• Home
  • Rajasthan News
  • Bhawani Mandi News
  • गैस की अवैध रीफिलिंग करते सिलेंडर फटा 2 कार-बाइक जली, परिवार के 4 लोग झुलसे
--Advertisement--

गैस की अवैध रीफिलिंग करते सिलेंडर फटा 2 कार-बाइक जली, परिवार के 4 लोग झुलसे

भास्कर न्यूज | मिश्रोली/करावन सिलेहगढ़ गांव में गुरुवार देर रात को एक कार में अवैध रूप से रीफिलिंग कर गैस भरते...

Danik Bhaskar | Mar 31, 2018, 03:25 AM IST
भास्कर न्यूज | मिश्रोली/करावन

सिलेहगढ़ गांव में गुरुवार देर रात को एक कार में अवैध रूप से रीफिलिंग कर गैस भरते समय विस्फोट हो गया। इससे दो कारें और एक बाइक मौके पर ही जलकर खाक हो गए। आग इतनी भीषण लगी कि अंदर घर में तीन परिजन झुलस गए, रीफिलिंग करने वाला भी बुरी तरह से झुलस गया। इन चारों को तुरंत ही झालावाड़ रैफर कर दिया गया। मौके पर पुलिस सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण पहुंचे। बड़ी मशक्कत के साथ आग पर काबू पाया गया।

ग्रामीणों बच्चों को घर से सुरक्षित निकाला। थानाधिकारी हुकमचंद सैनी ने बताया कि सुरेश कुमार चौधरी अपने मकान के बाहर की दुकान में अवैध रूप से वाहनों में रीफिलिंग का काम करता है। गुरुवार रात को जब वह एलपीजी सिलेंडर से कार में गैस भर रहा था उस समय गैस लीकेज हो गई और गैस टंकी फटने से विस्फोट हुआ। इसके बाद भीषण आग लग गई। जिस वाहन में आग लगी उसके पास ही इंडिका कार भी खड़ी थी उसने भी आग पकड़ ली। दोनों वाहन जलकर खाक हो गए। इसी तरह पास ही खड़ी बाइक में भी आग लग गई। आग की लपटें उसके घर में भी पहुंची। इससे वाहन में रीफिलिंग कर रहे सुरेश सहित घर के अंदर उसकी प|ी कृष्णा, भाई दिनेश और भाई की प|ी संगीता गंभीर रूप से झुलस गए। इनको पहले तुरंत प्रभाव से भवानीमंडी अस्पताल में रैफर किय गया, जहां से झालावाड़ रैफर कर दिया गया। यहां से शुक्रवार को गंभीर हालात में कोटा रैफर कर दिय गया।

आग की भयावहता का अंदाजा इस तस्वीर से लगाइये...वाहन पूरी तरह जले

मिश्रौली. सिलेहगढ़ में देर रात को कार में गैस भरते समय सिलेंडर में विस्फोट होने से जली कार।

निगहबान नहीं इसलिए बेधड़क हैं अवैध रीफिलिंग करने वाले..हादसे के बाद जागते हैं

रसद इंस्पेक्टरों के पद रिक्त चल रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ जिन इंस्पेक्टर की चौमहला, डग, भवानीमंडी तक के क्षेत्र में निगाहबानी करने की ड्यूटी है वह जिला मुख्यालय पर अपनी ड्यूटी दे रहे हैं।

जिले में घरेलू गैस सिलेंडरों से अवैध रूप से वाहनों में रीफिलिंग के कारोबार दिन ब दिन तरक्की करता जा रहा है। जिले में कहीं थाने से महज 100 मीटर की दूरी तो कहीं पर घनी बस्तियों में रीफिलिंग का खतरनाक और अवैध कारोबार होता है। खतरे के इस व्यापार का बेधड़क संचालन इसलिए हो रहा है कि रसद विभाग और प्रशासन केवल हादसों के बाद महज चुनिंदा कार्रवाई करके भूल जाता है। झालावाड़ शहर की बात करें तो जेल रोड जैसी घनी आबादी क्षेत्र में दिनरात अवैध रीफिलिंग होती है जिसे कोई रोकने वाला नहीं है। खंडिया कॉलोनी, मुख्य मंगलपुरा, मंगलपुरा टेक से ऊपर मस्जिद के पास अवैध रीफिलिंग का कारोबार होता है। इसी तरह झालरापाटन में पुलिस थाने से महज सौ मीटर की दूरी पर सरला माता मंदिर के पास, बाईपास रोड, लंका गेट, बस स्टैंड भार्गव गली सहित अन्य क्षेत्रों में और तंग गलियों में लोग अवैध रीफिलिंग कर रहे हैं। फरवरी माह में अजमेर के ब्यावर क्षेत्र में अवैध रीफिलिंग से हुए बड़े हादसे के बाद रसद विभाग ने कार्रवाई तो की, लेकिन यह कार्रवाई रीफिलिंग पर न कर केवल दुकानों से सिलेंडर जब्त किए। इसी तरह खुले में लोग सड़कों पर अवैध रूप से रीफिलिंग करते हैं, लेकिन कार्रवाई नहीं होती।

घायल अस्पताल में भर्ती।

दिखावा: हादसे के बाद 3 सिलेंडर जब्त

सिलेंहगढ में हुए हादसे के बाद रसद विभाग ने कार्रवाई शुरू की। इसमें तीन सिलेंडर जब्त किए गए। गैस सिलेंडरों से अवैध रूप से रीफिलिंग करने के मामले में दिन ब दिन हादसे हो रहे हैं, लेकिन रसद विभाग रीफिलिंग पर कार्रवाई करने की बजाय रेस्टोरेंटों से व्यवसायिक सिलेंडर जब्त कर रहा है। शुक्रवार को मिश्रोली और सिलेहगढ में रसद विभाग की टीम पहुंची। यहां प्रवर्तक निरीक्षक विनोद कुमार ने मिश्रोली बस स्टैंड की दुकानों पर चैक किया जहां एक भी सिलेंडर नहीं मिला। सिलेहगढ में बस स्टैंड पर एक रेस्टोरेंट से तीन सिलेंडर जब्त किए गए।

घायल अस्पताल में भर्ती।