धर्मा सॉफ्टवेयर से हाेगी जिले के 10 बांधाें पर निगरानी

Bhilwara News - केंद्रीय जल अायाेग ने मंगवाया 15 मीटर तक की भराव क्षमता वाले बांधाें का रिकाॅर्ड भास्कर संवाददाता | भीलवाड़ा ...

Nov 10, 2019, 07:36 AM IST
केंद्रीय जल अायाेग ने मंगवाया 15 मीटर तक की भराव क्षमता वाले बांधाें का रिकाॅर्ड

भास्कर संवाददाता | भीलवाड़ा

बांधाें के रखरखाव काे लेकर केंद्रीय जल आयोग (सीडब्ल्यूसी) की अाेर से धर्मा सॉफ्टवेयर तैयार कराया है। इससे अब जिले में बने 10 बड़े बांधाें व करीब छाेटे बांधाें के रखरखाव व बांधाें की स्थिति पर अधिकारी भी निगाह रख सकेंगे। केंद्रीय जल अायाेग के इजाद किए गए ‘डेम हैल्थ एंड रीहेबिलिटेशन माॅनिटरिंग एप्लीकेशन’ (धर्मा) साॅफ्टवेयर में फिलहाल 15 मीटर क्षमता तक के बांधाें काे शामिल किया गया है।

साॅफ्टवेयर काे लेकर राज्य के कुछ चुनिंदा जिलाें में भीलवाड़ा जिले के इंजीनियरों काे भी जानकारी दी गई है। अायाेग की अाेर से निर्मित इस साॅफ्टवेयर के निर्धारित 15 मिटर से ऊपर की क्षमता वाले बांधाें की विस्तृत जानकारी के साथ ही मानसून पूर्व तथा बाद में किए गए निरिक्षणाें की विस्तार से जानकारी देनी हाेगी।

जल संसाधन विभाग के सहायक अभियंता प्रमाेद वागरानी ने बताया कि केंद्रीय जल अायाेग की पहल बांधाें के रखरखाव की दिशा में कार्य चल रहा है अाैर इसके लिए जिले से डाटा लिए जा रहे है अाैर साफ्टवेयर में दर्ज बांधाे की सारी जानकारी से कार्याे में पारदर्शिता रहेगी। इसे लेकर तकनीकी प्रशिक्षण की शुरूवात हाे चुकी है। अायाेग द्वारा 15 मीटर से कम ऊंचाई बांधाे काे भी इसमें शामिल कर लिया गया है।

साॅफ्टवेयर का पहला हिस्सा वेब बेस्ड रखा गया जिससे डाटा काे शेयर करने में अासानी हाेगी। दूसरे हिस्से में बांधाें की सम्पति की व्यवस्था, तकनीकी अांकड़ाे का अादान-प्रदान संरचना के अांकडे पूर्ण रूप से सुरक्षित रहेगें। वही तीसरे भाग में सभी प्रकार के स्थाई अाैर परिवर्तनशील अांकडे डाले जा सकेगें। जबकि साॅफ्टवेयर के चाैथे अाैर अंतिम हिस्से में डाटा मैनेजमेंट हाेगा, जिसमें डाटा वेस रिपाेर्ट जनरेट, टेबल एंड माफ के रूप में अासानी से तैयार हाे सकेगें।

X
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना