पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Mandal News Rajasthan News Pakistan Expels Indian High Commissioner Breaks Diplomatic Ties Trade Also Closed

पाक ने भारतीय उच्चायुक्त काे िनकाला, राजनयिक संबंध तोड़ा, व्यापार भी बंद

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
राज्यपाल से मिले एनएसए डोभाल, सुरक्षा की समीक्षा की

भास्कर न्यूज | इस्लामाबाद/नई दिल्ली/श्रीनगर

जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद-370 काे खत्म किए जाने से बाैखलाए पाकिस्तान ने भारत के उच्चायुक्त अजय बिसारिया काे निकाल दिया है। प्रधानमंत्री इमरान खान की अध्यक्षता में इस्लामाबाद में बुधवार काे राष्ट्रीय सुरक्षा समिति (एनएससी) की बैठक में यह निर्णय लिया गया। इसके बाद विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा, ‘हमारे उच्चायुक्त अब नई दिल्ली में नहीं होंगे व उनके उच्चायुक्त काे वापस भेजा जाएगा।’ पाकिस्तान ने भारत के साथ व्यापार बंद करने अाैर राजनयिक संबंध तोड़ने का फैसला करने के बाद ही यह कार्रवाई की। एनएससी की बैठक में सेना प्रमुख, अाईएसअाई प्रमुख अाैर उनके मंत्रिमंडल के वरिष्ठ मंत्री, बड़े अधिकारी शामिल हुए। बैठक में जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 काे हटाने के भारत के कदम काे ‘एकतरफा अाैर अवैध’ करार दिया गया। प्रधानमंत्री कार्यालय से जारी बयान में कहा गया है कि एनएससी ने कश्मीर मुद्दे काे यूएन सुरक्षा परिषद में उठाने अाैर भारत के साथ ‘द्विपक्षीय व्यापार’ बंद करने तथा राजनयिक संबंधाें की समीक्षा किए जाने का फैसला किया है। इसी बीच, राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद-370 के प्रावधानों को हटाने की घोषणा कर दी है। केंद्रीय विधि एवं न्याय मंत्रालय ने बुधवार काे इसकी अधिसूचना जारी कर दी है।



इसमें कहा गया है कि संसद के दोनों सदनों में अनुच्‍छेद-370 के प्रावधानाें काे हटाए जाने का प्रस्‍ताव पारित होने के बाद राष्‍ट्रपति ने इसे अपनी मंजूरी दे दी है। राष्ट्रपति रामनाथ काेविंद ने मंगलवार काे इस पर अपने दस्तखत िकए। राष्ट्रपति की मंजूरी मिलने के बाद अब जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन विधेयक कानूनी रूप से लागू किया जा सकेगा। इसमें राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों- जम्मू-कश्मीर और लद्दाख बनाने का प्रावधान है अाैर अनुच्छेद-370 काे हटा िदया गया है। वहीं राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डाेभाल ने अातंकवाद से सबसे ज्यादा प्रभावित रहे जिले शाेपियां में स्थानीय लाेगाें से मुलाकात की अाैर उनके साथ भाेजन भी किया। इसकी तस्वीरें भी साझा की गई हैं। डाेभाल ने सुरक्षा बलाें के साथ भी चर्चा की।

राष्ट्रपति ने जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन विधेयक काे मंजूरी दी, विशेष राज्य का दर्जा खत्म

डाेभाल ने शाेपियां में अाम लाेगाें के साथ भाेजन किया

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक से एनएसए अजीत डोभाल ने मंगलवार रात श्रीनगर के राजभवन में मुलाकात की। राज्यपाल व एनएसए ने राज्य की मौजूदा सुरक्षा स्थिति पर चर्चा की। एनएसए डाेभाल बुधवार काे शाेपियां पहुंचे अाैर कुछ स्थानीय लाेगाें से मुलाकात की। इसका वीडियाे भी साझा किया गया है। इसमें डाेभाल एक चाैराहे पर हैं। दुकानें पूरी तरह बंद हैं अाैर सड़क भी सुनसान हैं। वे कुछ स्थानीय लाेगाें के साथ बातचीत कर रहे हैं अाैर उनके साथ वहीं भाेजन करते हुए दिख रहे हैं। डाेभाल ने लाेगाें काे 370 हटाने के फैसले से लाेगाें काे फायदाें की जानकारी भी दी।



डाेभाल ने लाेगाें से हालचाल अाैर केंद्र के फैसले पर उनकी राय भी पूछी। लाेगाें ने डाेभाल से कहा कि सब कुछ बहुत अच्छा है। इसके बाद डाेभाल ने कहा कि सरकार अापके हिताें का पूरा ध्यान रखेगी। ऊपर वाला जाे कुछ करता है, वाे अच्छा ही करता है।

300 से ज्यादा नेता हिरासत में, इंटरनेट, टेलीफोन सेवा अब भी बंद

राज्य के पुंछ जिले के बाफ्लाइज इलाके से पथराव की घटना हुई है। शांति में खलल की अाशंका में राज्य के 300 से ज्यादा नेताअाें काे हिरासत में लिया गया है। पूर्व मुख्यमंत्रियाें- उमर अब्दुल्ला व महबूबा मुफ्ती काे पहले से ही गिरफ्तार किया गया है। राज्य में टेलीफाेन, इंटरनेट सेवाअाें पर पहले से ही प्रतिबंध है।

जम्मू-कश्मीर में अाैर अधिक सुरक्षा सलाहकार नियुक्त

राष्ट्रपति की मंजूरी मिलने के बाद अब जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन विधेयक कानूनी रूप से लागू किया जा सकेगा। इसमें राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों- जम्मू-कश्मीर और लद्दाख बनाने का प्रावधान है अाैर अनुच्छेद-370 काे हटा िदया गया है। इसी बीच जम्मू-कश्मीर में अाैर अधिक सुरक्षा सलाहकार नियुक्त किए गए हैं।

खबरें और भी हैं...