--Advertisement--

संस्कार निर्माण शिविर में समय का महत्व बताया

संस्कार निर्माण शिविर के दूसरे दिन गुरुवार को महाप्रज्ञ भवन में बच्चों ने टाइम पंक्चुएलिटी से हर सत्र में...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 03:30 AM IST
संस्कार निर्माण शिविर के दूसरे दिन गुरुवार को महाप्रज्ञ भवन में बच्चों ने टाइम पंक्चुएलिटी से हर सत्र में हिस्सेदारी निभाई। सुबह पांच बजे बालकों ने जल्दी उठकर मुनिवृंद को वंदन कर अर्हम वंदना करने के बाद मंगलपाठ सुना। योग गुरु महावीर गांग एवं चंद्रप्रकाश पोरवाल ने आसन-प्राणायाम, लाफिंग थेरेपी का प्रयोग करवाया।

मुनि मोहजीत कुमार ने कहा कि अनुशासन, समर्पण एवं मर्यादा तेरापंथ का ब्रह्मास्त्र है। तीसरे सत्र में शिविर निर्देशक मुनि संबोध कुमार ने जीवन विज्ञान के स्मृति विकास व तनाव रहित होने के प्रयोग करवाए। प्रो. अपर्णा श्यामसुखा ने प्रशिक्षण में बताया कि भाषा एक जरिया है, एक दूसरे से बात करने, किसी को कॉपी ना करें आदि के बारे में बताया।