• Home
  • Rajasthan News
  • Bhawani Mandi News
  • पुलिस के सहयोग के लिए महिलाएं भी बनी ग्राम रक्षा समिति की मेंबर, जरूरत पर करेगींं मदद
--Advertisement--

पुलिस के सहयोग के लिए महिलाएं भी बनी ग्राम रक्षा समिति की मेंबर, जरूरत पर करेगींं मदद

भैंसोदामंडी राजस्थान के किनारे बसी होने और रेलवे स्टेशन के नजदीक होने से यहां पर अपराध पनपने की आदर्श स्थिति के...

Danik Bhaskar | Feb 10, 2018, 04:25 AM IST
भैंसोदामंडी राजस्थान के किनारे बसी होने और रेलवे स्टेशन के नजदीक होने से यहां पर अपराध पनपने की आदर्श स्थिति के मद्देनजर भैंसोदामंडी पुलिस चौकी को पुलिस थाने में क्रमोन्नत किए जाने के प्रयास किए जा रहे है, लेकिन ये कब तक आकार ले सकेंगे, इसके बारे में फिलहाल कुछ नहीं कहा जा सकता है। यह कहना था मंदसौर कलेक्टर ओपी श्रीवास्तव एवं एसपी मनोज कुमारसिंह का। उनका कहना था कि दो ही आधार से पुलिसथाना बन सकता है। जिसमें से एक अपराध की रेटिंग यहां कम होने से इसकी बजाय, संवेदनशीलता के हिसाब से पुलिसथाना बनाए जाने के प्रयास है। कलेक्टर ने यह भी बताया कि भैंसोदामंडी पंचायत को नगर पंचायत बनाने की घोषणा पहले ही हो चुकी है। अब यहां पर अगला चुनाव नगर पालिका पंचायत के आधार पर ही होगा। मप्र में पुलिस बल की कमी के चलते वहां पर निशुल्क आधार पर ग्राम रक्षा समिति सदस्य बनाकर सूचना और सहयोग तंत्र खड़ा किया हुआ है। इन्हें पहचान के लिए टोपी, जाॅकेट, डंडा और सीटी तथा पहचान पत्र दिया जाता है। पुलिस चौकी प्रभारी प्रीति कटारे ने बताया कि चौकी क्षेत्र के 12 ही गांवों में हरेक में 15-15 सदस्य बनाए गए हैं। इनमें महिलाएंं भी शामिल है। ये महिलाए गांव में जरूरत पड़ने पर पुलिस की मदद करती हैं। इन्हें बकायदा ड्यूटी पर भी बुलाया जाता है।

गांधीसागर स्थित एशिया की सबसे कृत्रिम झील में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए वहां पर 17 फरवरी से 26 फरवरी तक पर्यटन महोत्सव चलेगा। इस दौरान वहां पर झील किनारे टेंट आदि लगाए जाकर पैरा ग्लाइडिंग आदि के कार्यक्रम होंगे। खान-पान जंक फूड की स्टॉलें लगेगी। महोत्सव के दौरान भवानीमंडी से भी सुबह शाम आवागमन वाली सवारी बसें चलाई जाएगी। कलेक्टर ने बताया कि इसके लिए वहां पर स्थाई रूप से 22 कमरों की एक पर्यटन होटल खोली जा चुकी है। दो सौ सीटर पानी का जहाज भी झील में उतारा दिया गया है। यह झील का भ्रमण कराएगा। इसका किराया और यात्रा मार्ग अभी तय होना बाकी है। इस दौरान एसडीओपी भंवरसिंह टीआई गोपालसिंह, तहसीलदार नारायण नांदेड़ व कई ग्रामीण मौजूद थे। कुछ नागरिकों को अपनी ओर आता देख खुद एसपी ने आगे बढ़कर उनके साथ सेल्फी भी खिंचवाई।

भवानीमंडी. कलेक्टर और एसपी ग्राम रक्षा समिति की महिला सदस्यों को पहचान पत्र का वितरण करते हुए।