त्यागी व ज्ञानी का अादर करना है गृहस्थ धर्म:साध्वी मुक्ति प्रभा

Bhilwara News - शांतिभवन में अाज समर कार्यक्रम व कल विदाई भास्कर संवाददाता | भीलवाड़ा शांतिभवन में चातुर्मास कर रहीं साध्वी...

Nov 11, 2019, 07:21 AM IST
शांतिभवन में अाज समर कार्यक्रम व कल विदाई

भास्कर संवाददाता | भीलवाड़ा

शांतिभवन में चातुर्मास कर रहीं साध्वी विमल कंवर, मुक्ति प्रभा ने धर्मसभा में त्यागी एवं ज्ञानी पुरुषाें का अादर करना ही सदगृहस्थ का धर्म बताया। उन्हाेंने उपस्थित श्रावक-श्राविकाअाें काे कहा कि भारत अार्थिक दृष्टि से कृषि प्रधान देश रहा है।

सांस्कृतिक अाैर धार्मिक दृष्टि से भी ऋषि प्रधान रहा है। सदगृहस्थ समाज व राष्ट्र का अभिन्न अंग है। इन्हाेंने कहा कि यदि मनुष्य भूत, भविष्य के विषय में साेचता रहेगा ताे मन में प्रसन्नता नहीं रह सकती है।

जाे वर्तमान में जीता है, भविष्य की चिंता नहीं करता है। वही सच्चा ज्ञानी बन सकता है। श्री संघ के मीडिया प्रभारी मनीष बंब ने बताया कि साेमवार काे समर कार्यक्रम तथा मंगलवार काे विदाई समाराेह हाेगा। इसके तहत क्षमायाचना व चातुर्मास में जिन श्रावक-श्राविकाअाें काे ज्ञान लाभ मिला उसकी व्याख्या की जाएगी। 13 नवंबर काे शांतिभवन से काशीपुरी स्थित शीतल स्वाध्याय भवन में सुबह 8.30 बजे मंगल प्रवेश करेंगे।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना