं होने पर किसान संघ के प्रांतीय उपाध्यक्ष रघुनाथसिंह, तहसील अध्यक्ष रोडूलाल पटेल और उपाध्यक्ष पीरूसिंह पंवार ने एसडीएम को ज्ञापन देकर महापड़ाव की चेतावनी दी थी।

किसान नेताओं के नेतृत्व में प्रभावित किसान परिवार बुधवार सुबह से बांध स्थल पर आ डटे। एसडीएम मीणा व अन्य अधिकारी तथा भवानीमंडी पुलिसथाना सीआई सुनीलकुमार भी मौके पर पहुंच गए।

जब तक मंत्री या अन्य कोई प्रतिनिधि संतुष्ट नहीं कर देता पड़ाव जारी रहेगा

भवानीमंडी|
बांध स्थल से प्रदेश उपाध्यक्ष रुघनाथसिंह ठेकेदार ने बताया कि किसानों की जमीन की खरीद-फरोख्त की रजिस्ट्री तो सिंचित के हिसाब से की जाती है, लेकिन उन्हें मुआवजा असिंचित की दर से दिया जा रहा है। प्रशासन ने वार्ता में कहा है कि वे बांध का काम चलने दें, लेकिन हमने मना कर दिया। उधर, प्रशासन का कहना है कि मुआवजा वितरण में रिकॉर्ड में सिंचित भूमि उसे ही माना जाता है, जिसमें विधिवत तरीके से सिंचाई के लिए विद्युत कनेक्शन लेकर सिंचाई की हुई हो। रिकॉर्ड में मौके पर कुआं आदि हो। इस प्रकरण को सरकार के पास भेजा हुआ है। यह मांग स्थानीय प्रशासन की बजाय सरकार स्तर पर ही तय हो सकती है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bhawani Mandi

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×