• Hindi News
  • Rajya
  • Rajasthan
  • Bhilwara
  • Bhilwara News rajasthan news in the earlier attempts he was on the right five points shikha yatindra and suresh did not give up this time passed the judge39s examination

पहले के प्रयासों में दाे-पांच अंकों से रहे...शिखा, यतीन्द्र और सुरेश ने हार नहीं मानी, इस बार जज की परीक्षा पास कर ली

Bhilwara News - शहर से तीन युवाओं का चयन न्यायिक सेवा भर्ती-2018 में हुआ है। इनकी सफलता उनको प्रेरणा देती हैं जो कुछ ही अंक कम रह जाने...

Nov 22, 2019, 07:27 AM IST
Bhilwara News - rajasthan news in the earlier attempts he was on the right five points shikha yatindra and suresh did not give up this time passed the judge39s examination
शहर से तीन युवाओं का चयन न्यायिक सेवा भर्ती-2018 में हुआ है। इनकी सफलता उनको प्रेरणा देती हैं जो कुछ ही अंक कम रह जाने से प्रतियोगी परीक्षाओं में असफल हो जाते है और फिर हार कर उस परीक्षा को ही छोड़ देते है या फिर रास्ता बदल देते है। सामान्य श्रेणी में शिखा शर्मा, यतींद्र चौधरी और सुरेश सेन का आरजेएस में चयन हुआ है। शिखा शर्मा एडीजे परीक्षा में 3 अंक, यतींद्र चौधरी पिछली आरजेएस में एक अंक और सुरेश सेन 5 अंक से रहे थे। तीनों ने कमियों को सुधारा और इस साल लक्ष्य प्राप्त कर लिया।


शिखा शर्मा की सामान्य श्रेणी में 93वीं रैंक है। एडीजे भर्ती परीक्षा में 3 अंकों से रह गई थीं। लेकिन हिम्मत नहीं हारीं और तीसरे प्रयास में आरजेएस बनने में कामयाब हुई। सुभाष नगर निवासी पिता ओमप्रकाश शर्मा लीगल एडवाइजर थे। माता माया शर्मा गृहिणी हैं। पिता ओमप्रकाश का कहना है कि बड़ी बेटी ऋचा कोचिंग क्लासेज संचालित करती हैं। छोटी बेटी शिखा शर्मा सेल्फ स्टडी करके इंटरव्यू तक पहुंची। इंटरव्यू में कोचिंग की मदद ली। शिखा शर्मा एक ही मूलमंत्र ‘गुरु कृपा ही केवलम’ में विश्वास करती है।


जयपुर के कॉलेज से यतींद्र चौधरी ने बीटेक किया। इंफोसिस में जॉब ली। पुणे में थे। वहीं एलएलबी में प्रवेश ले लिया। न्यायिक सेवा में अाना था इसलिए जॉब छोड़ दिया। आरजेएस 2017 की भर्ती में महज एक अंक से यतींद्र रह गए। सुभाष नगर निवासी यतींद्र के पिता रामचंद्र चौधरी एडवोकेट और माता जमना देवी गृहिणी हैं। अारजेएस बने यतींद्र की बहन रेखा चौधरी और जीजा सुरेंद्र चौधरी भी आरजेएस हैं। यतींद्र कहते हैं कि बड़ी बहन और उनके ससुर रामलाल चौधरी के मार्गदर्शन से ही सफल रहे हैं।


पेशे से वकील सुरेश सेन आरजेएस के लिए तीन प्रयास कर चुके थे। हर बार 5-10 अंक कम रह जाते। लगातार कमियाें काे सुधारा और चौथे प्रयास में आरजेएस में 145वीं (ओबीसी) रैंक लाए। आजाद नगर निवासी सुरेश के पिता मांगीलाल सेन भी एडवोकेट हैं। माता संतोष देवी गृहिणी हैं। सुरेश ने पहले से आरजेएस बनने का लक्ष्य तय कर लिया था। तीन प्रयासों में असफल रहने पर भी हार नहीं मानी। टेस्ट सीरिज और मॉक इंटरव्यू का सहारा लिया। जज मोहित व्यास से मार्गदर्शन लिया और चौथे प्रयास में सफल हुए।

Bhilwara News - rajasthan news in the earlier attempts he was on the right five points shikha yatindra and suresh did not give up this time passed the judge39s examination
Bhilwara News - rajasthan news in the earlier attempts he was on the right five points shikha yatindra and suresh did not give up this time passed the judge39s examination
X
Bhilwara News - rajasthan news in the earlier attempts he was on the right five points shikha yatindra and suresh did not give up this time passed the judge39s examination
Bhilwara News - rajasthan news in the earlier attempts he was on the right five points shikha yatindra and suresh did not give up this time passed the judge39s examination
Bhilwara News - rajasthan news in the earlier attempts he was on the right five points shikha yatindra and suresh did not give up this time passed the judge39s examination
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना