Hindi News »Rajasthan »Bhinmal» 467 शिक्षकों के स्थायीकरण आवेदनों की जांच अटकी

467 शिक्षकों के स्थायीकरण आवेदनों की जांच अटकी

सरकारी कार्यालयों में अधिकारियों के आदेशों की स्थाई कार्मिकों की ओर से पालना नहीं करना प्रोबेशन कार्मिकों के लिए...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 29, 2018, 02:15 AM IST

467 शिक्षकों के स्थायीकरण आवेदनों की जांच अटकी
सरकारी कार्यालयों में अधिकारियों के आदेशों की स्थाई कार्मिकों की ओर से पालना नहीं करना प्रोबेशन कार्मिकों के लिए भारी पड़ रहा है। प्रारंभिक शिक्षा विभाग के डीईओ रामकृष्ण मीना की ओर से 9 मार्च को जालोर, सायला व भीनमाल बीईईओ को पत्र लिख अधीनस्थ कार्मिकों को शिक्षक भर्ती 2013 में नियुक्त 467 अध्यापकों के स्थायीकरण के लिए प्राप्त आवेदन पत्रों की जांच व संस्थापन संबंधित पत्रावलियों का निस्तारण करने के लिए स्थानीय कार्यालय में नियुक्त एक-एक कार्मिक को रिलीव करने के निर्देश जारी किए गए थे, मगर डीईओ के आदेश जारी करने के बाद से करीब बीस दिन बाद भी संबंधित बीईईओ की ओर से कार्मिकों को रिलीव नहीं किया गया है जिसके चलते 467 अध्यापकों के स्थायीकरण की कार्रवाई अटकी हुई है। इस संबंध में पूछने पर जहां भीनमाल बीईईओ मोहनलाल सुथार का कहना था कि आदेश जारी हुए हैं तो वह क्या कर सकते हैं। यहां भी बहुत काम होते हैं। वहीं जालोर बीईईओ व सायला का अतिरिक्त कार्यभार संभाल रहे किशनाराम विश्नोई का कहना था कि उन्होंने पत्र लिखकर डीईओ को पहले से चल रही कार्मिकों की कमी की समस्या के बारे में अवगत करवा दिया है। वहीं डीईओ मीना का कहना था कि इस संबंध में संबंधित बीईईओ को कारण बताओ नोटिस जारी किए जाएंगे।

बीईईओ ने 20 दिन बाद भी कार्मिक नहीं किए रिलीव : शिक्षा विभाग के जिला कार्यालय में कार्मिकों की कमी को देखते हुए डीईओ प्रारंभिक ने जिले के जालोर, सायला व भीनमाल बीईईओ से इन 467 अध्यापकों के स्थायीकरण के लिए प्राप्त आवेदनों की जांच व अन्य कार्यों के पूरा होने तक तीन एक-एक कार्मिक को रिलीव करने के लिए 9 मार्च को आदेश जारी किए थे, मगर डीईओ के आदेश को करीब 20 दिन गुजर जाने के बावजूद संबंधित बीईईओ की ओर से इन कार्मिकों को रिलीव नहीं किया गया है।

डीईओ के आदेशों की पालना नहीं कर रहे बीईईओ, तीन कार्मिकों को नहीं किया रिलीव, बोले- मेरे यहां भी बहुत से काम

अटका पड़ा है शिक्षकों के स्थायीकरण का मामला

डीईओ के आदेशों के बावजूद संबंधित कार्मिकों को रिलीव नहीं करने के कारण 2013 में नियुक्त 467 शिक्षकों के स्थायीकरण के आवेदनों की जांच व संस्थापन के लंबित प्रकरणों व संस्थापन संबंधित अन्य पत्रावलियों के निराकरण का काम अटका हुआ है। इसको लेकर विभिन्न शिक्षक संगठनों की ओर से भी समय-समय पर ज्ञापन दिए गए मगर कार्मिकों के रिलीव नहीं होने के कारण अब तक काम में कोई प्रगति नहीं हो पाई है।

रिलीव करना मेरे क्षेत्राधिकार में है

एलडीसी को रिलीव करने के लिए डीईओ के आदेश मिले थे, मैं रिलीव करुं या नहीं, यह मेरा क्षेत्राधिकार है। यहां भी बहुत काम होते हैं। -मोहनलाल सुथार, बीईईओ, भीनमाल

पत्र मिलने के बाद जालोर व सायला कार्यालय में पहले से चल रही कार्मिकों की कमी की समस्या के बारे में डीईओ को अवगत करवा दिया है। एक कार्मिक की शादी होने के कारण समस्या और भी बढ़ गई है। -किशनाराम विश्नोई, बीईईओ जालोर व कार्यवाहक बीईईओ सायला

आदेश जारी करने के करीब 20 दिन बाद भी कार्मिकों को रिलीव नहीं करने से 2013 के शिक्षकों के स्थायीकरण का काम अटका हुआ है। इसको लेकर संबंधित बीईईओ को कारण बताओ नोटिस जारी किए जाएंगे। -रामकृष्ण मीना, डीईओ, प्रारंभिक, जालोर

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bhinmal News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: 467 शिक्षकों के स्थायीकरण आवेदनों की जांच अटकी
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Bhinmal

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×