संस्कृत संभाषण शिविर के समापन पर विद्यार्थियों ने नृत्य प्रस्तुति दी

Bhilwara News - संस्कृत भारती की अाेर से सिद्धार्थ इंटरनेशनल स्कूल में संस्कृत संभाषण शिविर का समापन हुअा। राष्ट्रीय स्वयंसेवक...

Dec 10, 2019, 11:06 AM IST
Shahpura News - rajasthan news students perform dance at the conclusion of sanskrit sankhas camp
संस्कृत भारती की अाेर से सिद्धार्थ इंटरनेशनल स्कूल में संस्कृत संभाषण शिविर का समापन हुअा। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रांत बौद्धिक शिक्षण प्रमुख सत्यनारायण कुमावत ने कहा कि दुनिया की सभी संस्कृतियां बारूद के ढेर पर हो और ऐसे में विश्व को बचाने की जिम्मेदारी आती है, तो वह संस्कृति है भारतीय संस्कृति है।

भारतीय संस्कृति की पहचान संस्कृत भाषा से है। नासा जैसी वैज्ञानिक संस्था भी संस्कृत के महत्व को समझती है। इसलिए वैज्ञानिकों को वहां संस्कृत का ज्ञान कराया जाता है। कार्यक्रम का शुभारंभ मां शारदे के समक्ष दीप प्रज्ज्वलन कर किया गया। स्वागत उद्बोधन विभाग संयोजक परमेश्वर प्रसाद कुमावत ने दिया। कार्यक्रम में अंजू जांगिड़, निशा गुर्जर ने शिव तांडव स्तोत्र पर नृत्य प्रस्तुत किया। बालक भरत कुमावत, रुद्राक्षी शर्मा, तेजस्व शर्मा, पुरुषोत्तम कुमावत व पूजा जांगिड़ ने संवाद कर संस्कृत भाषा का महत्व बताया। अध्यक्षता रघुनाथ प्रसाद वैष्णव ने की। मुख्य अतिथि प्रताप सिंह बारहठ स्नातकोत्तर महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. हरमल रेबारी थे। विशिष्ट अतिथि परमानंद शर्मा थे। जिला संयोजक भगवान लाल गोस्वामी ने अाभार जताया। कार्यक्रम में पूर्व जिला शिक्षा अधिकारी शिव प्रकाश सोमानी, विभाग संयोजक परमेश्वर प्रसाद कुमावत, सिद्धार्थ इंटरनेशनल स्कूल के निदेशक शिव प्रकाश रेगर, गोपी लाल रेगर,शिवचरण शर्मा, सुमित पारीक, रामप्रसाद पारीक, महावीर शर्मा, देवराज गुर्जर, ओम प्रकाश मांडेला, भगवत सिंह, विकास खंड संयोजक सांवर लाल गुर्जर, नगर संयोजक परमेश्वर लाल सुथार, गणपत लाल कोली, जिला महिला प्रमुखा पूजा गुर्जर, जिला शिक्षण प्रमुख अंजू जांगिड़, विकास खंड शिक्षण प्रमुख रामकन्या प्रजापति, निशा गुर्जर, भगवती जीनगर, निधि सेन आदि उपस्थित थे। संचालन शिविर चालक दुर्गेश वैष्णव ने किया।

X
Shahpura News - rajasthan news students perform dance at the conclusion of sanskrit sankhas camp
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना