ऐसे तैयार करें नर्सरी : 1 बीघा रोपाई के लिए

Bhilwara News - ऐसे तैयार करें नर्सरी : 1 बीघा रोपाई के लिए 100 वर्गमीटर में नर्सरी लगाएं। इसमें 250 किलो गोबर की खाद, 2 किलो यूरिया और 8...

Bhaskar News Network

Jul 09, 2019, 10:50 AM IST
Ropa News - rajasthan news prepare nursery 1 for bigha planting
ऐसे तैयार करें नर्सरी : 1 बीघा रोपाई के लिए 100 वर्गमीटर में नर्सरी लगाएं। इसमें 250 किलो गोबर की खाद, 2 किलो यूरिया और 8 किलो सिंगल सुपर फास्फेट डालें। इस क्यारी में 6 किलो उपचारित बीज छिड़काव विधि से डाल उसे हल्की सी मिट्टी या गोबर की खाद से ढक दें। नर्सरी में बुअाई समय मई का प्रथम या दूसरा पखवाड़ा है। क्यारी हमेशा तर रहनी चाहिए। पानी एक इंच से ज्यादा नहीं रहे। जरूरी होने पर 15 दिन बाद 2 किलो यूरिया टॅप ड्रेसिंग विधि से छिड़कें। 3 मिली डाइमिथाएट के साथ 10 ग्राम जाइनेब 3 लीटर पानी में मिला प्रति बीघा के निमित नर्सरी पर बुवाई के 15 दिन बाद छिड़कें।

धान की रोपाई : धान की पौध 25 से 30 दिन की हो जाए तो उसके बाद इसकी रोपाई को उचित माना गया है। पौधे से पौधे एवं कतार से कतार की दूरी 15 सेमी रखें। धान की रोपाई का सही समय जून के अंतिम सप्ताह से जुलाई का पहले पखवाड़ा है। पौधे ढाई सेमी से गहरे न लगाएं।

खाद एवं उर्वरक : धान के लिए प्रति बीघा 5 टन गोबर की खाद, 30 किलो नत्रजन और 15 किलो फास्फोरस डालना चाहिए। नत्रजन का 1/3भाग एवं सारा फास्फोरस उर्वरक रोपाई के समय देना चाहिए। 1/3 भाग नत्रजन रोपाई के 3 से 4 सप्ताह बाद, शेष 1/3 भाग 6 से 7 सप्ताह बाद खड़ी फसल में टॉप ड्रेसिंग विधि से दे दें। धान के लिए अमोनिया सल्फेट या यूरिया लाभदायक है। जिन खेतों में ढेचा की हरी खाद दबाई हो, उसमें 3.5 किलो नत्रजन प्रति बीघा डालें। फास्फोरस उर्वरक धान की बजाय ढेचा की फसल में दें। जिन खेतों में जिंक की कमी हो, वहां 6 किलो जिंक सल्फेट प्रति बीघा, उर्वरक की बेसल डोज के साथ दं।।

सिंचाई : धान की खेती में कुल 125 सेमी के लगभग सिंचाई के पानी की आवश्यकता होती है। धान की रोपाई के बाद खेत में 4 से 5 सेमी पानी खड़ा रहे, इसलिए समय-समय पर सिंचाई करते रहना चाहिए। दाना पकने के दिनों में सिंचाई रोक देनी चाहिए।

X
Ropa News - rajasthan news prepare nursery 1 for bigha planting
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना