--Advertisement--

कथा में बताया संस्कृति का महत्व

गंगरार | पुरुषोत्तम मास में धार्मिक आयोजनों से समाज में धर्म के प्रति आस्था बढ़ती है। यह बात सादी गांव स्थित...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 03:45 AM IST
गंगरार | पुरुषोत्तम मास में धार्मिक आयोजनों से समाज में धर्म के प्रति आस्था बढ़ती है। यह बात सादी गांव स्थित नीमड़ी वाले सगसजी के स्थान पर हो रही श्रीराम कथा में स्वामी सुदर्शनाचार्य महाराज ने कही। उन्होंने कहा कि रामनाम के बिना जीवन संभव नहीं हैं। उन्होंने कथा में युवाओं का आह्वान करते हुए कहा कि उन्हें धर्म के प्रति सजग रहते हुए गैर संस्कृति के दुष्प्रचार को रोकने का कार्य करें। आचार्य रविशंकर शास्त्री ने यजमानों का दशविधि स्नान करवाकर मंडप प्रवेश किया। कथा श्रवण के लिए प्रतिदिन सैंकड़ों भक्त आ रहे हैं। पुजारी धनराज शर्मा ने बताया कि कथा 24 मई तक होगी। प्रतिदिन रात में झांसी के कलाकारों द्वारा रामलीला का मंचन किया जा रहा हैं।