• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Bhinmal News
  • अतिवृष्टि में खुद प्रशासन के लिए सहायक हुई थी हेल्पलाइन, अब बंद की, लोगों को होगी मुश्किलें
--Advertisement--

अतिवृष्टि में खुद प्रशासन के लिए सहायक हुई थी हेल्पलाइन, अब बंद की, लोगों को होगी मुश्किलें

जिलेवासियों की समस्याओं के समाधान व आपात स्थिति में सुविधा उपलब्ध करवाने में कारगर साबित हुई हेल्पलाइन को चालू...

Dainik Bhaskar

Mar 01, 2018, 02:20 AM IST
अतिवृष्टि में खुद प्रशासन के लिए सहायक हुई थी हेल्पलाइन, अब बंद की, लोगों को होगी मुश्किलें
जिलेवासियों की समस्याओं के समाधान व आपात स्थिति में सुविधा उपलब्ध करवाने में कारगर साबित हुई हेल्पलाइन को चालू रखने के लिए जिलेवासियों ने भी आवाज उठाना शुरू कर दिया है। लोगों का कहना था कि वर्तमान कलेक्टर 181 नंबर पर शिकायतें दर्ज करने की बात करते हैं मगर वो पहले राज्य स्तर पर दर्ज होने के बाद जिला प्रशासन को मिलेगी। ऐसे में किसी आपात स्थिति में पीडि़त को सहायता नहीं मिल पाएगी। जनप्रतिनिधियों को भी जागरूक होकर जनहित के लिए कलेक्टर से वार्ता कर हेल्पलाइन को 24 घंटे सुचारु रखने के लिए प्रयास करने चाहिए। ग्रामीणों के पास सभी विभागीय अधिकारियों के नंबर नहीं होते हैं, ऐसे में बिजली व पानी की समस्या के साथ किसी दुर्घटना की जानकारी देने के लिए हेल्पलाइन पर कॉल करने के बाद त्वरित समाधान हो जाता है। कलेक्टर स्टाफ की कमी का हवाला दे रहे हैं, तो फिर इतने सालों से हेल्पलाइन कैसे संचालित हो रही थी।

अतिवृष्टि के दौरान बाढ़ पीडि़तों को मिली थी सहायता






X
अतिवृष्टि में खुद प्रशासन के लिए सहायक हुई थी हेल्पलाइन, अब बंद की, लोगों को होगी मुश्किलें
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..