• Home
  • Rajasthan News
  • Bhinmal News
  • पांच माह में एक ही बैंक में तीसरी वारदात इस बार किसान से 2.10 लाख रुपए लूटे
--Advertisement--

पांच माह में एक ही बैंक में तीसरी वारदात इस बार किसान से 2.10 लाख रुपए लूटे

शहर के पंजाब नेशनल बैंक में लूट की वारदातों का सिलसिला थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। बुधवार को एक बार फिर केसीसी...

Danik Bhaskar | Mar 29, 2018, 02:15 AM IST
शहर के पंजाब नेशनल बैंक में लूट की वारदातों का सिलसिला थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। बुधवार को एक बार फिर केसीसी खाते से रुपए आहरित कर ले जा रहा वृद्ध किसान लूट का शिकार हुआ। सीसीटीवी फुटेज के मुताबिक इस बार लुटेरों ने बैंक के अंदर वारदात को अंजाम न देकर बैंक के सामने स्थित परिसर में वृद्ध को लूटा। करीब 200 मीटर की दूरी में की गई लूट की वारदात के दौरान थैले के चीरा लगाकर 2 लाख 10 रुपए पार कर लिए। घटना के बाद सूचना मिलने पर पुलिस ने बैंक में लगे सीसीटीवी फुटेज खंगाले। इस दौरान बैंक परिसर के बाहर लोगों की भीड़ जमा हो गई।

जानकारी के अनुसार हमीराराम पुत्र वदाराम मेघवाल निवासी दांतीवास बुधवार को अंबेडकर सर्किल के पास पृथ्वी प्लाजा कॉम्पलेक्स में स्थित पंजाब नेशनल बैंक में केसीसी खाते से रुपए निकालने के लिए उसके पोते वागाराम के साथ आए थे। दोपहर 12.30 बजे के आसपास केसीसी खाते से 2.80 रुपए आहरित किए। इस दौरान 20 हजार रुपए किसी परिचित को उधार दे दिए। बाकी 2.60 लाख रुपए थेले में रखकर पास में ही स्थित एसबीआई की एडीबी शाखा के पास जाकर बस स्टैण्ड जाने के लिए टैक्सी किराए की। जब टैक्सी में सवार हुए तो इस दौरान उन्होंने अपना थैला समेटना चाहा। थैला के चीरा लगा देख उनके होश उड़ गए। जब थैले में देखा तो उसमें मात्र 50 हजार रुपए ही थे। दादा और पोते ने अपने साथ हुई लूट की घटना की जानकारी तत्काल बैंक के शाखा प्रबंधक को दी। पुलिस को सूचना मिलने पर बैंक परिसर में लगे कैमरों को खंगाला गया, लेकिन कोई सुराग हाथ नहीं लग पाया।

बैंक में नहीं है गार्ड : बुधवार को हुई लूट की घटना एक बार फिर बैंक प्रशासन की लापरवाही उजागर करता है क्योंकि पिछले 3 साल से बैंक में गार्ड की पोस्ट खाली चल रही है। यहां 3 सालों से किसी भी गार्ड को नियुक्त नहीं किया है ऐसे में बैंक प्रशासन की लापरवाही सामने आ रही है। शाखा प्रबंधक एमएल तंवर ने बताया उसके कार्यकाल से पहले भी गार्ड नहीं था लेकिन उच्चाधिकारियों को गार्ड की नियुक्ति के लिए अवगत करवाया था।

आरोपियों का कोई सुराग नहीं, नगरपालिका द्वारा लगाए गए सीसीटीवी कैमरे हो रहे नाकारा साबित

भीनमाल।.बैंक के सामने वह परिसर जहां हुई लूट की घटना।

चीरा लगाया हुआ थैला दिखाता बैंक ग्राहक।

भास्कर न्यूज | भीनमाल

शहर के पंजाब नेशनल बैंक में लूट की वारदातों का सिलसिला थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। बुधवार को एक बार फिर केसीसी खाते से रुपए आहरित कर ले जा रहा वृद्ध किसान लूट का शिकार हुआ। सीसीटीवी फुटेज के मुताबिक इस बार लुटेरों ने बैंक के अंदर वारदात को अंजाम न देकर बैंक के सामने स्थित परिसर में वृद्ध को लूटा। करीब 200 मीटर की दूरी में की गई लूट की वारदात के दौरान थैले के चीरा लगाकर 2 लाख 10 रुपए पार कर लिए। घटना के बाद सूचना मिलने पर पुलिस ने बैंक में लगे सीसीटीवी फुटेज खंगाले। इस दौरान बैंक परिसर के बाहर लोगों की भीड़ जमा हो गई।

जानकारी के अनुसार हमीराराम पुत्र वदाराम मेघवाल निवासी दांतीवास बुधवार को अंबेडकर सर्किल के पास पृथ्वी प्लाजा कॉम्पलेक्स में स्थित पंजाब नेशनल बैंक में केसीसी खाते से रुपए निकालने के लिए उसके पोते वागाराम के साथ आए थे। दोपहर 12.30 बजे के आसपास केसीसी खाते से 2.80 रुपए आहरित किए। इस दौरान 20 हजार रुपए किसी परिचित को उधार दे दिए। बाकी 2.60 लाख रुपए थेले में रखकर पास में ही स्थित एसबीआई की एडीबी शाखा के पास जाकर बस स्टैण्ड जाने के लिए टैक्सी किराए की। जब टैक्सी में सवार हुए तो इस दौरान उन्होंने अपना थैला समेटना चाहा। थैला के चीरा लगा देख उनके होश उड़ गए। जब थैले में देखा तो उसमें मात्र 50 हजार रुपए ही थे। दादा और पोते ने अपने साथ हुई लूट की घटना की जानकारी तत्काल बैंक के शाखा प्रबंधक को दी। पुलिस को सूचना मिलने पर बैंक परिसर में लगे कैमरों को खंगाला गया, लेकिन कोई सुराग हाथ नहीं लग पाया।

बैंक में नहीं है गार्ड : बुधवार को हुई लूट की घटना एक बार फिर बैंक प्रशासन की लापरवाही उजागर करता है क्योंकि पिछले 3 साल से बैंक में गार्ड की पोस्ट खाली चल रही है। यहां 3 सालों से किसी भी गार्ड को नियुक्त नहीं किया है ऐसे में बैंक प्रशासन की लापरवाही सामने आ रही है। शाखा प्रबंधक एमएल तंवर ने बताया उसके कार्यकाल से पहले भी गार्ड नहीं था लेकिन उच्चाधिकारियों को गार्ड की नियुक्ति के लिए अवगत करवाया था।

बैंक से मात्र दो सौ मीटर की दूरी पर ही आरोपियों ने दिया वारदात को अंजाम

सीसीटीवी फुटेज के मुताबिक लुटेरों ने हर बार की तरह इस बार बैंक परिसर के अंदर लूट की वारदात को अंजाम न देकर बैंक परिसर के बाहर अंजाम दिया है। बैंक के अंदर सीसीटीवी फुटेज में पोते के हाथ में थामा थैला सुरक्षित नजर आ रहा है। बैंक परिसर के बाहर एसबीआई की एडीबी शाखा के पास जाकर दोनों ने टैक्सी में बैठते समय थैला देखा तो उसमें से रुपए गायब मिले। जहां से टैक्सी किराए की वहां से बैंक परिसर तक की दूरी करीबन 200 मीटर के करीब है। ऐसे में मात्र कुछ ही दूरी में ही इस वारदात को अंजाम दिया गया है।

लूट का शिकार हुआ खाता धारक हमीराराम मेघवाल।

5 माह में तीसरी बड़ी घटना, वह भी एक ही बैंक में

पांच माह में पंजाब नेशनल बैंक में बुधवार को हुई लूट की सबसे बड़ी घटना है। इससे पूर्व 20 नवंबर 2017 को अरणु निवासी गुमानसिंह राजपूत का थैला चीरकर बैंक के अंदर से एक लाख रुपए पार कर लिए थे। 29 जनवरी को सावीधर निवासी 70 वर्षीय नारणाराम पुत्र सुरताजी चौधरी के खाते में रुपए जमा करवाने आया था तो वह भी 25 हजार की लूट का शिकार हो गया था।

कैमरे किसी काम के नहीं

घटना की सूचना मिलने के बाद बैंक पहुंचे किसान नेता विक्रमसिंह पूनासा व सुरेश व्यास ने बताया कि बैंकों में हो रही लूट की वारदातों का आज तक कोई सुराग नहीं लग पाया है। शहर में लाखों रुपए खर्च कर विभिन्न जगहों पर नगरपालिका की ओर से लगाए गए कैमरे नकारा साबित हो रहे हैं।

नहीं लगा कोई सुराग