शौचालय नहीं बनवाया अब 4 हजार लौटाने हैं, लेकिन नियम नहीं

Bhilwara News - शहर के 628 लोग ऐसे है जिन्होंने स्वच्छ भारत मिशन की पहली किश्त के 4 हजार रुपए प्राप्त किए लेकिन इसके बदले शौचालय का...

Dec 04, 2019, 08:35 AM IST
Bhilwara News - rajasthan news toilets not built now 4 thousand have to be returned but no rules
शहर के 628 लोग ऐसे है जिन्होंने स्वच्छ भारत मिशन की पहली किश्त के 4 हजार रुपए प्राप्त किए लेकिन इसके बदले शौचालय का निर्माण नहीं किया। अब उन्हें नगर परिषद से नोटिस मिले कि अगर शौचालय का निर्माण नहीं हुआ तो एफआईआर दर्ज की जा सकती है। जैसे ही नोटिस मिले वैसे ही खलबली मच गई।

इसका कारण यह है कि पहली किश्त करीब तीन साल पहले ली थी उनका उपयोग दूसरे कार्यों में कर लिया गया था। अब परेशानी यह है कि एक तो 4 हजार रुपए खर्च हो चुके है, दूसरी तरफ नगर परिषद शौचालय का निर्माण कराने के लिए एफआईआर करने की चेतावनी दे रहा है। अब कुछ गृहस्वामी नगर परिषद पहुंचकर गुहार लगा रहे है कि हमारी पहली किश्त के रुपए ले लो लेकिन एफआईआर दर्ज मत कराओ। लेकिन परेशान यही है कि स्वच्छ भारत मिशन में ऐसा कोई नियम नहीं है जिसके तहत शौचालय निर्माण के तहत दी गई पहली किश्त के रुपए वापस जमा कराए जा सके। इधर, इस बारे में नगर परिषद आयुक्त नारायणलाल मीणा का कहना है कि किश्त का उपयोग शौचालय निर्माण में किया जाना चाहिए। जैसे ही निर्माण कार्य आगे बढ़ता वैसे ही शेष राशि भी खाते में आती। लेकिन ऐसा कई लोगों ने नहीं किया। अब रुपए लौटाने का कोई प्रावधान नहीं है। इलेक्ट्रॉनिक्स सामान में किए खर्च... शौचालय निर्माण नहीं करने वाले गृह स्वामियों से पूछा गया कि आपने क्यों शौचालय नहीं बनवाया तो कई तर्क सामने आ गए। किसी ने कहा, क्या तीन साल तक रुपए टिकते है, किसी ने कहा कि शराब पीने में खर्च हो गए। किसी ने कहा कि महीने का किराणा सामान लाने में पैसे खर्च हो गए। ऐसे में अब अलग से रुपए खर्च करके शौचालय बनाना हमारे बस की बात नहीं है। आप चार हजार रुपए वापस ले लो ताकि हमारा पीछा छूटे। दादाबाड़ी में शीतला माता मंदिर के पास ही कैलाश कोली का मकान है। फैक्ट्री में जॉब करते है। तीन साल पहले के सर्वे में उनका मकान भी स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौचालय बनवाने के लिए चयनित हुआ। पहली किश्त के रूप में चार हजार रुपए भी खाते में आ गए। लेकिन समय के साथ यह रुपए खर्च हो गए। अब इतने रुपए नहीं है कि शौचालय निर्माण कर सके। ऐसे में चार हजार रुपए नगर परिषद अधिकारियों को वापस देकर परेशानी दूर करना चाहते लेकिन उन्होंने इनकार कर दिया। ऐसे में आगे कानूनी कार्रवाई होती है तो हम क्या करेंगे?

पैसे जमा कराने को तैयार हैं, अभियान में वापस पैसा लेने का प्रावधान नहीं

तीन सालों में नगर परिषद की ओर से कई बार नोटिस दिए गए कि आप स्वच्छ भारत मिशन के तहत लिए गए पैसों का उपयोग करते हुए शौचालय निर्माण कर दें। लेकिन इन्होंने ऐसा नहीं किया। इसको देखते हुए जब नगर परिषद ने एफआईआर की चेतावनी वाले नोटिस जारी किए तो गंभीर हो गए और नगर परिषद पहुंचना शुरू हो गया। इन्होंने वापस पैसे लौटाने की पेशकश कर दी। अब अधिकारियों ने इसके बारे में पता करना शुरू किया कि क्या योजना के तहत दिए पैसा को वापस लिया जा सकता है, तो जानकारी मिली कि कोई प्रावधान ही नहीं है। ऐसे में अब या तो उन्होंने शौचालय निर्माण करना होगा या फिर आने वाले दिनों में कानूनी प्रक्रिया का सामना करना पड़ सकता है।

X
Bhilwara News - rajasthan news toilets not built now 4 thousand have to be returned but no rules
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना