9 साल पहले माता-पिता के निधन पर घर में दी समाधि हमेशा दर्शन हाेते रहें इसलिए मंदिर बना प्रतिमा लगवाईं

Bhilwara News - बागाैर/ भीलवाड़ा | देश में वृद्धाश्रमाें की बढ़ती संख्या अाैर इनमें बुजुर्गाें के चिंताजनक हालात के बीच भीलवाड़ा...

Bhaskar News Network

Nov 10, 2019, 07:35 AM IST
Bhilwara News - rajasthan news 9 years ago after the death of parents the samadhi in the house should always be seen so built a temple
बागाैर/ भीलवाड़ा | देश में वृद्धाश्रमाें की बढ़ती संख्या अाैर इनमें बुजुर्गाें के चिंताजनक हालात के बीच भीलवाड़ा जिले के बागाैर गांव में एक बेटे की मां-बाप के प्रति श्रद्धा समाज काे प्रेरणा देने वाली है। इस बेटे ने माता-पिता के शवाें काे घर में ही समाधि दी। इसके बाद इनकी प्रतिमाएं भी बनवाईं। प्रतिमाअाें की देव उठनी एकादशी शुक्रवार काे पूरे धार्मिक विधान से प्राण प्रतिष्ठा की गई। भागू बागरिया के पिता मांगीलाल व मां मांगीबाई ईश्वर में बेहद अास्था रखते थे। वे जगह-जगह भजन-कीर्तन करने जाते थे। पिता का वर्ष 2010 में गुरु पूर्णिमा पर स्वर्गवास हो गया था। उन्हें मकान के अहाते में ही समाधि दी। आठ महीने बाद मां मांगी बाई का भी स्वर्गवास हो गया। उनकी देह काे भी घर में पिता की समाधि के पास समाधि दी। इस स्थल पर चबूतरा व छतरी बनवाई। माता-पिता का अप्रत्यक्ष सान्निध्य बना रहे, उनके दर्शन हाेते रहे, इस भाव से शुक्रवार को मूर्तियां स्थापना कराई। मूर्ति निर्माण पर 52 हजार रुपए लागत अाई है। स्थापना से पहले पूजन-अभिषेक किया व गांव में शोभायात्रा निकाली। कई रिश्तेदाराें अायाेजन में बुलाया गया था।

धर्म समाज

फोटो

Bhilwara News - rajasthan news 9 years ago after the death of parents the samadhi in the house should always be seen so built a temple
X
Bhilwara News - rajasthan news 9 years ago after the death of parents the samadhi in the house should always be seen so built a temple
Bhilwara News - rajasthan news 9 years ago after the death of parents the samadhi in the house should always be seen so built a temple
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना