--Advertisement--

जालोर/ भीनमाल. होली

होली पर अहसास और अपनत्व के दो रंग : गुलाल की खुशबू के अहसास से फैली दृष्टिहीनों के चेहरों पर मुस्कान, तो अपनत्व के...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 02:25 AM IST
होली पर अहसास और अपनत्व के दो रंग : गुलाल की खुशबू के अहसास से फैली दृष्टिहीनों के चेहरों पर मुस्कान, तो अपनत्व के रंग पाकर झूमे नासमझ बच्चें


जालोर/ भीनमाल. होली की मस्ती के ये दो फोटो है अहसास और अपनत्व के। एक में वे दृष्टिहीन है जो देख नहीं सकते लेकिन गालों पर गुलाल लगाई जाती है और हवा में गुलाल की खुशबू उड़ती है तो उसकी महक से समझ जाते है कि होली आ गई है। गोदन गांव में संचालित दृष्टिहीन आवासीय विद्यालय के इस फोटो में दृष्टिहीन रंग देख नहीं पा रहे है लेकिन इसकी खुशबू इनमें खुशियां फैला रही है। दूसरी तरफ भीनमाल के एक स्कूल का फोटो है जिसमें छोटे-छोटे बच्चों में समझ नहीं है लेकिन अपनत्व के रंग इनको भी खूब भाते है।