जीडीपी में एमएसएमई के याेगदान पर कार्यशाला

Bhilwara News - देश की जीडीपी में 30 प्रतिशत एवं निर्यात में 18 प्रतिशत योगदान एमएसएमई उद्योगों का है। वर्तमान में देश की...

Feb 15, 2020, 07:31 AM IST

देश की जीडीपी में 30 प्रतिशत एवं निर्यात में 18 प्रतिशत योगदान एमएसएमई उद्योगों का है। वर्तमान में देश की अर्थव्यवस्था में जो गिरावट है, उससे उभरने के लिए एमएसएमई उद्योगों का विकास एवं सहयोग आवश्यक है। इसी को देखते हुए रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने अपना ध्यान एमएसएमई उद्योगों पर केन्द्रित किया है। यह बात रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के विकास विभाग के प्रबंधक राकेश शर्मा ने मेवाड़ चैंबर में वित्तीय साक्षरता कार्यशाला में कही।

कार्यशाला में निर्यातकों ने निर्यात के भुगतान के बाद समय पर बैंक रीयलाइजेशन सर्टिफिकेट जारी नही होने की समस्या रखी। इसके कारण निर्यातकों को एमईआईएस एवं ड्यूटी ड्रा बैक का लाभ नही मिल पा रहा है। प्रारम्भ में चैंबर अध्यक्ष जेके बागड़ोदिया एवं महासचिव आरके जैन ने राकेश शर्मा एवं अग्रणी बैंक प्रबंधक आरएस चौहान का स्वागत किया। कार्यशाला में सेन्ट्रल बैंक के पूर्व कार्यकारी निदेशक डॉ. आरसी लोढा, बैंकर्स क्लब के सचिव एल एल गांधी सहित उद्यमी एवं निर्यातकों ने भाग लिया।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना