Hindi News »Rajasthan »Bhinmal» चाटवाड़ा-करड़ा मार्ग पर दो वर्ष से नाले की रपट क्षतिग्रस्त

चाटवाड़ा-करड़ा मार्ग पर दो वर्ष से नाले की रपट क्षतिग्रस्त

चाटवाड़ा-करड़ा के बीच एक नाले पर बनी रपट पिछले दो वर्षों में हुई बारिश के दौरान क्षतिग्रस्त हो गई थी, तब से लेकर अभी...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 31, 2018, 02:35 AM IST

चाटवाड़ा-करड़ा के बीच एक नाले पर बनी रपट पिछले दो वर्षों में हुई बारिश के दौरान क्षतिग्रस्त हो गई थी, तब से लेकर अभी तक यह इस रपट की मरम्मत नहीं हो पाई है। ऐसे में इस मार्ग पर आवागमन करने वाले वाहन चालकों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। एक वर्ष बीत जाने के बाद भी बजट स्वीकृति नहीं आने से इसकी सुध नहीं ली है जिसका खामियाजा क्षेत्र के ग्रामीणों को भुगतना पड़ रहा है। खासकर वाहन चालकों को रात्रि में काफी दिक्कत उठानी पड़ रही है। इस नाले पर रपट क्षतिग्रस्त होने के बाद कई बड़े गड्ढे है और रपट की चौड़ाई भी कम हो गई है कई वाहन चालक तो इस रास्ते पर अपना वाहन किराए पर लेकर आना भी पसंद नहीं करते। यहां रपट का निशान भी धीरे-धीरे मिट रहा है।

कई गांवों के रास्तों को जोड़ता है मार्ग

भीनमाल से करड़ा, चाटवाड़ा, अरणाय, खारा, धाणता, सांचौर सहित दर्जनों गांवों के वाहन गुजरते हैं। वाहन चालकों के लिए यह चुनौती भरा रास्ता है। यहां के कस्बों से एवं गांवों से भीनमाल एवं आगे को जाने वाली एंबुलेंस इसी रास्ते से गुजरती है। ग्रामीण गजेंद्रसिंह का कहना है कि हम रोजाना काम पर जाते हैं क्षतिग्रस्त रपट की वजह से काफी परेशानी झेलनी पड़ती है। नाले में भारी मिट्टी होने से हर समय यहा धुल के गुब्बार उड़ते रहते है। बाइक मिट्टी में धंस जाती है ऐसे में हादसे का डर सताता रहता है।

सार्वजनिक निर्माण विभाग की अनदेखी के चलते नहीं हो हुई मरम्मत, कई गांवों को जोड़ता है भीनमाल-करड़ा मार्ग

भीनमाल. चाटवाड़ा-करड़ा मार्ग पर नदी में क्षतिग्रस्त।

चाटवाड़ा-करड़ा के मध्य नाले की रपट एक वर्ष से जर्जरावस्था में होने से हमें आवागमन में मुश्किल हो रही है। संबंधित विभाग वैकल्पिक व्यवस्था भी नहीं कर रहा है। आने वाले बारिश के दिनों में यह मार्ग बंद रह सकता है। -असकर खां, वाहन चालक, वणधर

हमने इस नाले की रपट मरम्मत के लिए प्रस्ताव बनाकर विभाग के उच्चाधिकारियों को भिजवा दिया था, मगर अभी तक स्वीकृति नहीं आई है इस वजह से मरम्मत कार्य नहीं हो पा रहा है। स्वीकृति आते ही यहा कार्य शुरू करवाया जाएगा। -हेमाराम विश्नोई, एईएन, पीडब्ल्यूडी रानीवाड़ा

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bhinmal

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×