Hindi News »Rajasthan »Bhinmal» ससुराल गई तो पति से समझाइश कर पढ़ाई जारी रखी मीरा देवासी ने कई बच्चियों को स्कूल तक पहुंचाया, अब जिला परिषद सदस्य भी बनी

ससुराल गई तो पति से समझाइश कर पढ़ाई जारी रखी मीरा देवासी ने कई बच्चियों को स्कूल तक पहुंचाया, अब जिला परिषद सदस्य भी बनी

भीनमाल के रेबारियों की ढाणी में पली बढ़ी मीरा देवासी को पढाई का इतना शौक था कि घर में रहते हुए हर क्लास में अव्वल...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 08, 2018, 02:20 AM IST

ससुराल गई तो पति से समझाइश कर पढ़ाई जारी रखी मीरा देवासी ने कई बच्चियों को स्कूल तक पहुंचाया, अब जिला परिषद सदस्य भी बनी
भीनमाल के रेबारियों की ढाणी में पली बढ़ी मीरा देवासी को पढाई का इतना शौक था कि घर में रहते हुए हर क्लास में अव्वल रही और बाद में शादी हुई तो अपने पति तथा ससुराल वालों को पढ़ाई का महत्व बताते हुए अपनी पढा़ई जारी रखी। ससुराल में बीएड तक उच्च शिक्षा हासिल की। इतना ही नहीं समाज की और बच्चियों को भी शिक्षित होने के लिए प्रेरित किया और उन्हें पढ़ने के लिए विद्यालय भेजा। राजनीति में भी वे अपनी अलग पहचान रखती है। वर्तमान में वो जिला परिषद के वार्ड संख्या 28 से सदस्य तथा भाजपा जिला मंत्री का दायित्व निर्वहन कर रही है।

भीनमाल के रेबारियों की ढाणी में पली-बढ़ी मीरा देवासी कक्षा प्रथम से ही पढ़ाई में अव्वल रही है। इनके पिता जोधाराम देवासी हलवाई का कार्य करते हैं जिन्होंने भी मीरा देवासी को समय-समय पर अध्ययन के लिए प्रोत्साहित किया। 2011 में जब मीरा की शादी हो गई लेकिन मीरा ने हार नहीं मानी और अध्ययन को निरंतर जारी रखा। अध्ययन से विशेष लगाव होने के कारण मीरा शैक्षिक व सहशैक्षिक गतिविधियों में हमेशा अव्वल रही है। भारत विकास परिषद की ओर से आयोजित प्रश्न मंच प्रतियोगिता में दो बार राज्य स्तर पर जिले का प्रतिनिधित्व किया। कक्षा 10वीं में 76 प्रतिशत व 12वीं कला संकाय में 77 प्रतिशत अंक हासिल कर दो बार गार्गी पुरस्कार प्राप्त कर चुकी है। साथ ही इंदिरा प्रियदर्शिनी पुरस्कार स्वरूप 1 लाख रुपए नकद भी प्राप्त किए।

भीनमाल में महिला सशक्तिकरण की उदाहरण बनी मीरा देवासी, कई बच्चियों को शिक्षा से भी जोड़ा

राजनीति में भी आगे, जिला परिषद सदस्य निर्वाचित

5 बहिनों व 2 भाइयों में सबसे छोटी मीरा देवासी ने राज्य स्तर पर भी जिले का प्रतिनिधित्व किया है। पंचायती राज चुनाव 2015 में जिला परिषद के वार्ड संख्या 28 से चुनाव लड़ा तो विजयी रही। वर्तमान में मीरा जिला भाजपा में जिला मंत्री के पद पर है। मीरा देवासी का ससुराल सायला तहसील के पांथेड़ी गांव में है। इनके पति मुंबई में व्यवसायरत है।

महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने की जरूरत

हमारे देश की लगभग 50 प्रतिशत आबादी केवल महिलाओं की है अर्थात पूरे देश के विकास के लिए इस आधी आबादी की जरूरत है जो कि अभी भी सशक्त नहीं है और कई सामाजिक बंधनों से बंधी हुई है। अगर हमें अपने देश को विकसित बनाना है तो ये जरुरी है कि सरकार, पुरुष और खुद महिलाओं द्वारा महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देना होगा। वर्तमान दौर में महिलाओं को हर जगह स्थान मिल रहा है जो कि सकारात्मक संदेश है। -मीरा देवासी, जिला परिषद सदस्य, भीनमाल

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bhinmal News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: ससुराल गई तो पति से समझाइश कर पढ़ाई जारी रखी मीरा देवासी ने कई बच्चियों को स्कूल तक पहुंचाया, अब जिला परिषद सदस्य भी बनी
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Bhinmal

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×