• Home
  • Rajasthan News
  • Bhim News
  • कलेक्टर के आश्वासन पर भीम के व्यापारी 19वें दिन धरने से हटे, पहले अस्पताल शिफ्ट नहीं की मांग पर अड़े रहे
--Advertisement--

कलेक्टर के आश्वासन पर भीम के व्यापारी 19वें दिन धरने से हटे, पहले अस्पताल शिफ्ट नहीं की मांग पर अड़े रहे

भीम| पिछले उन्नीस दिनों से भीम कस्बे में चल रहे हॉस्पिटल का स्थानांनतरण नंदावट में करने के लिए और कस्बे में बढ़ती...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 02:20 AM IST
भीम| पिछले उन्नीस दिनों से भीम कस्बे में चल रहे हॉस्पिटल का स्थानांनतरण नंदावट में करने के लिए और कस्बे में बढ़ती चोरियों के विरोध में कस्बे के व्यापार संगठन और सामाजिक कार्यकर्ता धरना कर रहे थे। जो बुधवार को जिला कलेक्टर पीसी बेरवाल के आश्वासन बाद समाप्त हुआ। हालांकि बातचीत के दौरान व्यापारी और स्थानीय लोग आक्रोशित हो गए। भीम संघर्ष समिति के संयोजक गोपालसिंह पीटीआई के नेतृत्व में व्यापार मंडलों के प्रतिनिधि ने राजसमंद कलेक्टर पीसी बेरवाल को बुधवार को अवगत कराया कि हॉस्पिटल को भीम से नंदावट में स्थानान्तरित नहीं करने दिया जाएगा। जब तक नंदावट में भीम हॉस्पिटल के नाम से 10 बीघा जमीन की गई अलॉटमेन्ट को निरस्त नहीं किया जाता तब तक धरना जारी रहेगा। साथ ही तीन मार्च से अनिश्चितकालिन भीम कस्बा बंद रहेगा। उपखंड मुख्यालय पर जब कलेक्टर पीसी बेरवाल, कार्यवाहक उपखंड अधिकारी काशीराम, थानाधिकारी लाभूराम विश्नोई, भीम प्रधान नरेंद्र बागड़ी, भीम सरपंच गिरधारीसिंह बैठक में मौजूद रहे।

इस तरह उठाया धरना : कलेक्टर ने व्यापारियों की बात को ध्यान में रखते हुए मगरा विकास बोर्ड अध्यक्ष हरिसिंह रावत से फोन पर बात की। इस पर विधायक हरिसिंह रावत ने यह आश्वासन दिया कि दो दिन बाद भीम में आकर धरने पर बैठे लोगों से मिलकर जो भी उचित निर्णय होगा किया जाएगा।

पूर्व मंत्री भी कलेक्टर से मिले : हॉस्पिटल के स्थानांनतरण को लेकर पूर्व गृह राज्य मंत्री लक्ष्मणसिंह रावत कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ कलेक्टर से मिल अवगत कराया कि वर्तमान में भीम हॉस्पिटल व्यवस्थित है।

अनिश्चितकालीन बंद का निर्णय सर्राफा संघ, व्यापार मंडल अध्यक्ष बाबूलाल देरासरिया, कपड़ा व्यापार मंडल मंत्री संपतराज मुणोत, मेडिकल एसोसिएशन सुवालाल मुणोत, किराणा एसोसिएशन भीकमचन्द कोठारी, सामाजिक कार्यकर्ता मंजू तिवारी, कमलेश जैन, कन्हैयालाल सोनी, मंडल अध्यक्ष प्रेमसिंह, भीम संघर्ष समिति के संयोजक गोपालसिंह पीटीआई, हनुमन्तसिंह, किशनसिंह, महासभा के वरिष्ठ उपाध्यक्ष हरिसिंह, गौतम दक, गौतम गन्ना आदि ने सर्वसम्मति से लिया।