--Advertisement--

नलों में टोंटियां लगवाईं, पानी टंकी में लगवाया ढक्कन

शहर में में टोंटी विहीन नलों से व्यर्थ बह रहे व सड़कों पर छिड़काव किए जा रहे पानी के मामले को प्रशासन ने गंभीरता से...

Danik Bhaskar | Mar 24, 2018, 02:40 AM IST
शहर में में टोंटी विहीन नलों से व्यर्थ बह रहे व सड़कों पर छिड़काव किए जा रहे पानी के मामले को प्रशासन ने गंभीरता से लिया है।

भास्कर ने पेयजल स्त्रोत पिपलाद बांध में जल स्तर 16 फीट पर पहुंचने और इससे ही आगे तीन माह तक जलापूर्ति बनाए रखने की जानकारी दी थी। एसडीएम राकेश मीणा ने बताया कि शुक्रवार सुबह जलदाय विभाग एईएन राजेंद्र खंडेलवाल व उनकी टीम ने भवानीमंडी में भ्रमण कर टोंटी विहीन नलों के मामले में कार्रवाई की। जलदाय कर्मियों ने विभिन्न मोहल्लों में भ्रमण कर जिन नलों में टोंटिया नहीं थी, वहां के उपभोक्ताओं को बुलवाकर उनके नलों में टोंटी लगाकर उसका चार्ज वसूला। इसके अलावा जो लोग पानी को व्यर्थ बहा रहे थे।

खबरों का असर

भवानीमंडी और आवर में भास्कर की खबर पर हरकत में आया जलदाल विभाग

भवानीमंडी. टोंटिया लगाते जलदायकर्मी।

जलदाय विभाग ने पानी का सैंपल लिया

अावर. बालिका माध्यमिक स्कूल परिसर में जलापूर्ति के लिए बनाई टंकी के टूटे ढक्कन के चलते टंकी में गंदगी होने से मटमैले पानी की आपूर्ति की शिकायतें आ रही थी। शुक्रवार को भास्कर में खबर प्रकाशित हुई थी। जिसके बाद ग्राम पंचायत द्वारा टंकी का ढक्कन वेल्डिंग करवाकर बंद करवा दिया गया। पानी के मटमैले होने की शिकायत पर जलदाय विभाग के कर्मचारियों द्वारा टंकी के पानी एवं गागरिन पेयजल परियोजना से आ रहे पानी का सैंपल लिया। परियोजना से आ रहा पानी शुद्ध है, लेकिन टंकी में मिलने के बाद यह खराब और मटमैला हो रहा है। मौके पर ग्रामीणों ने टंकी की सफाई करवाने की मांग की।