भीनमाल

  • Hindi News
  • Rajasthan News
  • Bhinmal News
  • भीनमाल में बंगले बिकने में तकलीफ नहीं आए इसलिए पालिका ने बना दिया ओवरफ्लो
--Advertisement--

भीनमाल में बंगले बिकने में तकलीफ नहीं आए इसलिए पालिका ने बना दिया ओवरफ्लो

नगरपालिका की ओर से शहर में करवाए गए विकास कार्यों पर कहीं घी घणा तो कहीं मुट्ठी चणा कहावत चरितार्थ हो रही है। शहर के...

Dainik Bhaskar

Mar 27, 2018, 03:35 AM IST
भीनमाल में बंगले बिकने में तकलीफ नहीं आए इसलिए पालिका ने बना दिया ओवरफ्लो
नगरपालिका की ओर से शहर में करवाए गए विकास कार्यों पर कहीं घी घणा तो कहीं मुट्ठी चणा कहावत चरितार्थ हो रही है। शहर के सभी वार्डों में अगर नजर डाली जाए तो स्थिति विपरीत ही नजर आ रही है। जहां जरूरत है वहां नाली, सड़क व रोड लाइट जैसी मूलभूत सुविधाओं को भी लोग तरस रहे है। वहीं इधर, नगरपालिका में उच्च पदों पर काबिज लोग अपने निजी स्वार्थ के कारण अपने चहेतों को फायदा पहुंचाने के लिए जो क्षेत्र आबाद नहीं है, उन इलाकों में भी बड़े-बड़े कार्य करवा देते है।

अगर आपके वार्ड में कहीं कोई समस्या है और इसके लिए आप नगरपालिका से समाधान करवाना है तो आपको कई चक्कर लगाने पड़ सकते है। इसके ठीक विपरीत प्रभावशाली लोगों के काम यहांं आसानी से बन जाते है। वित्तीय वर्ष 2016-17 में नगरपालिका की ओर से 26 अक्टूबर 2016 को तलबी तालाब के निकास पर ओवरफ्लो व पुलिया निर्माण कार्य के लिए करीबन 19 लाख रुपए खर्च किए है। हालांकि यहां आबादी कम है फिर भी ओवरफ्लो व पुलिया निर्माण करवाया गया है क्योंकि ओवरफ्लो के ठीक पास ही किसी व्यक्ति की ओर से 30 से 40 बंगलों का निर्माण करवाया गया है। लोगों का आरोप है कि बंगले बिकने में किसी तरह की परेशानी न आए इसी वजह से यहा ओवरफ्लो व इतना बड़ा सीमेंटेड नाला निर्माण करवाया गया है। भू माफिया भी नगरपालिका से सांठगांठ कर अपनी कॉलोनी विकसित करने के लिए पालिका से कई बड़े कार्य स्वीकृत करवा देते है ऐसे में जरूरतमंद इलाके विकास से वंचित रह जाते है और पालिका बजट न होने का हवाला दे देती है।

वर्षों से नहीं हुए कोई कार्य

पालिका ने तलबी मार्ग पर कम आबादी होने के बावजूद ओवरफ्लो व सीमेंटेड नाला निर्माण करवाया दिया। जबकि अति प्राचीन जाकोब तालाब का ओवरफ्लो वर्षों से यथा स्थिति में पड़ा है। आसपास भारी संख्या में आबादी निवास करती है। यहां बरसात के समय भीनमाल-पूनासा मार्ग ओवरफ्लो के पानी से कहीं बार बंद रहता है। भीनमाल-पूनासा मार्ग पर चलने आवागमन करने वाले वाहन चालकों को बारिश के समय पानी में से होकर गुजरना पड़ता है। मगर पालिका ने यहां कभी कोई कार्य करवाया ही नहीं है। इधर जाकोब तालाब में जाने वाला नाला भी वर्षो से गंदगी से अटा पड़ा है जबकि यह घनी आबादी के बीचोंबीच स्थित है। इस नाले में हमेशा चलने वाला गंदा पानी पक्की नाली के अभाव में पूरे नाले में फैल जाता है और जाकोब तालाब में प्रवेश कर जाता है मगर फिर भी पालिका ने यहां नाली का निर्माण नहीं करवाया है। इस तरह शहर के कई वार्ड ऐसे है जहां नाले-नालियों के निर्माण की सख्त जरूरत है मगर वहां कार्य हो ही नहीं पाया है।

आबादी क्षेत्र को भूल कर विशेष व्यक्ति को फायदा पहुंचाने को कर रहे काम

भीनमाल। तलबी तालाब पर बनाया गया ओवरफ्लो व सीमेंटेड नाला व तालाब पर बनाया गया ओवरफ्लो व सीमेंटेड नाला।

चहेतों को पहुंचा रहे फायदा


भास्कर न्यूज | भीनमाल

नगरपालिका की ओर से शहर में करवाए गए विकास कार्यों पर कहीं घी घणा तो कहीं मुट्ठी चणा कहावत चरितार्थ हो रही है। शहर के सभी वार्डों में अगर नजर डाली जाए तो स्थिति विपरीत ही नजर आ रही है। जहां जरूरत है वहां नाली, सड़क व रोड लाइट जैसी मूलभूत सुविधाओं को भी लोग तरस रहे है। वहीं इधर, नगरपालिका में उच्च पदों पर काबिज लोग अपने निजी स्वार्थ के कारण अपने चहेतों को फायदा पहुंचाने के लिए जो क्षेत्र आबाद नहीं है, उन इलाकों में भी बड़े-बड़े कार्य करवा देते है।

अगर आपके वार्ड में कहीं कोई समस्या है और इसके लिए आप नगरपालिका से समाधान करवाना है तो आपको कई चक्कर लगाने पड़ सकते है। इसके ठीक विपरीत प्रभावशाली लोगों के काम यहांं आसानी से बन जाते है। वित्तीय वर्ष 2016-17 में नगरपालिका की ओर से 26 अक्टूबर 2016 को तलबी तालाब के निकास पर ओवरफ्लो व पुलिया निर्माण कार्य के लिए करीबन 19 लाख रुपए खर्च किए है। हालांकि यहां आबादी कम है फिर भी ओवरफ्लो व पुलिया निर्माण करवाया गया है क्योंकि ओवरफ्लो के ठीक पास ही किसी व्यक्ति की ओर से 30 से 40 बंगलों का निर्माण करवाया गया है। लोगों का आरोप है कि बंगले बिकने में किसी तरह की परेशानी न आए इसी वजह से यहा ओवरफ्लो व इतना बड़ा सीमेंटेड नाला निर्माण करवाया गया है। भू माफिया भी नगरपालिका से सांठगांठ कर अपनी कॉलोनी विकसित करने के लिए पालिका से कई बड़े कार्य स्वीकृत करवा देते है ऐसे में जरूरतमंद इलाके विकास से वंचित रह जाते है और पालिका बजट न होने का हवाला दे देती है।

वर्षों से नहीं हुए कोई कार्य

पालिका ने तलबी मार्ग पर कम आबादी होने के बावजूद ओवरफ्लो व सीमेंटेड नाला निर्माण करवाया दिया। जबकि अति प्राचीन जाकोब तालाब का ओवरफ्लो वर्षों से यथा स्थिति में पड़ा है। आसपास भारी संख्या में आबादी निवास करती है। यहां बरसात के समय भीनमाल-पूनासा मार्ग ओवरफ्लो के पानी से कहीं बार बंद रहता है। भीनमाल-पूनासा मार्ग पर चलने आवागमन करने वाले वाहन चालकों को बारिश के समय पानी में से होकर गुजरना पड़ता है। मगर पालिका ने यहां कभी कोई कार्य करवाया ही नहीं है। इधर जाकोब तालाब में जाने वाला नाला भी वर्षो से गंदगी से अटा पड़ा है जबकि यह घनी आबादी के बीचोंबीच स्थित है। इस नाले में हमेशा चलने वाला गंदा पानी पक्की नाली के अभाव में पूरे नाले में फैल जाता है और जाकोब तालाब में प्रवेश कर जाता है मगर फिर भी पालिका ने यहां नाली का निर्माण नहीं करवाया है। इस तरह शहर के कई वार्ड ऐसे है जहां नाले-नालियों के निर्माण की सख्त जरूरत है मगर वहां कार्य हो ही नहीं पाया है।

शीघ्र ही कार्य करवाएंगे


X
भीनमाल में बंगले बिकने में तकलीफ नहीं आए इसलिए पालिका ने बना दिया ओवरफ्लो
Click to listen..