Hindi News »Rajasthan »Bhilwara» भास्कर अौर हिंदुस्तान जिंक की ओर से अंगदान पर सेमिनार, विशेषज्ञों ने बताया अंगदान का महत्व

भास्कर अौर हिंदुस्तान जिंक की ओर से अंगदान पर सेमिनार, विशेषज्ञों ने बताया अंगदान का महत्व

भीलवाड़ा/बांसवाड़ा | दैनिक भास्कर और हिंदुस्तान जिंक के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित अंगदान महादान कार्यक्रम में...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 02, 2018, 06:15 AM IST

  • भास्कर अौर हिंदुस्तान जिंक की ओर से अंगदान पर सेमिनार, विशेषज्ञों ने बताया अंगदान का महत्व
    +2और स्लाइड देखें
    भीलवाड़ा/बांसवाड़ा | दैनिक भास्कर और हिंदुस्तान जिंक के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित अंगदान महादान कार्यक्रम में मंगलवार को भीलवाड़ा और बांसवाडा

    में अलग-अलग जगहों पर जागरूकता सेमिनार आयोजित हुए। इस दौरान मोहन फाउंडेशन के मोटिवेटर डॉ. पीसी जैन ने स्विफ्ट कॉलेज में हुए सेमिनार में कहा कि एक ब्रेन डेड व्यक्ति के नौ अंग दान किए जा सकते हैं। दान किए जाने वाले अंग हैं- 2 आंखें, 2 फेफड़े, 2 किडनियां, हृदय, लीवर व पेनक्रियाज। देश में ऐसे लाखों लोगों की सूची है जिन्हें विभिन्न अंगों की जरूरत है।

    इससे पहले सुबह के सत्र में एवरग्रीन पब्लिक स्कूल में भी अंगदान महादान सेमिनार हुआ। यहां फाउंडेशन के मुख्य वक्ता डॉ. पीसी जैन, डिप्टी सीएमएचओ डॉ. मुश्ताक खान नेे अंगदान का महत्व बताया। इस दौरान एमएलवी कॉलेज में गणित की व्याख्याता डॉ. निशा माथुर, स्विफ्ट कॉलेज के निदेशक ऋषि श्यामसुखा, प्रिंसिपल अपर्णा श्यामसुखा, लायंस क्लब सदस्य कल्पना माहेश्वरी व पति गिरिराज माहेश्वरी ने अंगदान की शपथ ली।

    इधर, बंसवाड़ा में आयोजित सेमिनार में मोहन फाउंडेशन के आर्यन माथुर और रोशन बहादुर ने अंगदान कैसे और कौन कर सकता है इसके बारे में बताया। मेडिकल ज्यूरिस्ट डॉ. रवि उपाध्याय, एडिशनल सीएमएचओ डॉ. दीपक पंकज और सर्जन डॉ. हितेन व्यास बतौर मुख्य वक्ता शामिल रहे। वक्ता डॉ. रवि उपाध्याय ने कहा कि अंगदान और रक्तदान में कई भ्रांतियां हैं।

    एडिशनल सीएमएचओ डॉ. दीपक पंकज ने प्रजेंटेशन के माध्यम से अंगदान के मामलों में अन्य देशों की तुलना में भारत की स्थिति से अवगत कराया। कार्यक्रम में एडीएम हिम्मतसिंह बारहठ, लीयो कॉलेज निदेशक मनीष त्रिवेदी, रियल एस्टेट एसोसिएशन के अध्यक्ष मनोज माथुर, कैलाश समाजसेवी मोहन मेदावत आदि मौजूद थे। जानामेड़ी गांव के 45 वर्षीय गुलाब पुत्र विट्ठल निनामा ने मृत्यु के बाद शरीर के सभी अंगों का दान करने की घोषणा की। कार्यक्रम के नॉलेज पार्टनर मोहन फाउंडेशन जयपुर सिटीजन फारेम है।

  • भास्कर अौर हिंदुस्तान जिंक की ओर से अंगदान पर सेमिनार, विशेषज्ञों ने बताया अंगदान का महत्व
    +2और स्लाइड देखें
  • भास्कर अौर हिंदुस्तान जिंक की ओर से अंगदान पर सेमिनार, विशेषज्ञों ने बताया अंगदान का महत्व
    +2और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bhilwara

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×