• Hindi News
  • Rajasthan
  • Bhilwara
  • चार महीने में मोदी का छठवां विदेश दौरा, भारत का स्वीडन में पहला नॉर्दिक समिट
--Advertisement--

चार महीने में मोदी का छठवां विदेश दौरा, भारत का स्वीडन में पहला नॉर्दिक समिट

Bhilwara News - समिट में भारत, स्वीडन, नॉर्वे, फिनलैंड, डेनमार्क और अाइसलैंड शामिल एजेंसी | स्टॉकहोम प्रधानमंत्री नरेंद्र...

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2018, 06:55 AM IST
चार महीने में मोदी का छठवां विदेश दौरा, भारत का स्वीडन में पहला नॉर्दिक समिट
समिट में भारत, स्वीडन, नॉर्वे, फिनलैंड, डेनमार्क और अाइसलैंड शामिल

एजेंसी | स्टॉकहोम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 5 दिन के यूरोप दौरे पर सोमवार देर रात स्वीडन की राजधानी स्टॉकहोम पहुंचे। मोदी की ये यात्रा 16 से 20 अप्रैल तक चलेगी। वह ब्रिटेन और जर्मनी भी जाएंगे। मोदी 30 साल बाद स्वीडन जाने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री हैं। उनसे पहले राजीव गांधी गए थे। पीएम ब्रिटेन में राष्ट्रमंडल देशों के शासनाध्यक्षों के सम्मेलन (चोगम) में हिस्सा लेंगे। खास बात ये है कि इस सम्मेलन सिर्फ मोदी को लिमोजिन कार से सफर की इजाजत दी गई है। बाकी देशों के नेता एक स्पेशल बस से सफर करेंगे। मोदी 20 अप्रैल को कुछ समय के लिए जर्मनी में भी रुकेंगे। यहां वह चांसलर अंगेला मर्केल से मुलाकात करेंगे।

यूरोप रवाना होने से पहले पीएम मोदी ने ट्वीट कर बताया कि वह व्यापार, निवेश और स्वच्छ ऊर्जा समेत विभिन्न क्षेत्रों में स्वीडन के साथ द्विपक्षीय साझेदारी गहरा बनाने को लेकर आशान्वित हैं। फेसबुक पर लिखा कि भारत-स्वीडन के बीच दोस्ताना रिश्ता है। हमारी साझेदारी लोकतांत्रिक मूल्यों तथा खुले, समावेशी एवं नियमों की बुनियाद पर टिकी वैश्विक व्यवस्था के प्रति कटिबद्धता पर आधारित है।

मोदी कॉमनवेल्थ समिट में अकेले नेता होंगे जो लिमोजिन कार से चलेंगे

स्वीडन दौरा

भारत-नॉर्दिक सम्मेलन, 5 देशों से द्विपक्षीय बात

पीएम मोदी 16 और 17 अप्रैल को दो दिन स्वीडन में रहेंगे। यहां वह स्वीडन के पीएम स्टीफन लॉफवेन से चर्चा करेंगे। फिर पहले भारत-नॉर्दिक सम्मेलन में हिस्सा लेंगे। इसमें सभी नॉर्दिक देश हिस्सा ले रहे हैं। सम्मेलन में डेनमार्क, फिनलैंड, आइसलैंड, नॉर्वे और स्वीडन के प्रधानमंत्री शामिल होंगे। स्केंडिनेविया प्रायद्वीप में उत्तरी यूरोप के आने वाले देश नॉर्दिक देश कहलाते हैं। मोदी 17 अप्रैल को डेनमार्क, फिनलैंड, आइसलैंड और नॉर्वे के प्रधानमंत्रियों के साथ अलग से द्विपक्षीय बैठकें भी करेंगे।

भारत-स्वीडन के बीच 1.9 बिलियन डॉलर का ट्रेड

भारत और स्वीडन के बीच 2016-17 में 1.9 बिलियन का व्यापार हुआ था। हालांकि यह पहले 2.17 बिलियन डॉलर तक था। दोनों देशों ने आने वाले समय में 5 बिलियन डॉलर का व्यापार लक्ष्य रखा है। स्वीडन की भारत में 170 कंपनियां काम कर रहीं हैं। जबकि भारत की स्वीडन में 70 कंपनियां हैं। वहीं, नॉर्दिक देशों के साथ भारत का व्यापार 5.3 बिलियन डॉलर है। इन देशों की भारत में 2.5 बिलियन की एफडीआई हिस्सेदारी भी है।

ब्रिटेन दौरा: कॉमनवेल्थ सम्मेलन, 53 देश शामिल होंगे

9 साल बाद कॉमनवेल्थ सम्मेलन में जाने वाले मोदी पहले प्रधानमंत्री होंगे

18 अप्रैल को मोदी ब्रिटेन पहुंचेंगे। यहां प्रिंस चार्ल्स और मोदी आयुर्वेद प्रदर्शनी में शामिल होंगे। इसके बाद ब्रिटिश प्रधानमंत्री थेरेसा मे से द्विपक्षीय वार्ता करेंगे। मोदी यहां कॉमनवेल्थ देशों के राष्ट्राध्यक्षों के शिखर सम्मेलन में भी हिस्सा लेंगे। 2009 के बाद से इस सम्मेलन में जाने वाले मोदी पहले भारतीय पीएम हैं। इसमें कॉमनवेल्थ के 53 सदस्य देश अवसरों, चुनौतियों, लोकतंत्र और शांति-समृद्धि के बारे में अपना रुख रखेंगे। प्रधानमंत्री ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ से भी मुलाकात करेंगे।

एलिजाबेथ छोड़ सकती हैं पद, भारत बन सकता कॉमनवेल्थ का लीडर

कॉमनवेल्थ राष्ट्राध्यक्षों की बैठक से पहले चर्चा है कि महारानी एलिजाबेथ इसके अध्यक्ष पद से हटना चाह रही हैं। इसकी वजह एलिजाबेथ (92) घटती सक्रियता बताई जा रही है। कॉमनवेल्थ के प्रमुख का पद आनुवंशिक नहीं है। भारत कॉमनवेल्थ में बड़ी भूमिका निभाने की तैयारी कर रहा है। मोदी भारत के वित्तीय योगदान को दोगुनी कर सकते हैं।

मोदी उस वेस्टमिंस्टर हॉल में बोलेंगे, जहां 87 साल पहले गांधी जी गए थे

मोदी बुधवार को लंदन के ऐतिहासिक वेस्टमिंस्टर सेंट्रल हॉल में जाएंगें। वो यहां ‘भारत की बात, सबके साथ’ कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। मोदी सोशल मीडिया के जरिए दुनिया भर से पूछे गए सवालों के जवाब देंगे। इसे यूरोप इंडिया फोरम ने आयोजित किया है। वेस्टमिंस्टर हॉल ने 1931 में महात्मा गांधी की मेजबानी की थी। उस समय इसे मैथोडिस्ट सेंट्रल हाल के नाम से जाना जाता था। इस हॉल में भाषण देने वालों मार्टिन लूथर किंग जूनियर, दलाई लामा और राजकुमारी डायना भी शामिल हैं।

मोदी दूसरी बाद ब्रिटेन, चौथी बार जर्मनी जाएंगे

स्वीडन पीएम मोदी का इस साल छठां विदेशी दौरा है। इससे पहले वह 5 देशों की यात्रा कर चुके हैं। मोदी ब्रिटेन और जर्मनी भी जाएंगे। मोदी का यह दूसरा ब्रिटेन दौरा है। वह 2015 में वहां गए थे। वहीं, मोदी चौथी बार जर्मनी भी जाएंगे।

X
चार महीने में मोदी का छठवां विदेश दौरा, भारत का स्वीडन में पहला नॉर्दिक समिट
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..