Hindi News »Rajasthan »Bhawani Mandi» जयपुर से आते समय कोटा तक एक्सप्रेस बाद में हो जाती है लोकल ट्रेन, परेशानी

जयपुर से आते समय कोटा तक एक्सप्रेस बाद में हो जाती है लोकल ट्रेन, परेशानी

कभी आपने सुना है कि कोई ट्रेन आने पर कुछ और जाने पर कुछ और हो जाती है। जयपुर से रतलाम के बीच चलने वाली पैसेंजर ट्रेन...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 26, 2018, 02:55 AM IST

जयपुर से आते समय कोटा तक एक्सप्रेस बाद में हो जाती है लोकल ट्रेन, परेशानी
कभी आपने सुना है कि कोई ट्रेन आने पर कुछ और जाने पर कुछ और हो जाती है। जयपुर से रतलाम के बीच चलने वाली पैसेंजर ट्रेन इसकी ही मिसाल है। यह ट्रेन नागरिकों के लिए सुविधा के साथ-साथ परेशानी भी साथ लाई है। जयपुर से रतलाम तक चलने वाली यह ट्रेन जयपुर से आते समय कोटा तक एक्सप्रेस हो जाती है व इसके बाद रतलाम (59803,4) तक यह लोकल हो जाती है। रात के समय जयपुर से बर्थ रिजर्वेशन केवल कोटा तक का ही मिलता है। इसके बाद का लोकल सफर व ट्रेन नंबर अलग हो जाने से यात्रियों को आगे का टिकट नहीं दिया जाता है। यात्रियों को रात में कोटा आने पर उतरकर लोकल टिकट लेना पड़ता है।

इसी तरह वापसी में यह ट्रेन रिकॉर्ड में रतलाम से कोटा (90809,8) तक ही चलती है, लेकिन यह पूरा रेक कोटा में रुकने के बाद नई ट्रेन बनकर निजामुद्दीन तक जाता है। टिकट कोटा तक का ही लोकल मिलता है। इसके बाद एक्सप्रेस का टिकट लेना पड़ता है। दूसरी ओर कोटा से एक अलग रेक को जयपुर भेजा जाता है। यहां के बाशिंदों की लंबे समय से मांग है कि जयपुर-रतलाम को पूरे ही मार्ग पर एक ही ट्रेन बनाकर चलाया जाए, जिससे यहां के यात्रियों को पूरी सुविधा मिल सके।

भवानीमंडी. रेलवे स्टेशन का निरीक्षण करते सीनियर डीसीएम व अन्य।

सीनियर डीसीएम ने पार्सल लदान के बारे में जानकारी ली

कोटा रेल मंडल के सीनियर वाणिज्यिक प्रबंधक एसके दास ने रविवार को भवानीमंडी रेलवे स्टेशन का निरीक्षण कर, आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने स्टेशन अधीक्षक धर्मसिंह मीणा से स्टेशन पर विभिन्न सुविधा और समस्याओं की जानकारी ली। ध्यान रहे कि लोकल सवारी ट्रेन को मेमो बना देने से लदान में आ रही बाधा के बारे में भी जानकारी ली। उन्होंने इससे आय पर पड़े फर्क के तथ्यों को दर्ज किया। वे अपनी रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को रखेंगे। वहीं से इस पर आगे कोई निर्णय हो सकेगा।

लोकल में बंद हुआ लदान:लोकल सवारी ट्रेन को मेमो बना देने से इसमें से लदान कोच हटा दिया गया है, जिससे यहां से सब्जी, धनिया को आगे भेजने में परेशानी आ रही है। साथ की अन्य ट्रेन देहरादून में पहले से ही उसके लदान कोच में सील होने से वह बंद रहता है। अभी केवल कोटा रतलाम व रतलाम कोटा तथा पार्सल ट्रेन में ही लदान जारी है। पार्सल के भी आगे मेमो होने की सूचना है। ट्रेनों में लदान कोच बहाल करने की मांग की है।

रेलवे की लदान आय में 75 प्रतिशत की गिरावट होकर वह 25 प्रतिशत रह गया है। -बाबूलाल, वरिष्ठ बुकिंग क्लर्क, भवानीमंडी

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bhawani Mandi

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×