एंप्रेटिस कानून: प्रशिक्षु रखने पर मिलेंगे 15 हजार 878 रु.

Bhilwara News - भास्कर संवाददाता | भीलवाड़ा टेक्सटाइल उद्योग में कामगारों को प्रशिक्षित करने के विषय पर टेक्सटाइल सेक्टर...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 07:30 AM IST
Bhilwara News - rajasthan news impratis law on receiving trainees you will get rs 15 thousand 878
भास्कर संवाददाता | भीलवाड़ा

टेक्सटाइल उद्योग में कामगारों को प्रशिक्षित करने के विषय पर टेक्सटाइल सेक्टर स्किल कौंसिल एवं मेवाड़ चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री की ओर से मेवाड़ चैंबर भवन में कार्यशाला हुई।

नई दिल्ली से आए कौंसिंल के निदेशक डॉ. विजय यादव ने बताया कि टेक्सटाइल उद्योग में कामगारों को प्रशिक्षित करने का कार्य मात्र शैक्षणिक संस्थानों में नहीं किया जा सकता है। इसके लिए कामगारों को मशीनों पर ही प्रशिक्षित किया जाना जरूरी है। सरकार ने यह बात समझ कर टेक्सटाइल क्षेत्र के लिए अलग से टेक्सटाइल सेक्टर स्किल कौंसिल की स्थापना की है। इसके तहत स्पिनिंग, विविंग, प्रोसेसिंग सभी क्षेत्रों में कार्य की आवश्यकता अनुसार 72 तरह के कोर्स विकसित किए है। केंद्र सरकार ने इसे प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना में भी शामिल किया है। इसके तहत उद्योगों को अपने स्वयं के उद्योग में लगी उत्पादन मशीनों पर ट्रेनिंग देनी होगी। योजना के तहत उद्योगों को प्रति प्रशिक्षु को उद्योग में ही रोजगार देने पर 15 हजार 878 रुपये का पुनर्भुगतान के साथ एक वर्ष के लिए एप्रेंटिस रखने पर एप्रेंटिस कानून के तहत वित्तीय अनुदान दिया जाता है। इस योजना के तहत उद्योगों को कौंसिल के मार्फत रजिस्ट्रेशन कराना होगा, जिसकी अंतिम तिथि 19 जुलाई 2019 है। कार्यशाला में टेक्सटाइल उद्योगों के श्रम प्रबंधकों एवं वरिष्ठ अधिकारियों ने भाग लिया।

X
Bhilwara News - rajasthan news impratis law on receiving trainees you will get rs 15 thousand 878
COMMENT