स्वार्थ से नहीं, त्याग से भरी थी कृष्ण-सुदामा की मित्रता

Bhilwara News - नृसिंह द्वारा में चल रही भागवत कथा का शुक्रवार काे संपापन हुअा। कथा के अंतिम दिन कथावाचक स्वामी जगदीशपुरी महाराज...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 08:11 AM IST
Jahajpur News - rajasthan news not for selfishness but the friendship of krishna sudama was filled with renunciation
नृसिंह द्वारा में चल रही भागवत कथा का शुक्रवार काे संपापन हुअा। कथा के अंतिम दिन कथावाचक स्वामी जगदीशपुरी महाराज ने सुदामा चरित्र का प्रसंग सुनाते हुए कहा कि कृष्ण और सुदामा की मित्रता स्वार्थ पूर्ण नहीं त्याग भरी थी। इसलिए अाज भी उनकी दाेस्ती मिसाल है। उन्होंने कहा कि दोस्ती में दगा नहीं होता। उद्धव, गीता, परीक्षित मुक्ति एवं शुक पूजन के प्रसंग विस्तार से सुनाए। महाराज ने कहा कि मनुष्य आज नशे व दुर्व्यवसन में फंसकर अपने ही शरीर को खोखला कर रहा है। स्वस्थ शरीर के लिए किसी भी प्रकार का नशा नहीं करने की नसीहत दी। शरीर स्वस्थ रहेगा तो मन और आत्मा स्वस्थ रहेगी। उन्होंने कहा कि सभी ने 8 दिन भागवत कथा सुनी। इसमें अच्छे प्रसंगों को जीवन में उतारे और आत्मसात करें तभी सबका कथा सुनना सार्थक हाेगा। कथा के दौरान संगीतमय भजनों पर श्रद्धालु झूम उठे। कथा समापन पर महाआरती एवं पूर्णाहुति आयोजन संपन्न हुए। इसमें भारी संख्या में श्रद्धालुओं ने भाग लिया। इस दौरान पांडाल भगवान कृष्ण व नृसिंह भगवान के जयकारों से गूंज उठा।



Jahajpur News - rajasthan news not for selfishness but the friendship of krishna sudama was filled with renunciation
X
Jahajpur News - rajasthan news not for selfishness but the friendship of krishna sudama was filled with renunciation
Jahajpur News - rajasthan news not for selfishness but the friendship of krishna sudama was filled with renunciation
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना