Hindi News »Rajasthan »Bhawani Mandi» बाल-विवाह रोकने में सबका सहयोग जरूरी: चौधरी

बाल-विवाह रोकने में सबका सहयोग जरूरी: चौधरी

जिले में बाल विवाह रोकथाम के लिए जिला एवं सेशन न्यायाधीश डॉ. राजेंद्र सिंह चौधरी की अध्यक्षता में गुरुवार को...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 06, 2018, 02:50 AM IST

बाल-विवाह रोकने में सबका सहयोग जरूरी: चौधरी
जिले में बाल विवाह रोकथाम के लिए जिला एवं सेशन न्यायाधीश डॉ. राजेंद्र सिंह चौधरी की अध्यक्षता में गुरुवार को ब्लॉकस्तर तक के जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों और विवाह आयोजन से जुड़े सभी व्यवसायियों की बैठक का आयोजन अटल सेवा केंद्र में वीसी के माध्यम से किया गया।

बाल विवाह रोकथाम के लिए आयोजित बैठक को संबोधित करते हुए जिला एवं सेशन न्यायाधीश ने कहा कि बाल विवाह रोकने के लिए सभी सरकारी अधिकारी एवं विवाह आयोजन से जुड़ी संस्थाएं एवं गणमान्य नागरिक मिलकर जिले पर लगे बाल-विवाह के दाग को पूरी तरह से मिटाने का संकल्प लें। उन्होंने कहा कि इस सामाजिक बुराई को मिटाने में सरकार के साथ आमजन की भागीदारी भी अत्यावश्यक है। इस दौरान उन्होंने कानूनी जानकारी से भी अवगत कराया। बैठक के दौरान कलेक्टर डॉ. जितेन्द्र कुमार सोनी ने कहा कि जिले में यदि कहीं भी बाल विवाह हुआ तो सीधे तौर पर संबंधित ग्राम सेवक, पटवारी, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहित अन्य लोकसेवकों पर कार्यवाही की जाएगी। बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए इस सामाजिक बुराई को रोकना अनिवार्य है। समस्त उपखण्ड अधिकारियों, विकास अधिकारियों एवं तहसीलदारों सहित अन्य कर्मचारियों एवं अधिकारियों से कहा कि सभी मिलकर विवाह प्रतिशोध अधिनियम 2006 की भावना के मुताबिक काम करें। उन्होंने प्रत्येक ब्लॉक स्तर पर बाल विवाह को रोकने के लिए तीन बैठकें आयोजित करने के निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि बाल विवाह की रोकथाम के लिए विशेष कार्य करने वाले जिले के 100 लोगों को एक बड़े कार्यक्रम के दौरान जिला एवं सेशन न्यायाधीश,कलेक्टर अौर एसपी की ओर से प्रशस्ति-पत्र प्रदान किए जाएंगे।

कलेक्टर ने कहा कि झालावाड़ में बाल विवाह को रोकने की सूचना पुलिस के 100 नंबर, चाइल्ड हेल्पलाइन 1098, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के 07432-231135 एवं जिला कन्ट्रोल रूम दूरभाष नंबर 07432-230645, 230646 पर दे सकते हैं। इसके अतिरिक्त उपखंड स्तर पर भी कंट्रोल रूम बनाए गए हैं। बाल विवाह संबंधी सूचना देने वाले व्यक्ति का नाम अत्यन्त गोपनीय रखा जाता है।

बैठक में एसपी आनन्द शर्मा ने कहा कि बाल विवाह संबंधी जो भी शिकायतें आती हैं उस पर पुलिस त्वरित कार्यवाही करते हुए उसे रुकवाती है। उन्होंने कहा कि इस बुराई के खिलाफ आमजन स्वयं जिम्मेदार नागरिक के नाते आगे आएंगे, तभी जाकर हम झालावाड़ को बाल विवाह से मुक्त कर पाएंगे। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के पूर्णकालिक सचिव हनुमान सहाय जाट ने बाल विवाह अधिनियम 2006 के बारे में विस्तार से जानकारी दी। अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी नरेन्द्र कुमार वर्मा ने बैठक में सभी का स्वागत किया। वहीं जिला टेंट संघ के अध्यक्ष दीपक अग्रवाल ने कहा कि पूरे जिले में बाल विवाह जैसे आयोजन में टेंट नहीं लगाएंगे चाहे उनका आर्थिक नुकसान ही क्यों न हो। वीसी के दौरान आठों ब्लॉकों पर उपस्थित जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों, पंडितों, काजियों तथा विवाह सेवा प्रदाता संचालकों के द्वारा भी बाल विवाह को रोकने के संबंध में सुझाव दिए गए।

जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों ने ली शपथ

जिला एवं सेशन न्यायाधीश की उपस्थिति में कलेक्टर ने वीसी में शामिल सभी जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों, कर्मचारियों एवं पंडित, काजी, बैंडबाजे, डेकोरेशन व्यवसायी, प्रिटिंग प्रेस के मालिक, फोटोग्राफर इत्यादि सेवाप्रदाताओं को जिले में बाल विवाह नहीं होने देने की शपथ दिलाई।

भवानीमंडी| बाल विवाह की रोकथाम के लिए आंगनबाड़ी, अध्यापक, बीट कांस्टेबल व अन्य कर्मचारियों की टीम बनाकर एसडीएम राकेश मीणा ने निगरानी रखने को कहा है। प्रिंटिंग प्रेस वालों को शादी कार्ड में दूल्हा-दुल्हन की जन्म तारीख छापने काे कहा है, जो इसकी पालना नहीं करेंगे उनके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई जाएगी। इसके अलावा विवाह से जुड़े बैंड, पंडित, हलवाई, फूलमाला के विक्रेताओं की भी शुक्रवार को बैठक बुलाई जाएगी।

डग| जिला विधिक सेवा एवं जिला प्रशासन की ओर से बाल विवाह की रोकथाम के लिए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की गई। इसमें उपखंड अधिकारी चंदन दुबे, पुलिस उपाधीक्षक भंवरसिंह शेखावत, संबंधित विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारी, अध्यापक, पटवारी, ग्रामसेवक, बीट कांस्टेबल मौजूद रहे।

बकानी. बाल विवाह नहीं करने की शपथ लेते स्कूली बच्चे, इसके साथ ही अिभभावकों को भी हिदायत दी गई।

डग. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में बैठे अधिकारी व अन्य।

बाल विवाह की रोकथाम के लिए शपथ ली

बकानी|
जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, प्राइवेट स्कूल वेलफेयर सोसायटी की ओर से बाल विवाह को रोकने के लिए गुरुवार को कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसमें मुख्य अतिथि प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन के अध्यक्ष रहे। उधर, ग्राम पंचायत रीछवा और नसीराबाद के अटल सेवा केंद्र में गुरुवार को बैठक हुई। अध्यक्षता रीछवा सरपंच रामनारायण गुर्जर ने की। इसमें सचिव बाबूलाल मेहर, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, डाॅ. आशिक अली, स्कूल प्रधानाचार्य मधुबाला, उमर अली, उपसरपंच बहादुर सिंह मौजूद रहे। बैठक में बाल विवाह की रोकथाम पर चर्चा की गई। नसीराबाद में भी सरपंच रोशन लोधा की अध्यक्षता में बैठक हुई।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bhawani Mandi

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×