• Home
  • Rajasthan News
  • Bhilwara News
  • दो एफआईआर में 4 शिक्षक, 2 छात्र एवं पांच छात्राओं को बनाया आरोपी
--Advertisement--

दो एफआईआर में 4 शिक्षक, 2 छात्र एवं पांच छात्राओं को बनाया आरोपी

7 विद्यार्थियों का भविष्य दांव पर

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 04:35 AM IST
7 विद्यार्थियों का भविष्य दांव पर



भास्कर संवाददाता | भीलवाड़ा

शंभूगढ़ के राजकीय बालिका स्कूल के पास अतिक्रमण तोड़ने के मामले में 4 शिक्षकों और 7 विद्यार्थियों को नामजद आरोपी बनाया गया है। इस मामले में दो एफआईआर दर्ज हुई है।

एक एफआईआर शिकायतकर्ता लक्ष्मीदेवी ने कराई है। इसमें 42 जनों के खिलाफ उसकी पट्टाशुदा जमीन पर निर्माण तोड़ने के साथ मारपीट, जिंदा जलाने की कोशिश करने और मकान जलाने का आरोप लगाया है। 27 फरवरी को हुई घटना की दूसरी एफआईआर शंभूगढ़ थाने के एसएचओ जसवंत सिंह ने कराई है। इसमें 36 आरोपी को नामजद किया है। दोनों एफआईआर में स्कूल के 4 अध्यापकों के साथ दो छात्र और पांच छात्राओं गंभीर आरोप दर्ज कराए हैं। डीएसपी अमृतलाल जीनगर को जांच अधिकारी बनाया गया। इधर, मामले को हाईकोर्ट जोधपुर में चुनौती दी गई है। याचिकाकर्ताओं की ओर से वकील पिंटू पारीक ने जस्टिस विजय विश्नोई से मामले को झूठा बताते हुए निरस्त करने की गुहार लगाई है।

भास्कर एफआईआर से पहली में 42, दूसरी में 36 आरोपी



इधर, याचिका में प्रार्थी की दलील

याचिकाकर्ता राधेश्याम पारीक व अन्य ने अधिवक्ता पिंटू पारीक के माध्यम से याचिका लगाकर न्यायालय से प्रार्थना की कि ये एफआईआर मिथ्या व निरस्त करने योग्य हैं। स्कूल के पास मामला अतिक्रमण का है। इसे लेकर हटाने के आदेश भी दिए गए थे। इस अतिक्रमण की वजह से क्षेत्र की शांतिभंग हो रही है और छात्राओंं को असुविधा हो रही है। दुर्भावनापूर्वक एफआईआर दर्ज करवाई है।

हाईकोर्ट ने याचिका स्वीकार की: तथ्यात्मक रिपोर्ट मांगी... राजस्थान उच्च न्यायालय जोधपुर के न्यायाधीश विजय विश्नोई ने आपराधिक विविध याचिका को विचारार्थ स्वीकार करते हुए इस मामले में राज्य सरकार व संबन्धित थानाधिकारी को जवाब-तलब किया है। जस्टिस विश्नोई ने 10 अप्रैल को सुनवाई की तारीख दी है।

एफआईआर में नामजद आरोपियों में राजकीय बालिका स्कूल के 4 अध्यापक और 7 विद्यार्थियों के नाम हैं। इनमें पांच छात्राएं भी है। एफआईआर के मुताबिक स्कूल के राधेश्याम पारीक, श्रवण खटीक, देवराज लोढ़ा और कांता स्वर्णकार के नाम हैं।

आरोप झूठे, शिक्षकों-विद्यार्थियों के भविष्य से खिलवाड़

हाईकोर्ट ने नोटिस जारी कर जवाब तलब किया... जोधपुर हाईकोर्ट के वकील पिंटू पारीक ने बताया कि हाईकोर्ट ने रिट स्वीकार करते नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है। सरकारी वकील से तथ्यात्मक रिपोर्ट मांगी है।

कोर्ट का कोई नोटिस नहीं मिला... शंभूगढ़ एसएचओ जसवंत सिंह का कहना है कि शंभूगढ़ बालिका स्कूल में निर्माण तोड़ने संबंधी मामले में उच्च न्यायालय जोधपुर का जवाब तलबी संबंधी कोई नोटिस अभी नहीं मिला है।